Covid-19 : इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप कर रहे शहद का सेवन तो हो जाए सावधान, जाने

Covid-19 : इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप कर रहे शहद का सेवन तो हो जाए सावधान, जाने

कोविड-19 काल ( Covid-19 ) में स्वास्थ्य वर्धक रहने और इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप भी शहद (Honey) का सेवन करते हैं तो सावधान हो जाइए उसमें चीनी की मिश्रण है सेंटर फॉर साइंस () की रिपोर्ट के मुताबिक, सभी बड़े ब्रांड्स के सैंपल टेस्ट में फेल हो गए हैं

CSE के अनुसार, ये कंपनियां चाइना में बनी शुगर सिरप का इस्तेमाल कर रही हैं ताकि टेस्टिंग में सरलता से पकड़ में न आएं चाइना इन शुगर सिरप को खास तरह के 'डिजाइन' के अनुसार तैयार करता है ताकि भारतीय प्रयोगशालाओं के परीक्षणों को चकमा दिया जा सके शहद को एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल गुणों के लिए जाना जाता है जो हमारी इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाता है उसी शहद के धोखे में हम चीनी खा रहे हैं, जो हमारा वजन बढ़ाती है डॉक्टरों के अनुसार, Covid-19 से अधिक वजन वाले लोगों को अधिक खतरा है  

FSSAI नहीं ले रहा कोई एक्शन
CSE के मुताबिक, खाद्य नियामक भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) इस मुद्दे में आंख मूंदे बैठा है हालांकि यह बोलना मुश्किल है कि उसे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है या उसकी मिलीभगत है एनजीओ के अनुसार चाइना की कंपनियां और शुगर सिरप के बारे में कुछ अस्पष्ट सी बातें सामने आ रही थीं लेकिन इस रहस्यमयी सिरप और कंपनियों के बारे में कोई ठोस सबूत नहीं थे

RTI में जानकारी होने से किया इनकार
मई माह में एफएसएसएआई ने शुगर सिरप के आयातकों के लिए एक आदेश जारी किया, जिसमें बोला गया कि शहद में मिश्रण के सबूत मिले हैं यह भी बोला गया कि खाद्य आयुक्त इसकी जाँच करें इस बारे में FSSAI में लगाई गई RTI दूसरे मंडलों में भेजी गई, जिनका उत्तर आया कि 'सूचना मौजूद नहीं है ' FSSAI के आदेश में जिस शुगर सिरप का जिक्र था, केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के आयात-निर्यात डाटाबेस में उसका नाम तक नहीं मिला

फरवरी में नियम बदलने के कारण हुआ खुलासा
फरवरी में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने निर्यात किए जा रहे शहद के लिए एक अलावा लैब जाँच जरूरी कर दिया, जिसे न्यूक्लियर मैग्नेटिक रेजोनेंस स्पेक्ट्रोस्कोपी (एनएमआर) बोला जाता है यह परीक्षण तब किया जाता है, जब सरकार को संदेह हो कि शहद में ऐसा शुगर सिरप मिलाया जा रहा है, जिसको पकड़ पाना सरल नहीं होता

कैसे हुई शहद में मिश्रण के कारोबार की शुरुआत
शहद में मिश्रण की आरंभ गन्ने और मक्के जैसे पौधों से बनी चीनी से हुई थी, जिसके पौधे सी4 प्रकाश संश्‍लेषण रूट का इस्तेमाल करते हैं लेकिन विज्ञान के विकास के साथ-साथ उद्योग को नयी शुगर मिलती गई इसने चावल और चुकंदर जैसे सी3 पौधों से प्राप्त होने वाली शुगर का इस्तेमाल प्रारम्भ कर दिया लेकिन विश्लेषणात्मक पद्धतियों से शहद में इस शुगर की मिश्रण का भी पता चल गया

