फोनपे ने कोरोना वायरस के चलते बढ़ाया अपना हाथ

फोनपे ने कोरोना वायरस के चलते बढ़ाया अपना हाथ

कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ाई में अब डिजिटल पेमेंट ऐप (digital payment app phonepe) फोनपे ने भी हाथ बढ़ाया है।  फ्लिपकार्ट (Flipkart) की पेमेंट कंपनी फोनपे ने कोरोना वायरस के विरूद्ध जारी अभियान में पीएम राष्ट्रीय राहत कोष के लिए 100 करोड़ रुपये जुटाने का अभियान प्रारम्भ किया है।

 कंपनी ने एक बयान में बोला कि यूपीआई का प्रयोग कर उसके ऐप से 30 अप्रैल 2020 तक पीएम केयर्स (PM-CARES Fund) में जितने उपभोक्ता दान करेंगे, वह हर उपभोक्ता के बदले 10-10 रुपये का अपनी ओर से सहयोग देगी।



कंपनी ने बोला कि कुल मिलाकर वह अधिकतम 100 करोड़ रुपये का सहयोग देगी। इससे पहले प्रतिस्पर्धी कंपनी पेटीएम ने शनिवार को इसी तरह की घोषणा करते हुए पीएम राहत कोष में 500 करोड़ रुपये के सहयोग की बात की थी।

पेटिएम ने भी बताया सहयोग देने का लक्ष्य



पेटीएम ने एक बयान में बोला कि पेटीएम का वालेट, यूपीआई व पेटीएम बैंक डेबिट कार्ड प्रयोग करके पेटीएम के ज़रिए दिए गए हर सहयोग या अन्य किसी भी भुगतान के लिए कंपनी अलावा 10 रुपये का सहयोग देगी।



पेटीएम अध्यक्ष मधुर देवड़ा ने बोला कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए उठाए गए सभी राहत कदमों में सरकार की मदद करके अपना कर्तव्य पूरा करना हमारे लिए सम्मान की बात है। हम उम्मीद करते हैं कि लोग खुलकर पीएम केयर्स के लिए दान देंगे व जिंदगियां बचाएंगे। देश में अबतक कोरोना वायरस से 29 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि 98 लोग अबतक अच्छा या डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। जानकारी के लिए बता दें कि देश में मरीजों की संख्या 1000 के पार हो चुकी है।