बाजार में कोविशील्ड की इतनी होगी कीमत, इस दिन तक आएंगी इतने करोड़ डोज

बाजार में कोविशील्ड की इतनी होगी कीमत, इस दिन तक आएंगी इतने करोड़ डोज

भारत में कोरोना वैक्सीन का इंतज़ार अब खत्म हुआ। 16 जनवरी से टीकाकरण प्रक्रिया शुरू होने जा रहा है। इसके लिए मंगलवार को सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने कोविशील्‍ड की 56.5 लाख डोज़ खेप की डिलीवरी कर दी है।

प्राइवेट मार्केट में ये होगी कीमत
सीरम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने बताया कि फरवरी में कोविशील्ड की 5.6 डोज़ की डिलीवरी होगी। प्राइवेट मार्केट में इस वैक्सीन की कीमत 1000 रुपये रखी गई है। पूनावाला ने कहा कि कई देशों ने अपने नागरिकों के लिए भारत से वैक्सीन खरीदने को लेकर सीरम और प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को वैक्सीन खरीदने के लिए चिट्टी लिखी है।

फरवरी तक सप्‍लाई होगी इतनी डोज़
उन्होंने कहा कि सीरम इंस्‍टीट्यूट ने सरकार को विशेष रेट की पेशकश की है, जो कि हमारी लागत से थोड़ा कम है। पूनावाला ने आगे बताया कि सीरम की पहली प्राथमिकता भारत सरकार है । सरकार ने 1.1 करोड़ कोविशील्‍ड का ऑर्डर दिया है। अब तक 56.5 लाख डोज पहुँच चुकी है। बाकी का 5.6 करोड़ डोज फरवरी तक सप्‍लाई कर दिया जाएगा।

अदार पूनावाला ने कहा की वह आम आदमी , कमज़ोर , गरीब और हेल्‍थकेयर पर पहले एक करोड़ डोज़ के लिए 200 रुपये कीमत तय की गई है। वही शेष 5.6 करोड़ डोज़ के लिए उचित कीमत रखी है। जिसके बाद प्राइवेट मार्केट में इसे 1000 रुपये प्रति डोज की कीमत से बेचेंगे।

इन देशों को भारत से उम्मीद
कई देशों के साथ करार हैं- सऊदी अरब, ब्राजील, बांग्‍लादेश और अफ्रीकी देश। ये सभी देश भारत की और उम्मीद से देख रहे हैं। क्योंकि भारत के पास बड़ी उत्‍पादन सुविधाएं हैं। दुनिया की छोटी कंपनियां अभी समुचित संख्‍या में कोरोना डोज का निर्माण करने की स्थिति में नहीं हैं। पूनावाला ने कहा कि भारत ने फिलहाल कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर कोई रोक नहीं लगाई है। लेकिन ब्राजील की और से कोविशील्‍ड की 2 मिलियन डोज़ की मांग के दबाव के बावजूद अभी इसको मंजूरी नहीं दी है।


Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां

Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में सिर्फ छह दिनों के भीतर 10 लाख लोगों को कोविड-19 के टीके लगे हैं। यह एक ऐसा आंकड़ा है, जिसने अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों को भी पीछे छोड़ दिया है। मंत्रालय के अनुसार देश में टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से अब तक करीब 16 लाख लोगों को टीके लग चुके हैं। आइए आपको बतातें हैं कि दुनिया के बाकी देश कोरोना वैक्सीन लगाने के मामले में कहां पहुंचे हैं....

अमेरिका में 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन

अमेरिका कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है। यहां अबतक 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। राष्ट्रपति जो बाइडेन को भी कोरोना का टीका लगाया जा चुका है जिसका लाइव टीवी पर प्रसारण किया गया था। हालांकि तब बाइडेन ने राष्ट्रपति पद की शपथ नहीं ली थी।

चीन में 1.5 करोड़ लोगों को टीका

चीन, जिसे कोरोना वायरस महामारी के शुरुआत की वजह माना जाता है, में वैक्सीन लगाने का काम काफी तेजी से चल रहा है। आंकड़ों के मुताबिक यहां करीब 1.5 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

ब्रिटेन में 63 लाख लोगों को लगी वैक्सीन

ब्रिटेन दुनिया का पहला देश था जिसके कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दी थी। हालांकि यहां टीका लगाने की रफ्तार बाकियों की तुलना में धीमी लग रही है। ब्रिटेन में अबतक 63 लाख लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है।

इजरायल में भी 24 लाख लोगों को वैक्सीन

भारत के मित्र देशों में से एक इजरायल में भी कोरोना के खिलाफ जंग जारी है। यहां अबतक 24 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भी कोरोना का टीका लगवा चुके हैं।

जर्मनी भी भारत से फिलहाल आगे

कोरोना वैक्सीन लगाने के मामले में जर्मनी भी फिलहाल भारत से आगे है। यहां अबतक 16.3 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। हालांकि भारत में टीकाकरण की स्पीड देखकर लगता है कि यह जल्द ही जर्मनी को इस मामले में पीछे छोड़ देगा।

सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात       बिल्ली और केकड़े का ये वीडियो देख आप हमेशा अपने काम से काम रखोगे!       शशि थरूर कांग्रेस को बता रहे थे मजबूत विपक्ष, बिशन सिंह बेदी की 'गुगली' ने बंद की बोलती!       पॉर्न देखने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, पॉप्युलर वेबसाइट का डेटा लीक       Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां       आपके मोबाइल में मौजूद है फर्जी ऐप, तो ऐसे करें असली-नकली की पहचान       नेपाल में प्रचंड धड़े ने पीएम केपी शर्मा ओली को पार्टी से निकाला, स्पष्टीकरण नहीं देने पर कार्रवाई       विवादित ढांचे को लेकर प्रकाश जावडेकर बोले, 6 दिसंबर 1992 को ऐतिहासिक गलती को किया गया ठीक       लालू प्रसाद यादव की हालत स्थिर, दिल और किडनी की है गंभीर समस्या       गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद ही ट्रैक्टर पर निकल सकेंगे किसान, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस       तेजस विमानों में कई देशों ने दिखाई दिलचस्‍पी, चीन के जेएफ-17 की तुलना में हैं बेहतर       इस साल 32 बच्चों को मिलेगा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार, पीएम मोदी करेंगे विजेताओं से बात       दिल्ली में सभी मेट्रो स्टेशनों की पार्किंग बंद, सेवाओं में आंशिक बदलाव       बिहार में जननायक के बहाने हो रही सियासत, कर्पूरी ठाकुर की जयंती मनाने के लिए लगी होड़       Haridwar Kumbh Mela 2021: 27 फरवरी से शुरू हो सकता है कुंभ, श्रद्धालुओं की होगी आरटीपीसीआर जांच       बलिया के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के विवादित बोल, कहा- ममता बनर्जी के डीएनए में दोष       महाराष्ट्र: 18 लाख रुपये से अधिक की कोकीन जब्त, एक व्यक्ति गिरफ्तार       मैक्सिको-अमेरिका सीमा पर मिले 19 जले शव, सभी पर गोलियों के निशान, लेकिन घटनास्थल पर नहीं मिले खोखे       दक्षिण अफ्रीका में कोरोना से मरने वालों की अंत्येष्टि के लिए अधिक पैसे ले रहे पुजारी       तमिलनाडु: सीबीआई ने रिश्वत कांड में श्रम अधिकारी सहित दो लोगों को किया गिरफ्तार