गया में मछली मारने के दौरान दो लोगों की आहर में डूबने से मौत, गोताखोरों ने निकाला शव

गया में मछली मारने के दौरान दो लोगों की आहर में डूबने से मौत, गोताखोरों ने निकाला शव

गया जिले के इमामगंज प्रखण्ड में मछली मारने के दौरान आहर डूबने से अलग-अलग गांवों में दो लोगों की मौत हो गयी। इस सम्बंध में थानाध्यक्ष नईयर एजाज अहमद ने बताया कि बिश्रामपुर गांव के गोल्डेन कुमार उम्र 20 वर्ष पिता विमल सिंह रविवार को सुबह गांव के बगल में रामसागर आहर में मछली मारने गया था। उसी दौरान आहर में डूबने से उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। वहीं दूसरी घटना परसिया गांव की है। जहां गांव के ही नागेश्वर मांझी उम्र 55 वर्ष वह शौच करने के बाद मछली मारने के लिए भुईयां आहर में उतरा जिसमें अधिक पानी होने के कारण डूबकर मौत हो गयी।

थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों शवों को स्थानीय गोताखोरों व नागरिकों के सहयोग से आहर से बाहर निकाला गया और दोनों शवों को पोस्मार्टम के लिए मगध मेडिकल कालेज गया भेज दिया गया। इधर मल्हारी पंचायत के बिश्रामपुर गांव निवासी पूर्व मुखिया राजीव रंजन सिंह, उर्फ बिटू सिंह व मुखिया प्रतिभा सिंह ने बताया कि गोल्डेन कुमार काफी गरीब परिवार से आता था। वह आटो चलाकर पूरे परिवार का भरण पोषण कुछ सालों से कर रहा था।


कमाऊ सदस्य की मौत हो जाने के बाद पूरा परिवार टूट गया। ग्रामीण बतातें हैं कि गोल्डेन कुमार जब से आटो चलाकर कमाने लगा था। उसी समय से उसके माता पिता को उसकी शादी करने की तैयारी चल रही थी। लेकिन उसकी असमय मौत हो जाने से उसके वृद्ध माता पिता का सपना अधूरा रह गया और उनका जीवन नरकमय बन गया है। दोनों को रोरोकर बुरा हाल है। वहीं नागेश्वर मांझी भी घर का कमाऊ सदस्य था। उसके भी मौत होने से घर में कोहराम मच गया और पत्नी व बच्चों को रो-रोकर बुरा हाल है।


जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

बिहार के जहानाबाद में सोमवार को एक हादसे में दो भाइयों की मौत हो गई। जहानाबाद के मखदुमपुर प्रखंड के सोलहडा पंचायत स्थित नहर में डूबने की वजह से दिल्ली से आए दो चचेरे भाई की मौत हो गई। मौत की खबर आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। जानकारी के मुताबिक दोनों चचेरे भाई दादा के श्राद्ध काम में भाग लेने के लिए दिल्ली से गांव आए हुए थे। 


पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक मरने वालों में राजेश राम का पुत्र सुनील कुमार 14 वर्ष एवं विमलेश प्रसाद का पुत्र दीपक कुमार 15 वर्ष बताया जाता है। दोनों रविवार की देर शाम नहर की ओर घुमने गए थे। पैर फिसल जाने के कारण दोनों गहरे में पानी चले गए और जिसकी वजह डूबने से दोनों की मौत हो गई। देर रात तक घर नहीं लौटने के बाद स्वजनों ने गांव में काफी खोजबीन की। लेकिन दोनों चचेरे भाइयों को कुछ पता नहीं चल सका। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने नहर में दोनों भाइयों के शव को पानी में उपलता देखा। जैसे-तैसे गांव के लोगों ने दोनों भाइयों के शवों को नहर से बाहर निकाला।  शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया।परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना पुलिस की दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम को लेकर सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया।

 
घटना के संबंध में बताया जाता हे कि, दोनों के पिता दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। पिता अपने बेटे के साथ पिता के श्राद्धकर्म में शामिल होने दिल्ली से गांव आए थे। सभी लोग श्राद्धकर्म में आए परिजनों के साथ व्यस्त थे। इस घटना से ग्रामीण हतप्रद है। ग्रामीणों ने बताया दोनों किशोर हंसमुख थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया। इस घटना के बाद स्वजनों का रो रोकर बुरा हाला है।