कपालभाति करने से शरीर को मिलता है ये लाभ

कपालभाति करने से शरीर को मिलता है ये लाभ

खराब दिनचर्या यानी समय पर न उठना और सोना, अधिक तनाव लेना, केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स का ज्यादा इस्तेमाल जैसी आदि कारण हैं.

इसके अतिरिक्त बालों की आवश्यकता के अनुसार विटामिन्स, प्रोटीन और मिनरल्स Vitamins, Proteins and Minerals की पूर्ति न होना या हार्मोन्स में गड़बड़ी, खून की कमी व पीसीओडी भी प्रमुख वजह हैं.
हेयरफॉल संबंधी सवाल-जवाब
तेज धूप के सम्पर्क में ज्यादा रहना : लंबे समय तक तेज धूप के सपंर्क में रहने से पराबैंगनी किरणें बालों को डैमेज करती हैं. धूप या ज्यादा तापमान के एक्सपोजर से बाल दो मुंहे व बेजान हो जाते हैं.
पुरुषों में ही गंजेपन की शिकायत होती है:
नहीं, स्त्रियों में भी हार्मोन में परिवर्तन या थायरॉयड की समस्या से गंजेपन की शिकायत होती है.
रोज शैंपू के प्रयोग से बाल झड़ते हैं:
दरअसल गंदगी-डैंड्रफ से बाल की जड़ें निर्बल हो जाती हैं. नियमित शैंपू करने से बाल साफ रहते हैं. ज्यादा बाल टूटने पर माइल्ड शैंपू का इस्तेमाल करें.
हेयरफॉल से ऐसे बचें
व्यायाम : प्रतिदिन एक घंटा व्यायाम करें. इससे तनाव कम होने के साथ ही सिर में रक्तसंचार बढ़ता है. कपालभाति, अधोमुखश्वासन, भस्त्रिका प्राणायाम, वज्रासन, उत्तानपादासन भी कर सकते हैं.
आहार : प्रोटीन से युक्त चीजें जैसे दाल ज्यादा खाएं.
केमिकल्स : बालों के लिए केमिकल युक्त चीजें इस्तेमाल में न लें. इनसे बाल निर्बल होते हैं. हीट बालों को नुकसान पहुंचाती है. ऐसे में रोलर्स, हेयर डायर्स का इस्तेमाल न करें. केमिकल वाले कलर न लगाएं.