कुलगाम में अमरनाथ यात्रा मार्ग के बेहद करीब मुठभेड़

कुलगाम में अमरनाथ यात्रा मार्ग के बेहद करीब मुठभेड़
  • तलाशी अभियान के दौरान प्रारम्भ हुई मुठभेड़
  • लश्कर के क्षेत्रीय आतंकवादी के रूप में हुई पहचना
  • अमरनाथ यात्रा मार्ग के काफी करीब एनकाउंटर हुई

जम्मू और कश्मीर के कुलगाम जिले में आज बुधवार को सुरक्षा बलों के साथ एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकी मारे गए. पुलिस ने यह जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि जिस स्थान एनकाउंटर हुई वह अमरनाथ यात्रा मार्ग के बहुत करीब है. 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कुलगाम जिले में मीर बाजार क्षेत्र के नवापुरा में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने घेराबंदी और तलाश अभियान प्रारम्भ किया था. अधिकारी के अनुसार, तलाशी अभियान के दौरान ही एनकाउंटर प्रारम्भ हो गई, जिसमें दो आतंकी मारे गए. 

‘कार्रवाई एनएचडब्ल्यू के बहुत निकट हुई’

कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने ट्वीट किया, “मारे गए दोनों आतंकियों की पहचान प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के क्षेत्रीय आतंकियों के तौर पर हुई है. यह एक और अहम एनकाउंटर है, क्योंकि कार्रवाई एनएचडब्ल्यू (यात्रा मार्ग) के बहुत निकट हुई.” 

सुरक्षाकर्मियों की जवाबी कार्रवाई में मुठभेड़

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने अभियान की जानकारी देते हुए बोला कि पुलिस और सेना का संयुक्त दल मीर बाजार के निकट राष्ट्रीय राजमार्ग पर संदिग्ध इलाकों की छानबीन कर रहा था. अधिकारी ने कहा, “उन्होंने क्षेत्र की घेराबंदी की, जिसके दौरान आतंकियों ने गोलीबारी की, सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई की जिससे एनकाउंटर प्रारम्भ हो गई. अभियान खत्म हो गया है और इसमें दो आतंकी मारे गए. उनकी पहचान यासिर वानी और रईस मंजूर के रूप में हुई है.” 

यासिर हिंसा के कई मामलों में वांछित है. वह लश्कर से बहुत पहले से जुड़ा हुआ है और 2020 में उसकी सक्रियता बढ़ गई. रईस इस आतंकी संगठन से महज दो महीने पहले जुड़ा था. अमरनाथ यात्रा कल गुरुवार से प्रारम्भ होने जा रही है. 

कल से प्रारम्भ हो रही अमरनाथ यात्रा

वहीं, जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की ओर से आज राजभवन में विभिन्न सियासी पार्टियों के प्रमुख को  चाय पार्टी में बुलाई गई थी. ऑफिसरों के मुताबिक, उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कल से प्रारम्भ हो रही अमरनाथ यात्रा सहित केंद्र शासित प्रदेश के वर्तमान परिस्थिति पर चर्चा करने के लिए ये बैठक बुलाई थी. 

हालांकि, इस बैठक में पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती शामिल नहीं हुईं. वहीं, एनसी के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला, भाजपा की जम्मू और कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रविंदर रैना और कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जी ए मीर इस बैठक में शामिल हुए.