डायबिटीज के मरीज करे इन बातो को फॉलो होंगे फायदे

डायबिटीज के मरीज करे इन बातो को फॉलो होंगे फायदे

डायबिटीज के मरीजों को परहेज करने के लिए लम्बी लिस्ट दे दी जाती है ऐसा इसलिए क्योकि डायबिटीज में शर्करा की मात्रा अधिक बनने लगती है इसलिए ऐसे भोज्य पदार्थ जिसमे इसकी मात्रा अधिक हो उनसे दूर रहने की सलाह दी जाती है. आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है इसके बारे में , आइये जानते है

बींस को बिना उबाले न खाएं:बींस भले ही मीठा न होता हो लेकिन ये स्टार्च से भरा होता है। डायबिटीज में मीठा ही नहीं स्टार्च भी खाना मना होता है। ऐसे में ये हरी सब्जी भले ही हो लेकिन स्टार्च ज्यादा होने के कारण इसे भी खाने से बचना चाहिए. अगर बहुत पसंद हो बीन्स तो आप इसे उबाल कर खा सकते हैं।

आलू या शकरकंदी:आलू व शंकरकंदी स्टार्च व मीठास से भरा होता है। इसे भी खाने से डायबिटीज रोगियों को परहेज करना चाहिए. उबाला हुआ कभी कभार खाया जा सकता है।

कद्दू से बचना है जरूरी:कद्दू भी बेहद मीठास से भरा होता है ऐसे में पका कद्दू मो बिलकुल भी डायबिटीज रोगियों को नहीं खाना चाहिए। हरा कद्दू कभी कभार खाया जा सकता है। इन सब्जियों से दूर रहकर आप अपने आप को डायबिटीज से होने वाली खतरनाक बीमारियों से दूर रह पाएंगे। साथ ही एक हेल्दी जीवन बिना किसी टेंशन के जी पाएंगे।

चुकंदर से दूर:चुकंदर भले ही सलाद के रूप में एक बेहतरीन वस्तु मानी जाती है लेकिन डायबिटीज रोगी के लिए यह ठीक नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें मिठास ज्यादा होती है। ऐसा नहीं कि आप चुकंदर एकदम नहीं खा सकते लेकिन इसकी मात्रा बहुत कम या वीक में एक बार हो सकती है।

सूरन व अरबी:आलू की प्रजाति का होने के कारण अरबी व सूरन भी स्टार्च युक्त सब्जी होती है। मीठा भी ये बहुत ज्यादा होता है, इसलिए डायबिटीज रोगी को इससे दूर रहना चाहिए।

टमाटर व कौर्न से भी रहें दूर:टमाटर सिट्रिक एसिड सेभरा होता है लेकिन मीठा भी। ऐसे में इसे भी खाने से बचना बहुत महत्वपूर्ण है। स्वीट कौर्न भी मीठास से भरा होता है साथ ही इसमें स्टार्च भी भरपूर होता है। ऐसे में ये किसी भी रूप में ये हेल्थ के लिए ठीक नहीं होता। खास कर डायबिटीज मरीजों के लिए तो बिलकुल नहीं।