अब RTGS के माध्यम से 24×7 करें Money Transfer

अब RTGS के माध्यम से 24×7 करें Money Transfer

नई दिल्ली: इस वर्ष बहुत कुछ बदल रहा है बैंकिंग सेक्टर (Banking Sector) भी इससे अछूता नहीं है हालांकि ये परिवर्तन सकारात्मक है, जिसमें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) को 24x7x365 उपलब्ध करने का निर्णय किया है अब RTGS के माध्यम से चौबीसों घंटे मनी ट्रांसफर कर सकेंगे

अभी क्या है सिस्टम?
वर्तमान में RTGS सिस्टम महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर सप्ताह के सभी कामकाजी दिनों में प्रातः काल 7 बजे से शाम 6 बजे तक उपलब्ध होता है लेकिन अब 24×7 इस सुविधा का फायदा उठाया जा सकेगा पिछले वर्ष से ही NEFT सेवा 24 घंटे मिलनी प्रारम्भ हो गई थी पिछले वर्ष दिसंबर में नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) सिस्टम को 24x7 मोड में लागू किया गया था

आरबीआई ने क्या कहा?
भारतीय वित्तीय बाजारों के वैश्विक एकीकरण के लक्ष्य को समर्थन देने के लिए चल रहे कामों को समर्थन देने, हिंदुस्तान के अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्रों को विकसित करने की कोशिशों और घरेलू कॉरपोरेट और संस्थानों के लिए बड़े स्तर पर भुगतान की फ्लैक्सिबिटी उपलब्ध कराने के लिए यह निर्णय किया गया है

बड़े कार्य की है RTGS सर्विस
RTGS यानी रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट के जरिए तुरंत फंड ट्रांसफर किया जा सकता है यह बड़े ट्रांजेक्शंस में कार्य आता है RTGS के जरिए 2 लाख रुपये से कम अमाउंट ट्रांसफर नहीं होने कि सम्भावना है इसे औनलाइन और बैंक ब्रांच दोनों माध्यमों से प्रयोग किया जा सकता है इसमें भी किसी तरह का फंड ट्रांसफर शुल्क नहीं हैं लेकिन ब्रांच में RTGS से फंड ट्रांसफर कराने पर शुल्क देना होगा


CSE के टेस्ट में पतंजलि-डाबर समेत 13 कंपनियों के शहद फेल, बालकृष्ण बोले- ये बदनाम करने की साजिश

CSE के टेस्ट में पतंजलि-डाबर समेत 13 कंपनियों के शहद फेल, बालकृष्ण बोले- ये बदनाम करने की साजिश

(PATANJALI NEWS): सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (CSE) ने देश में ब्रांडेड शहद की जांच की है। पतंजलि, डाबर, बैद्यनाथ और झंडू जैसे मशहूर ब्रांड्स के शहद टेस्ट में फेल हो गए हैं। CSE की जांच में इन कंपनियों के शहद में 77% मिलावट पाई गई है। पता चला है कि इसमें चीनी मिलाई गई है।

हालांकि, डाबर और पतंजलि ने इस जांच पर ही सवाल उठा दिए हैं। कंपनियों का कहना है कि इस जांच का मकसद हमारे ब्रांड्स की छवि खराब करना है और ये प्रायोजित लगती है। कंपनियों ने दावा किया कि हम भारत में ही प्राकृतिक तौर पर मिलने वाला शहद इकट्ठा करते हैं और उसी को बेचते हैं। इसे बिना चीनी या और कोई चीज मिलाए पैक किया जाता है।

कंपनियों ने कहा कि शहद की जांच के लिए फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी (FSSAI) के नियमों और मानकों का पूरा ध्यान रखा जाता है। डाबर के प्रवक्ता ने कहा कि हमारा शहद 100 फीसदी शुद्ध और देसी है। हाल में जो रिपोर्ट सामने आई हैं, वो प्रायोजित लगती हैं।

लाखों किसानों को दरकिनार करने की साजिश- बालकृष्ण

पतंजलि आयुर्वेद के मैनेजिंग डायरेक्टर आचार्य बालकृष्ण ने कहा- यह भारत के प्राकृतिक शहद बनाने वाली इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश लगती है ताकि प्रोसेस्ड शहद को प्रमोट किया जा सके। यह विलेज कमीशन और खादी के जरिए लाखों ग्रामीण किसानों द्वारा बनाए जा रहे शहद की जगह प्रोसेस्ड, आर्टिफिशियल, वैल्यू एडेड शहद को लाने की साजिश है। हम 100 फीसदी प्राकृतिक शहद बनाते हैं। यह FSSAI के 100 से ज्यादा मानकों पर भी खरा उतरा है।