चीनी कंपनियां दावा कर बेच रहीं ये सिरप
चाइना के औनलाइन पोर्टल पर कंपनियां यह दावा करती हैं कि उन्होंने ऐसे सिरप बनाए हैं, जो सी3 और सी4 शुगर टेस्‍ट में सरलता से पास हो जाएंगे यही कंपनियां हिंदुस्तान में फ्रक्टोज सिरप की निर्यातक थीं कई औद्योगिक इस्तेमाल के लिए यह सिरप आयात किया जाता है इसलिए, दिखने में यह एक वैध व्यवसाय था मार्केट में इसे 'ऑल पास सिरप' बोला जाता है

CSE ने किया ये दावा
सीएसई का दावा है कि अपनी जाँच में उन्होंने 13 प्रमुख ब्रांड के नमूनों को उन्नत NMR तकनीक पर परखा और उनमें से ज्यादातर फेल हो गए 77 प्रतिशत नमूनों में शुगर सिरप की मिश्रण पाई गई है अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य न्यूक्लियर मैग्नेटिक रेजोनेंस स्पेक्ट्रोस्कोपी (NMR) परीक्षण में 13 ब्रांड में केवल 3 ब्रांड ही पास हुए


सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय

सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय

सर्दी में लोगों को एलर्जी बेहद परेशान करती है। किसी को प्रदूषण से एलर्जी है तो किसी को खाने-पीने की चीजों, पेट डॉग या फिर खास महक से एलर्जी होती है। सर्द मौसम में तापमान में गिरावट के कारण हवा से एलर्जी के तत्व जल्दी नहीं हटते जिससे, सर्दी, खांसी, नाक बहना, स्किन एलर्जी, अस्थमा और भी कई तरह की एलर्जी हो सकती है। सर्दी में हम ठंड से बचने के लिए बंद जगह पर ज्यादा वक्त गुजारना पसंद करते है, जो एलर्जी का सबसे बड़ा कारण बनता है। लंबे समय तक बंद घर में रहने से हवा में मौजूद धूल के कण, फफूंद, पालतू जानवरों की रूसी और कॉकरोच ड्रॉपिंग एलर्जी का कारण बनते हैं। संवेदनशील स्किन वाले लोगों को स्किन एलर्जी होने का खतरा ज्यादा रहता है। सर्दी में रक्त नलिकाएं सिकुड़ जाती हैं जिससे हाथ व पैर में ब्लड सर्कुलेशन बाधित होता है। खून की कमी से ही हाथ या पैर की उंगलियों में सूजन होने लगती है। इस मौसम में फंगल इन्फेक्शन होने से खाज या खुजली होने की आशंका रहती है।


एलर्जी क्या है?

एलर्जी किसी खाने की चीज, पालतू जानवर, मौसम में बदलाव, कोई फूल-फल-सब्जी के सेवन, खुशबू, धूल, धुआं, दवा यानी किसी भी चीज से हो सकती है। इस स्थिति में हमारा इम्यून सिस्टम कुछ खास चीजों को स्वीकार नहीं कर पाता और नतीजा ऐसे रिऐक्शन के रूप में दिखता है।

एलर्जी के लक्षण:

सर्दी में गले की सर्दी, नाक बहना, सर्दी जुकाम होना एलर्जी के लक्षण है। एलर्जी की वजह से शरीर में लाल-लाल चकत्ते, नाक और आंखों से पानी बहना, जी मितलाना, उलटी होना या फिर सांस तेज-तेज चलने से लेकर बुखार तक हो सकता है।


सर्दी में खाने की चीजों से एलर्जी:

कुछ लोगों को खाने की चीजों जैसे कि मूंगफली, दूध, अंडा आदि खाने से एलर्जी हो सकती है। जिस चीज से एलर्जी है, उसे खाने के बाद जी मिचलाना, शरीर में खुजली होना या पूरे शरीर पर दाने और चकत्ते निकलने जैसी समस्या हो सकती है। एक्सपर्ट की माने तो गांवों में रहनेवालों के मुकाबले शहरों में रहने वाले लोगों में एलर्जी की समस्या ज्यादा होती है। उनके शरीर का इम्यून सिस्टम ज्यादा डिवेलप नहीं हो पाता।


