खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से हो सकती है गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम

खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से हो सकती है गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम

नया नुस्खा बेशक नहीं है लेकिन कारगर है इसकी गारंटी है। खाना खाने के तुरंत बाद पानी न पीने की सलाह आपने कई दफा सुनी होगी लेकिन इसे फॉलो करना हर किसी के लिए आसान नहीं होता। हम में से ज्यादातर लोग खाने के बीच में थोड़ा-थोड़ा पानी पीते हैं या फिर खाना खत्म होते ही तुरंत फ्रिज का या नॉर्मल पानी गट-गट करके पी लेते हैं। इसमें कोई शक नहीं कि पानी पीने के बाद आपको अच्छा एहसास होता है लेकिन ये आदत आपके पाचन सिस्टम के लिए बिल्कुल भी सही नहीं। अक्सर गैस, एसिडिटी होने की वजह एक वजह आपकी ये आदत हो सकती है। तो भोजन करने के कम से कम 30 मिनट बाद या एक घंटे बाद पानी पीना चाहिए।

खाने के तुरंत बाद क्यों नहीं पीना चाहिए पानी

खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीना पाचन क्रिया को कमजोर बना देता है। पानी शीतल प्रवृत्ति का होता है, इसलिए खाने के तुरंत बाद पानी पीने से इंसुलिन का लेवल बढ़ सकता है। पानी भोजन को ग्लूकोज में बदल देता है जो मोटापे की वजह बन सकता है। भोजन के तुरंत बाद पानी की अत्यधिक मात्रा एंजाइम और एसिड की भोजन से होने वाली क्रिया में रूकावट डाल सकती है। इसलिए भोजन के तुरंत बाद ज्यादा पानी पीने की सलाह नहीं दी जाती है। बॉडी को भोजन द्वारा सही मात्रा में न्यूट्रिशन एब्जॉर्ब करने आधे से एक घंटे की जरूरत होती है।

खाना खाने के बाद पानी पीने से अमाशय की ऊर्जा खत्म हो जाती है, जिसके कारण पाचन-क्रिया सही ढ़ंग से नहीं हो पाती। इस कारण पेट में गैस, एसिडिटी जैसी तमाम बीमारियां घर कर जाती हैं। डॉक्टरों की मानें तो खाना खाने के बाद खाने के पोषक तत्वों के अवशोषण के लिए थोड़ा वक्त समय देना चाहिए। अगर तुरंत पानी पी लिया जाए तो शरीर को भरपूर पोषक तत्व नहीं मिलता।


महामारी से बचाव में कारगर 'मास्क' वन्यजीव के लिए साबित हो रहा नुकसानदेह

महामारी से बचाव में कारगर 'मास्क' वन्यजीव के लिए साबित हो रहा नुकसानदेह

वाशिंगटन। कोरोना वायरस महामारी (coronavirus pandemic) के दौरान कारगर मास्क ( Masks) वन्यजीवों, पक्षी और पानी में रहने वाले जीव-जंतुओं के लिए नुकसानदेह और घातक साबित हो रहा है।  जब से कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए  सार्वजनिक जगहों पर मास्क को अनिवार्य किया गया है तब से एकबार इस्तेमाल किए जाने वाले सर्जिकल मास्क दुनिया भर के सड़कों, पानी और समुद्री तटों पर बिखरे पड़े हैं। एक बार पहना जानेवाला पतला सा प्रोटेक्टिव मटीरियल नष्ट होने में सैंकड़ों साल लगा देता है। पशु अधिकारों के समूह पेटा (PETA) के एश्ले फ्रुनो (Ashley Fruno) ने कहा, 'फेस मास्क का इस्तेमाल जल्दी नहीं खत्म होने वाला है लेकिन इस्तेमाल के बाद जब हम इसे  फेंक देते हें तब यह पर्यावरण और जानवरों को नुकसान पहुंचा सकता है।' 

 मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर के बाहरी इलाके में लंगूरों को मास्क के स्ट्रेप चबाते हुए देखा गया। वहीं ब्रिटेन के चेम्सफोर्ड सिटी में भी समुद्री पक्षी का पैर इस मास्क के फंदे में एक सप्ताह तक फंसा रह गया था। एनिमल वेलफेयर चैरिटी ने इस घटना का जिक्र कर सतर्क किया। चैरिटी की नजर जब इस पक्षी पर गई तब इसके पैर बंधे होने के कारण यह बेहोशी की अवस्था में था इसे तुरंत वन्यजीव अस्पताल (wildlife hospital) ले जाया गया।  

पर्यावरण के लिए काम करने वाले ग्रुप ओशंस एशिया (OceansAsia) के अनुसार,  पिछले साल 1.5 बिलियनसे अधिक मास्क समुद्रों में प्रवाहित किए गए। 


उपराष्ट्रपति पेंस ने निर्वाचित राष्ट्रपति को किया आगाह, कहा...       अमेरिकी संसद हमले में कहीं चीन, रूस और ईरान का तो नहीं है हाथ, FBI कर रही छानबीन       कोरोना वैक्‍सीन को लेकर चीन की ओर मुंह ताक रहा पाकिस्‍तान, भारत ने मारी बाजी       पाकिस्तान में सरकारी एजेंसियां कर रहीं मानवाधिकारों का उल्लंघन, सीनेट उपाध्यक्ष करेंगे अंतरराष्ट्रीय संगठनों से संपर्क       पाकिस्‍तान के जब्त विमान के मामले में ब्रिटेन और मलेशिया कोर्ट में पेश होगा पीआइए       इमरान पर कार्रवाई नहीं करने से चुनाव आयोग पर भड़के शरीफ, लगाया बड़ा आरोप       पांच महीने जर्मनी में इलाज कराकर रूस लौटते ही पुतिन के कटु आलोचक नवलनी हुए गिरफ्तार, जानें       ईरान बना रहा है विध्‍वंसक परमाणु हथियार, फ्रांस के विदेश मंत्री ने किया सनसनीखेज खुलासा       शपथ ग्रहण को लेकर वाशिंगटन बुलाए गए हजारों सैनिक, जानें       चीन की कुटिल वैक्‍सीन डिप्‍लोमेसी के खिलाफ भारत ने खींची लंबी रेखा       एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील       महाराष्ट्र, हरियाणा में मुर्गियों को मारने का सिलसिला जारी       सूरत से कोलकाता जा रहा इंडिगो विमान का भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग       कानून रद करने के अलावा विकल्प बताएं किसान संगठन, 10वें दौर की वार्ता 19 को : कृषि मंत्री       केंद्र सरकार ने बदली रणनीति, अब हर राज्य के लिए कोविड टीकाकरण के दिन तय, जानें       कोविड वैक्‍सीन के हल्‍के दुष्‍प्रभावों को लेकर डरने की जरूरत नहीं, जानें       वृष राशि के जातक को नौकरी में मिलेंगे नए अवसर, जानें आज का राशिफल       20 हजार से भी कम कीमत में मिल रही ये स्मार्ट TV, जानें फीचर्स       सर्दियों में खूब खाएं अमरूद, बढ़ेगी रोग-प्रतिरोधक क्षमता       शेन वॉर्न ने ऋषभ पंत का उड़ाया मजाक