कोरोना का कहर: राज्य में लगने जा रही धारा 144

कोरोना का कहर: राज्य में लगने जा रही धारा 144

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में एक बार फिर तबाही मचानी शुरू कर दी है। अमेरिका समेत कई देशों में कोरोना संक्रमण से हालत बेहद खराब हो चुके हैं। इसके बाद ही भारत में दिल्ली समेत कई राज्यों में एक बार फिर कोरोना तेजी से फैल रहा है। राजधानी दिल्ली में कोरोना ने विकराल रूप ले लिया है। यहां हाल के दिनों प्रतिदिन 6 हजार से ज्यादा नए मामले आ रहे हैं।

कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए कई राज्यों ने अभी सतर्कता बरतनी शुरू दी है। कई राज्यों ने स्कूलों को खुलने की तारीख को आगे बढ़ा दिया है, तो वहीं कई राज्यों ने एक बार नाइट कफ्र्यू का ऐलान कर दिया है। अब इस बीच राजस्थान ने बड़ा फैसला लिया है। राजस्थान के सभी जिलों 21 नवंबर से धारा 144 लागू होगी।

प्रदेश की गहलोत सरकार ने राज्य के सभी जिला मजिस्ट्रेट को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने की शक्ति प्रदान की है। गृह विभाग के ग्रुप-9 ने सभी जिला मजिस्ट्रेट को परमार्श जारी किया है। जिला मजिस्ट्रेट की शक्ति 18 नवंबर को धारा-144 समाप्त होने के साथ ही समाप्त हो गई थी। जिला मजिस्ट्रेट लंबे समय तक राज्य सरकार के परामर्श से ही धारा-144 लगा सकता है।

एक साथ 4 लोग से ज्यादा नहीं हो सकते इकट्ठा
राजस्थान में धारा-144 लागू होने के बाद एक जगह पर 4 लोगों से ज्यादा के एक जगह इकट्ठा नहीं हो सकते। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना के तेजी से फैल रहे संक्रमण को देखते हुए लोगों से बड़ी संख्या में एक जगह एकत्र नहीं होने की अपील की है। प्रदेश की सरकार ने यह फैसला जनहित में लिया है। गहलोत ने सभी से अपील है कि इसका पालन करें। सरकार बल प्रदर्शन की बजाय चाहती है कि इसका पालन करने में जनता आगे बढ़कर सहयोग करे।

दीपावाली के दौरान बाजारों में लोगों की भीड़ सामान खरीदने के लिए उमड़ी थी। इसके बाद कोरोना संक्रमित होने के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते दो-तीन दिनों से प्रदेशभर में औसतन दो से ढाई हजार से बीच कोरोना सक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने जिला कलक्टर्स को यह परामर्श जारी किया है।


भाजपा झूठ बोलने में ट्रेंड, किसानों के समर्थन में आए अखिलेश

भाजपा झूठ बोलने में ट्रेंड, किसानों के समर्थन में आए अखिलेश

इटावा: स्नातक चुनाव में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने गांव सैफ़ई में मतदान करने पहुंचे। अखिलेश ने पहुंचते ही निर्वाचन आयोग के कोविड नियम के तहत थर्मल स्क्रीनिंग एवं सेनेटाइजेशन करवाया। मतदान करके वापस लौटते ही अखिलेश यादव ने मीडिया के सवालों का  जवाब देते हुए कहा कि स्नातक चुनाव में लोग बड़े पैमाने पर निकलकर वोट कर रहे हैं। लोग अधिक से अधिक वोट डाल रहे है इस चुनाव के इस सदन में गिनती किनकी ज्यादा है और परिणाम आने पर इसका आने वाले चुनाव में असर पड़ेगा। कुछ ऐसे मामले है कि सदन में जो लोकतंत्र ताकत पर उनको एक। सदन में पास कर रहे है दूसरा सदन कोई है तो अपर हाउस है लोकतंत्र में जो अधिकार है उसको सुरक्षित रख सके उसको जरूर वोट करें। मुझे उम्मीद है समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी है उनके पक्ष में मतदान हो रहा है।

पहले भी सीटें हम लोगों ने जीती थी यह गिनती का चुनाव है कई तरह की चीजें सामने आती है उसके बावजूद भी पार्टी जीतेगी। किसानों के आंदोलन पर सत्ता पक्ष के बरगलाने के सवाल के जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि किसान हमारा पेट भर रहा है और जिसका बेटा सीमा पर रक्षा कर रहा है। किसान अगर दुःखी हो जाएगा और आर्थिक रुप से कमजोर हो जाएगा तो देश की अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है। महोबा जिले में किसानों ने सबसे अधिक आत्महत्या की है जबसे बीजेपी की सरकार आयी है तब से किसान आत्महत्या कर रहा है लगातार ऐसे कानून बनाये जा रहे है जिससे बड़े लोगो को फायदा पहुंच रहा है।

किसानों की मांगें जायज है उनकी मदद होनी चाहिए-अखिलेश
अखिलेश ने कहा किसानों से पूछिए कि उनको धान और मक्का की कीमत मिल पाई है किसान जो आंदोलन कर रहे है उनकी मांगें जायज है उनकी मदद होनी चाहिए किसानों के पक्ष में फैसले होने चाहिए । भाजपा यह बताए समर्थन मूल्य आय दुगनी किसानों की कैसे हो।

भाजपा के नेताओ के खालिस्तान पाकिस्तान वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग बहुत ट्रेंड लोग है वो दिन को भी अंधेरा भी बोल सकते है अगर दिल्ली से तय हो जाये तो भाजपा के लोग दिन को भी अंधेरा बोलते है यह कोई नई बात नही है ट्रेंड झूठ बोलने वाले लोग है।


आद‍ित्य नारायण की शादी, गाजे-बाजे के साथ निकली बारात…       OMG! समंदर किनारे मस्ती करती नजर आई ये एक्ट्रेस       इस अवतार में इस एक्ट्रेस ने मचाया तहलका, हाथ में ​ग्लास और हुस्न जैसे आग…देखें फोटो       इलायची वाली चाय रामबाण हैं इस बीमारी के लिए       काम के दबाव में भी ऊर्जापूर्ण रहें, अपनाएं ये तरीके       इस बीमारी के लिए रामबाण हैं इलायची वाली चाय       नही जानते होगे आप सरसों के तेल से होने वाले ये बेहतरीन लाभ       लाल रंग के फल और सब्जियों के फायदे जानकर दंग रह जाएगे आप       सर्दियों में आपके लिए किसी वरदान से कम नही हैं लहसुन       बकरी के दूध से होने वाले फायदे जानकर चौक जाएगे       यदि आप बदलते मौसम में साइनस की समस्या से हैं परेशान       पीरियड में होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए पिएं अदरक वाली चाय       किसी औषधी से कम नही हैं आपके के लिए काला लहसुन       आंखों को स्वस्थ रखने के लिए करें ये एक्सरसाइज       सुबह- सुबह धनिया का पानी पीने के ये पांच जबरदस्त फायदे       हंसने-मुस्कराने से कम फायदेमंद नहीं झूमना-नाचना       पीरियड्स में देरी के हो सकते हैं ये कारण, जानें       इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन       क्यों नहीं पिलाना चाहिए बच्चो को प्लास्टिक की बोतल में दूध       सेहत के लिए किसी वरदान से कम नही है इसका बीज