CSE की जांच में मिलावट का चाइनीज कनेक्शन
जांच में पता चला कि अलीबाबा जैसे चाइनीज पोर्टल पर ऐसे सिरप की बिक्री हो रही है, जो टेस्ट को सरपास कर सकते हैं। चीनी कंपनियां फ्रक्टोज के नाम पर ये सिरप भारत को एक्सपोर्ट करती हैं। शहद में इसी सिरप की मिलावट के प्रमाण मिले हैं। CSE ने कहा है कि 2003 और 2006 में सॉफ्ट ड्रिंक में जांच के दौरान जो मिलावट पाई गई थी, उससे भी खतरनाक मिलावट शहद में हो रही है। यह मिलावट हमारे स्वास्थ्य को और नुकसान पहुंचाने वाली है।

CSE ने कहा- हमारी रिसर्च में पता चला कि बाजार में बिक रहा शहद मिलावट वाला है। शहद के मुकाबले लोग चीनी ज्यादा खा रहे हैं। इससे कोविड का जोखिम बढ़ गया है, क्योंकि चीनी सीधे मोटापे से जुड़ा मामला है। पिछले साल FSSAI ने आयातकों और राज्यों के खाद्य कमिश्नर को चेतावनी दी थी कि गोल्डन सिरप, इनवर्ट शुगर सिरप और राइस सिरप को इम्पोर्ट कर शहद में मिलाया जा रहा है।


किसानों के बाद अब ट्रांसपोर्टर्स यूनियन ने किया इस देशव्यापी हड़ताल पर जाने का आह्वान, जाने कारण       Horoscope 2021: जानिए कैसा रहने वाला नए साल में आपका भविष्य व क्या आएंगी खुशियां ?       ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस पार्टी ने किसानों का समर्थन करते हुए सरकार को दी यह बड़ी धमकी!       आंदोलन कर रहे किसानों ने नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए केन्द्र सरकार को दी यह बड़ी सलाह       झारखंड में अब Covid19 की RT पीसीआर जाँच के लिए करना होगा केवल इतने रूपए खर्च, जाने       आंदोलन कर रहे किसानों ने केन्द्र सरकार को राजधानी की सड़को पर दी यह बड़ी धमकी       एजुकेशन मंत्रालय ने मातृ भाषा में तकनीकी एजुकेशन सहित इन पाठ्यक्रमों को देने के लिए बनाया यह रोडमैप, जाने       भाजपा द्वारा एक करोड़ से अधिक परिवारों तक पहुंचकर ममता बनर्जी की नाकामियों पर चर्चा : दिलीप घोष       सीबीएसई के ऑफिसरों ने 2021 में बोर्ड के औनलाइन संचालन से किया इंकार, जाने अब कैसे होंगी परीक्षाएं        Covid-19 : इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप कर रहे शहद का सेवन तो हो जाए सावधान, जाने       पंजाब के सीएम ने कहा, ‘डरकर केंद्रीय कानूनों की अधिसूचना जारी करने के बजाय केजरीवाल.....       महिला कांस्टेबल पर एसिड अटैक मामले में दोषियों को 14 वर्ष कैद की सजा       ईडी के डर से कैप्टन ने कृषि बिल का नहीं किया विरोध, किसानों को जेल में बंद करने का था केंद्र का प्लान: अरविंद केजरीवाल       किसानों के समर्थन में ट्रांसपोर्टरों ने आठ दिसंबर से उत्तर भारत में परिचालन बंद करने की धमकी दी       भारत में बिकने वाले बड़े ब्रांड के शहद में चीनी शरबत की मिलावट: सीएसई अध्ययन का दावा       असल जिंदगी में उबाऊ हूं मैं, विदेश नीति पढ़ने में बिताती हूं समय - एंजेलिना जोली       किम कार्दशियां ने अपने इंस्टाग्राम और फेसबुक अकाउंट फ्रीज किए       मुझे बचपन में गलत तरीके से छुआ गया था : एजाज खान       बहन श्वेता ने सुशांत का वीडियो शेयर कर न्याय मांग की       कंगना ने कृषि कानून को लेकर किया पीएम मोदी का समर्थन तो जस्सी को आया गुस्सा, बोले...