हल्‍द्वानी में कंपनी में काम करने वाले ऑपरेटर की सर्पदंश से मौत

हल्‍द्वानी में कंपनी में काम करने वाले ऑपरेटर की सर्पदंश से मौत

हल्‍द्वानी में एक कंपनी में काम करने वाले ऑपरेटर की सर्पदंश से मौत हो गई। मृतक मूल रूप से पटना बिहार का रहने वाला है। जो हल्द्वानी में स्थित एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था। उसकी मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्‍टामर्टम रिपोर्ट आने के बाद फॉरेस्‍ट डिपार्टमेंट मुआवजा देने की कार्रवाई करेगा।

मूल रूप से पटना बिहार निवासी सुधीर शर्मा (38) पुत्र देवपूजन शर्मा हल्दूचौड़ में स्वजनों के साथ किराए के मकान पर रहते थे। शनिवार की रात 10:30 बजे सुधीर शर्मा घर के बाहर टहल रहे थे। इसी बीच सांप ने उनके पैर में डंस लिया। सांप के डंसने की सूचना सुधीर ने स्वजनों को दी। स्वजन उन्हें आनन-फानन में निजी अस्पताल लेकर आए। जहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। रविवार को मृतक का शव पीएम लिए मोर्चरी में रखा गया है। इधर, वन विभाग के अनुसार मृतक के स्वजनों को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा। मुआवजा राशि तीन लाख रुपये है। मृतक के दो बच्चे हैं। व्यक्ति की मौत के बाद उनके स्वजनों में कोहराम मचा हुआ।


जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

बिहार के जहानाबाद में सोमवार को एक हादसे में दो भाइयों की मौत हो गई। जहानाबाद के मखदुमपुर प्रखंड के सोलहडा पंचायत स्थित नहर में डूबने की वजह से दिल्ली से आए दो चचेरे भाई की मौत हो गई। मौत की खबर आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। जानकारी के मुताबिक दोनों चचेरे भाई दादा के श्राद्ध काम में भाग लेने के लिए दिल्ली से गांव आए हुए थे। 


पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक मरने वालों में राजेश राम का पुत्र सुनील कुमार 14 वर्ष एवं विमलेश प्रसाद का पुत्र दीपक कुमार 15 वर्ष बताया जाता है। दोनों रविवार की देर शाम नहर की ओर घुमने गए थे। पैर फिसल जाने के कारण दोनों गहरे में पानी चले गए और जिसकी वजह डूबने से दोनों की मौत हो गई। देर रात तक घर नहीं लौटने के बाद स्वजनों ने गांव में काफी खोजबीन की। लेकिन दोनों चचेरे भाइयों को कुछ पता नहीं चल सका। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने नहर में दोनों भाइयों के शव को पानी में उपलता देखा। जैसे-तैसे गांव के लोगों ने दोनों भाइयों के शवों को नहर से बाहर निकाला।  शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया।परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना पुलिस की दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम को लेकर सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया।

 
घटना के संबंध में बताया जाता हे कि, दोनों के पिता दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। पिता अपने बेटे के साथ पिता के श्राद्धकर्म में शामिल होने दिल्ली से गांव आए थे। सभी लोग श्राद्धकर्म में आए परिजनों के साथ व्यस्त थे। इस घटना से ग्रामीण हतप्रद है। ग्रामीणों ने बताया दोनों किशोर हंसमुख थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया। इस घटना के बाद स्वजनों का रो रोकर बुरा हाला है।