चेहरे के डार्क सर्कल को दूर करने के लिए करे ये...

चेहरे के डार्क सर्कल को दूर करने के लिए करे ये...

अच्‍छी हेल्‍थ होने पर कोई भी व्‍यक्ति सुन्दर व जवां दिखाई देता है. साथ ही उसके चेहरे पर एक अलग का ग्‍लो होता है. लेकिन बॉडी में किसी सभी तरह का परिवर्तन जैसे बालों का झड़ना, पीले नाखून,पैरों में सूजन, आंखों के इर्द-गिर्द डार्क सर्कल्‍स का होना हेल्‍थ संबंधी प्रॉब्‍लम्‍स की ओर संकेत करता है.

इससे पहले की यह समस्‍याएं गंभीर रूप ले लें. इनकी ओर ध्‍यान देना बेहद महत्वपूर्ण होता है. आइए आज हम आपको बताते हैं कि आपका लुक हेल्‍थ के कौन से राज खोलता है.

बॉडी विशेष रूप से चेहरे पर बाल:बॉडी पर बहुत ज्‍यादा बाल किसी भी महिला को अच्‍छे नहीं लगते है. विशेषरूप से चेहरे पर बाल तो किसी भी महिला की खूबसूरती को बिगाड़ देते है. लेकिन इससे भी ज्‍यादा यह पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) जैसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम का इशारा होने कि सम्भावना है.पीसीओएसमें लगभग 70 फीसदी स्त्रियों में आमतौर पर चेहरे, चेस्‍ट, पेट, पीठ, हाथ, या पैर पर एक्‍स्‍ट्रा बाल आने लगते है.

बालों का पतला होना:हमेशा अपने शैंपू या हेयर केयर प्रोडक्‍ट या फिर मौसम में परिवर्तन को बालों के झड़ने का कारण माना जाता है. लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि हार्मोंनल बदलाव, तनाव व किसी लंबी बीमारी के कारण आपके बाल पतले होने लगते हैं. इसके अतिरिक्त थॉयरायड की समस्‍या भी बालों के पतले होने का कारण हो सकती हैं. इसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं है, इसके लिए तुरंत अपने डॉक्‍टर से सम्पर्क करें.

ड्राई स्किन:मौसम में परिवर्तन होने पर लगभग हर किसी कोड्राई स्किनका अनुभव होता है. आमतौर पर यह सर्द हवा या गर्म शॉवर के कारण होता हैं, लेकिन कई मामलों में, ड्राई स्किन डिहाइड्रेशन व गंभीर हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स का इशारा होने कि सम्भावना है. इसके अतिरिक्त हाइपोथायरायडिज्म व डायबिटीज जैसी प्रॉब्‍लम्‍स के होने पर डाइट में पोषक तत्‍वों की कमी के कारण त्‍वचा में नमी की कमी से ड्राई स्किन की प्रॉब्‍लम होने लगती है.

पफी आइज व डार्क सर्कल:आमतौर पर पफी आइज व डार्क सर्कल की समस्‍या रात में देर से सोने या अच्‍छी नींद न लेने के कारण होती है. लेकिन अगर आपकी यह समस्‍या लगातार बनी रहती हैं तो आपको अपनी डाइट में ध्‍यान देना चाहिए. क्‍योंकि ऐसा डाइट में सोडियम की मात्रा अधिक लेने से बॉडी में वॉटर रिटेंशन के बढ़ने से होता है. इसके अलावाडार्क सर्कलबॉडी में आयरन की कमी का इशारा है.

पैरों में सूजन:आमतौर पर पैरों में सूजन चोट या इंफेक्‍शन के कारण होती है. साथ हीप्रेग्‍नेंसी, फैट की चर्बी व कुछ तरह की दवाएं भी इसका कारण हो सकती हैं. लेकिन कई बार पैरों में सूजन किडनी या दिल की बीमारी का लक्षण होने कि सम्भावना है. जी हां किडनी के ठीक से कार्य न करने पर पैरों में सूजन आ जाती है व टखने में सूजन हार्ट अटैक का इशारा होने कि सम्भावना है.