पटना में जिम ट्रेनर पर फायरिंग मामले में तीन संदिग्ध हिरासत में, काल डिटेल से खुल सकता है राज!

पटना में जिम ट्रेनर पर फायरिंग मामले में तीन संदिग्ध हिरासत में, काल डिटेल से खुल सकता है राज!

बिहार की राजधानी पटना में जिम ट्रेनर विक्रम सिंह पर सरेआम ताबड़तोड़ फायरिंग मामले में पुलिस ने रविवार को तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पटना पुलिस की विशेष टीम इन तीनों संदिग्धों से लगातार पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही विक्रम सिंह पर फायरिंग के पीछे की पूरी कहानी क्या है, इस राज से पर्दा हटाने के लिए पुलिस की टीम फिजियोथेरेपिस्ट डा. राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह और हिरासत में लिए गए संदिग्धों की सीडीआर का मिलान भी कर रही है।

सीडीआर को खंगाल रही है पुलिस

जिम ट्रेनर विक्रम सिंह पर फायरिंग मामले में पुलिस लगातार अपनी जांच आगे बढ़ा रही है। इसी सिलसिल में पटना पुलिस ने तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। इसके साथ ही पुलिस सूत्रों की माने तो फिजियोथेरेपिस्ट डा. राजीव कुमार सिंह, उनकी पत्नी खुशबू सिंह और हिरासत में लिए गए संदिग्धों के सीडीआर की पुलिस मिलान कर रही है। 


क्या है पूरा मामला

राजधानी पटना में शनिवार को अपराधियों ने जिम ट्रेनर विक्रम सिंह को 5 गोली मारकर फरार हो गए। जिम ट्रेनर का परिवार लोहानीपुर के गौरेया स्थान में रहता है। बताया जाता है कि विक्रम पटना मार्केट स्थित जिम में ट्रेनर है और वो शनिवार को सुबह जिम के लिए निकला था। लेकिन वह जैसे ही लोहा सिंह इलाके में पहुंचा दो अपराधियों ने उस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु कर दी। इस दौरान जिम ट्रेनर को पांच गोलियां लगी और इस बीच दोनों अपराधी फरार हो गए। गोली लगने के बाद भी जिम ट्रेनर स्कूटी चला कर पीएमसीएच पहुंचा जहां उसे भर्ती कर उसकी गोलियां निकाली गईं।


जिम ट्रेनर ने लगाया आरोप

जिम ट्रेनर विक्रम सिंह ने अपने ऊपर हुई फायरिंग को लेकर डाक्टर राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह पर मर्डर करवाने का आरोप लगाया। विक्रम ने पुलिस को यह जानकारी दी थी कि डाक्टर ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी।जिसके बाद पुलिस ने डाक्टर और उनकी पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। 


जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

बिहार के जहानाबाद में सोमवार को एक हादसे में दो भाइयों की मौत हो गई। जहानाबाद के मखदुमपुर प्रखंड के सोलहडा पंचायत स्थित नहर में डूबने की वजह से दिल्ली से आए दो चचेरे भाई की मौत हो गई। मौत की खबर आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। जानकारी के मुताबिक दोनों चचेरे भाई दादा के श्राद्ध काम में भाग लेने के लिए दिल्ली से गांव आए हुए थे। 


पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक मरने वालों में राजेश राम का पुत्र सुनील कुमार 14 वर्ष एवं विमलेश प्रसाद का पुत्र दीपक कुमार 15 वर्ष बताया जाता है। दोनों रविवार की देर शाम नहर की ओर घुमने गए थे। पैर फिसल जाने के कारण दोनों गहरे में पानी चले गए और जिसकी वजह डूबने से दोनों की मौत हो गई। देर रात तक घर नहीं लौटने के बाद स्वजनों ने गांव में काफी खोजबीन की। लेकिन दोनों चचेरे भाइयों को कुछ पता नहीं चल सका। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने नहर में दोनों भाइयों के शव को पानी में उपलता देखा। जैसे-तैसे गांव के लोगों ने दोनों भाइयों के शवों को नहर से बाहर निकाला।  शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया।परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना पुलिस की दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम को लेकर सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया।

 
घटना के संबंध में बताया जाता हे कि, दोनों के पिता दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। पिता अपने बेटे के साथ पिता के श्राद्धकर्म में शामिल होने दिल्ली से गांव आए थे। सभी लोग श्राद्धकर्म में आए परिजनों के साथ व्यस्त थे। इस घटना से ग्रामीण हतप्रद है। ग्रामीणों ने बताया दोनों किशोर हंसमुख थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया। इस घटना के बाद स्वजनों का रो रोकर बुरा हाला है।