यूरिक एसिड बढ़ गया है तो खाने में शामिल करें ये चीजें

यूरिक एसिड बढ़ गया है तो खाने में शामिल करें ये चीजें

शरीर में यूरिक एसिड बढ़ना (High Uric Acid) आजकल बहुत सामान्य समस्या बनती जा रही है। इसकी एक बड़ी वजह लॉकडाउन के कारण शारीरिक गतिविधियों में आई कमी भी है। यदि आपको भी यूरिए एसिड बढ़ने की समस्या है तो यहां जानें कि किन घरेलू और आसान तरीकों से आप इस बढ़े हुए एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं...



-यूरिक एसिड को नियंत्रित (Control Uric Acid) करने पर यदि समय रहते ध्यान ना दिया जाए तो यह ऐसी बीमारियों की वजह बन सकता है, जो आपको ताउम्र परेशान करती रहेंगी। जैसे कि गठिया का रोग, किडनी खराब होना, शुगर होना और हृदय संबंधी बीमारियां होना आदि।

-जाहिर-सी बात है कोई भी व्यक्ति इन गंभीर रोगों का शिकार नहीं होना चाहिए। इसलिए इस समस्या से बचने के लिए समय रहते यूरिक एसिड के लक्षणों (Uric Acid Symptoms) को पहचानें और खान-पान के जरिए इसके बढ़े हुए स्तर को नियंत्रित करें।

यूरिक एसिड बढ़ने पर हो सकता है जोड़ों में दर्द

फाइबर युक्त फूड्स अधिक खाएं
-आपको बता दें कि शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के कई दूसरे कारणों में खान-पान से जुड़ा मुख्य कारण है अधिक मात्रा में प्रोटीन युक्त डायट का सेवन करना।

-इसलिए यदि आपको यूरिक एसिड बढ़ने की समस्या है तो खाने में प्रोटीन युक्त चीजों की मात्रा कम करें और ऐसे भोजन प्रमुखता से खाएं, जिसमें फाइबर की मात्रा अधिक हो।

-अतिरिक्त फाइबर (Fiber Diet) लेने के लिए आप मौसमी फलों, हरी सब्जियों और ड्राफ्रूट्स का उपयोग करें। ड्राइफूट्स में भी खासतौर पर मखाना, छुआरा और अखरोठ। ये आपको बहुत अधिक लाभ पहुंचाएंगे।

रसोई के मसाले
-रसोई में रखे कुछ खास मसाले भी यूरिक एसिड (Uric Acid) को नियंत्रित करने में आपकी सहायता कर सकते हैं। इसमें प्रमुखता से अजवाइन का नाम आता है। आप अजवाइन का उपयोग अपने भोजन में कर सकते हैं, खाने के बाद अजवाइन की फंकी ले सकते हैं। या फिर अजवाइन का पानी पी सकते हैं।

किसी भी उम्र में बढ़ सकता है यूरिक एसिड

-अजवाइन का सेवन करते समय इस बात का पूरा ध्यान रखें कि प्राकृतिक तौर पर अजवाइन बहुत अधिक गर्म होती है। यदि आप इसका सेवन अधिक मात्रा में करेंगे तो आपको सेहत से जुड़ी दूसरी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए खासतौर पर गर्मी के मौसम में आधा टेबल स्पून से ज्यादा अजवाइन का उपयोग ना करें। लेकिन इसका उपयोग नियमित रूप से करें।

-इसके अतिरिक्त आंवला पाउडर और आंवले की चटनी भी आपको यूरिक एसिड कंट्रोल करने में सहायता करेगी। आप ऐसे किसी भी फल का उपयोग करेंगे, जिसमें विटमिन-सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है तो आपके शरीर में यूरिक एसिड का संतुलन बना रहेगा।

जूस और सिरका
-बढ़े हुए यूरिक एसिड को नियंत्रित करने गेहूं के ज्वार का ताजा जूस, नींबू पानी और सेब का सिरका काफी उपयोगी रहते हैं। क्योंकि इनमें विटमिन-सी, ऐंटिइंफ्लामेट्री गुण, ऐंटिऑक्सीडेंट्स जैसे तत्व पाए जाते हैं।

- ये शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने के साथ ही, यूरिन की मात्रा में कुछ वृद्धि कर देते हैं, जिससे शरीर में यूरिक एसिड अतिरिक्त रूप से इक्ट्ठा नहीं हो पाता है।