अफगानिस्तान में हो रहा सिखों पर अत्याचार

अफगानिस्तान में हो रहा सिखों पर अत्याचार

अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल (Kabul) में सिख (Sikh) धार्मिक स्थल पर हुए आतंकवादी हमले में एक भारतीय की मृत्यु हो गई। बुधवार को हुए इस हमले में कुल 11 लोग मारे गए।  

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक सिख धार्मिक स्थल पर हुए हमले में सुसाइड बॉम्बर्स शामिल थे। यह हमला शोर मार्केट स्थित गुरुद्वारे (gurdwara) में हुआ।

सूचना मिलते ही मौके पर स्पेशल फोर्स के जवान पहुंच गए। अफगानिस्तान मीडिया ने बताया कि इमारत के अंदर उपस्थित कई लोगों को बचा लिया गया। बताते चलें कि अफगानिस्तान में बसा सिख समुदाय मुख्य रूप से जलालाबाद व काबुल में रहता है।

अफगानिस्तान में पहले भी हुए हैं सिखों पर हमले
बता दें अफगानिस्तान में पहले भी सिखों पर हमले हो चुके हैं। 1 जुलाई 2018 को जलालाबाद में सिखों को टारगेट कर किए गए आत्मघाती हमले में करीब 10 सिख मारे गए थे। आईएसआईएस की लोकल इकाई ने इस हमले की जानकारी ली थी।  

इससे पहले 15 मार्च को अफगानिस्तान के कांधार प्रांत में तालिबान के हमले में सात पुलिसवालों की मृत्यु हो गई थी।   प्रांतीय पुलिस के प्रवक्ता जमाल बारिकजई के मुताबिक झारी जिले के चरसखी इलाके में तड़के करीब 2 बजे यह आतंकवादी हमला हुआ था।   बारिकजई ने बोला कि हमले के लिए जिम्मेदार तालिबान के आतंकवादी घटनास्थल से भाग निकले। हालांकि तालिबान ने हमले को लेकर कोई रिएक्शन नहीं दी थी।