कैसे बचाव करें:

अगर आपको धूल मिट्टी या फिर धुएं से एलर्जी है तो घर से बाहर निकलते समय नाक पर रुमाल या फिर मास्क का इस्तेमाल करें। घर में साफ-सफाई के लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें।
सर्दी में अपनी डाइट का विशेष ध्यान रखें। मौसमी फल, हरी सब्जी, गाजर आदि का सेवन करें, और पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं।
स्किन को एलर्जी से बचाने के लिए रात में सोने से पहले बॉडी पर मॉइश्चराइजर लगाएं, इससे त्वचा में नमी बरकरार रहेगी।
पर्दे, चादर, बेडशीट व कालीन को नमी से बचाने के लिए धूप में रखें, ताकि इस्तेमाल होने वाली इन चीजों से आपको एलर्जी नहीं हो सके।
पालतू जानवरों से दूर रहें, जानवरों को एलर्जी है, तो घर में नहीं रखें।
सर्दी में धूप में बैठे, घर को हमेशा बंद न रखें, घर को हवादार बनाएं, ताकि साफ हवा आती रहे।
घर की साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें। खिड़कियों में महीन जाली लगवाएं और जाली वाली खिड़कियों को हमेशा बंद रखें क्योंकि खुली खिड़की से कीड़े और मच्छर आपके घर में घुस सकते हैं। 


तेज दिमाग पाने के लिए रोजाना इस तेल का करें इस्तेमाल       सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय       आंखो और त्वचा के लिए किसी दवा से कम नहीं है Witch Hazel, ऐसे करें इस्तेमाल       टेस्ट और हेल्थ दोनों के लिए स्नैक्स में बनाएं 'कैरट फ्रिटर्स'       राजस्थान की बेहद पॉपुलर ट्रेडिशनल डिश 'जैसलमेरी चना' है स्वाद का खजाना       खट्टा-मीठा स्वाद लिए हुए 'अंगूर का अचार' है बहुत ही टेस्टी और आसान       भुर्जी, स्क्रैम्बल एग से अलग आज सीखें 'मग ऑमलेट' बनाने की क्विक एंड ईजी रेसिपी       प्रोटीन रिच डाइट का बेहतरीन ऑप्शन है 'कॉलीफ्लॉवर चीज़'       डॉगी ने अपने दिव्यांग मालिक को कराई ऐसी सैर, देख आप कह उठेंगे OMG...       आपके अकाउंट में नहीं आई है सातवीं किस्त, तो यहां करें शिकायत; जानें क्या है प्रोसेस       अपने फोन से 10 मिनट में अपडेट करें अपना आधार कार्ड, जानिए ये आसान प्रॉसेस       PNB ग्राहक ध्यान दें, 1 फरवरी से इन ATM से नहीं निकाल पाएंगे पैसा       CLSS के तहत सब्सिडी, समयसीमा बढ़ाए जाने की मांग; अलग से टैक्स छूट भी चाहते हैं इंडस्ट्री के एक्सपर्ट       हेलमेट इंडस्ट्री की GST में कमी की मांग, EV इंडस्ट्री को चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश की उम्मीद       रिजर्व बैंक ने कहा कि भारत की जीडीपी की वृद्धि दर सकारात्मक होने के बिल्कुल करीब       सोने के दाम में भारी तेजी, चांदी भी हुई काफी महंगी, जानें क्या हो गए हैं रेट       सोमवार से कर सकते हैं सब्सक्राइब, जानें कंपनी ने क्या तय की है एक शेयर की कीमत       उमंग कुमार 109 वर्षीय फौजा सिंह के जीवन पर बनाएंगे फिल्म, की घोषणा       andav Controversy के बीच सांसद ने जानें क्यों की 'मिर्जापुर' के निर्माताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग       ये एक्टर बचपन में दिखते थे इतने क्यूट, एक्टर के जन्मदिन पर वायरल हुई माँ के साथ ये खास तस्वीर