देश में कोरोना मरीजों की संख्या हजार के पार, 23 नए केस आए सामने

देश में कोरोना मरीजों की संख्या हजार के पार, 23 नए केस आए सामने

केन्द्र व प्रदेश सरकार की तरफ से कोशिश के बावजूद लगातार कोरोना के नए मुद्दे सामने आ रहे हैं. यह वायरस इतना खतरना है कि कोरोना पॉजिटिव के सम्पर्क में आने पर उसे भी अपनी गिरफ्तर में लेता है.

क्वारंटाइन में भेजे गए आरएमएल के चिकित्सक व नर्स 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राजधानी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के छह चिकित्सक व चार नर्स को कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आने के चलते क्वारंटाइन में भेज दिया गया है. 


देश में कोरोना मरीजों की संख्या हजार के पार

देश मे कोराना मरीजों की संख्या रविवार को एक हजार के पार कर गई जबकि इससे अब तक 27 लोगों की मृत्यु हुई है. रविवार शाम तक कोरोना के मरीजों की संख्या 1024 थी. हालांकि, उसके बाद भी कई राज्यों को कोरोना के नए मुद्दे सामने आए हैं.

राजधानी दिल्ली में कोरोना के 23 नए केस

राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मुद्दे लगातार बढ़ते जा रहे हैं. यहां पर रविवार को 23 नए कोरोना के केस आए हैं, जिसके बाद यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 72 हो गई है. उधर, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने यहां से जा रहे मजदूरों से बोला कि वे लॉकडाउन का उल्लंघन न करें यहां पर खाने पीने की पर्याप्त व्यवस्था है.

दिल्ली के एक व्यक्तिगत अस्पातल में यमन के एक नागरिक की शुक्रवार (27 मार्च) को कोरोना वायरस (कोविड-19) की वजह से मृत्यु हो गई. इस वायरस से दिल्ली में मृत्यु का यह दूसरा मुद्दा है. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने यह जानकारी दी. व्यक्ति को इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल में 24 मार्च को उस वक्त भर्ती किया गया था, जब वह आकस्मित बेसुध होकर गिर पड़ा था. वो यहां लीवर डोनर के तौर पर आया था व महत्वपूर्ण जाँच के लिए अस्पताल में रुका था.

अस्पताल के एक सूत्र ने बताया, "व्यक्ति की आयु करीब 60 वर्ष थी व कई अन्य बिमारियों से ग्रस्त था. वह जाँच के लिए अस्पताल आया था व इसी दौरान आकस्मित ही बेहोश होकर गिर पड़ा. क्योंकि वह बाहर (यमन) से आया था व बेहोश हो गया, ऐसे में कोरोना का संदिग्ध होने की वजह से उसका नमूना (सैंपल) लिया गया. उसके नमूने को पहले अपोलो अस्पताल के प्रयोगशाला में टेस्ट किया गया व फिर पुष्टि के लिए यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस) भेजा गया था." 

आईएलबीएस के प्रयोगशाला में आदमी के कोरोना वायरस से संक्रमण की जाँच गुरुवार (26 मार्च) को पॉजिटिव पाई गई. इसके बाद उसके सैंपल को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भेजा गया. एक सरकारी ऑफिसर ने बताया, "तीसरी जाँच इस बात की तस्दीक करने के लिए की गई कि आदमी वास्तव में कोरोना वायरस से संक्रमित था."

इस केस को जोड़कर दिल्ली में अब तक कुल 41 मुद्दे सामने आ चुके हैं. इससे पहले मंगलवार (24 मार्च) रात पूर्वी दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती एक कोरोना संदिग्ध की मृत्यु हो गई थी. बाद में मृतक का सैंपल जाँच के लिए भेजा गया, जिसमें पता चला कि उसकी मृत्यु कोरोना संक्रमण की वजह से नहीं बल्कि दिल संबंधी बीमारी से हुई थी. दिल्ली में यमन के नागरिक के अतिरिक्त पश्चिम दिल्ली में रहने वाली 68 वर्षीय महिला की मृत्यु कोविड-19 से हुई थी.