डाक्टर वीके पाल बोले, जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन की कीमत पर जल्द लिया जाएगा फैसला

डाक्टर वीके पाल बोले, जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन की कीमत पर जल्द लिया जाएगा फैसला

भारत ने कोरोना वैक्सीन की 75 करोड़ डोज लगाने का आंकड़ा छू लिया है। इसको लेकर नीति आयोग के सदस्य डाक्टर वी.के. पाल ने कहा कि ये हम सभी भारतीयों और हमारे देश के लिए गर्व की बात है कि लोगों को कोरोना वैक्सीन की 75 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत है और यह हमें विश्वास दिलाता है कि हम सही समय में अपनी आबादी को टीकाकरण प्रदान करने में सक्षम होंगे। इसके साथ ही डाक्टर पाल ने कहा कि अब तक मोटे तौर हम दो वैक्सीन पर निर्भर थे, आगे बढ़ते हुए हम न सिर्फ इन वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाएंगे बल्कि दूसरी वैक्सीन भी उपलब्ध होंगी। जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन जाइकोव-डी (ZyCoV-D) को लेकर डाक्टर पाल ने कहा कि इसकी कीमत को लेकर चर्चा जारी है। जल्द ही इस पर फैसला लिया जाएगा। हम इस वैक्सीन को राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल करना चाहते हैं।


इसके साथ ही वीके पाल ने कहा कि इस समय हमारा ध्यान सभी वयस्कों को टीका लगाने पर होना चाहिए। डब्ल्यूएचओ आज भी बच्चों के लिए सामान्य टीकाकरण की सिफारिश नहीं कर रहा है। घबराने की जरूरत नहीं है, हम घटनाक्रम के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहे हैं।

आइसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन को डब्ल्यूएचओ से मंजूरी मिलने के बाद वीके पाल ने इससे संबंधित हवाई यात्रा की गाइडलाइन को लेकर कहा कि हमें डब्ल्यूएचओ को विज्ञान के आधार पर निर्णय लेने के लिए समय देना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम आशा करते हैं कि निर्णय जल्दी से लिया जाएगा क्योंकि जो लोग कोवाक्सिन प्राप्त कर रहे हैं उनके पास यात्रा आदि की कुछ अनिवार्यताएं हैं जिनके लिए डब्ल्यूएचओ की सहमति बेहद महत्वपूर्ण है।


मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रख्यात लेखक और पत्रकार मनोरमा महापात्रा के निधन पर दुख व्यक्त किया। साथ ही कहा कि उन्होंने मीडिया में कई योगदान दिए हैं। उन्होंने कई मुद्दों को कवर किया। उन्हें उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा।

पीएम ने कहा,' प्रसिद्ध साहित्यकार मनोरमा महापात्र जी के निधन से दुखी हूं। उन्हें कई मुद्दों पर उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने मीडिया में भी समृद्ध योगदान दिया और व्यापक सामुदायिक सेवा की। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति ।

ओडिया दैनिक 'द समाज' के पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा का कलकत्ता में एससीबी मेडिकल कालेज और अस्पताल में निधन हो गया था। महापात्रा को सीने में दर्द की शिकायत के बाद उनका इलाज चल रहा था। वह 87 वर्ष की थीं। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।


पटनायक ने कहा, 'मैं प्रमुख लेखिका और डेली न्यूजपेपर समाज की पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं। पत्रकारिता, सामाजिक कार्य, शिक्षा और महिला सशक्तिकरण में उनका योगदान अतुलनीय है।" बता दें कि मनोरमा 1934 में जन्मी थी। वह 1984 में साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला था।

उधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिले उपहारों आनलाइन नीलामी चल रही है। इसको लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। पीएम मोदी ने रविवार को नागरिकों को उनके द्वारा प्राप्त उपहारों और स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया।


पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'समय के साथ, मुझे कई उपहार और स्मृति चिन्ह मिले हैं जिनकी नीलामी की जा रही है। इसमें हमारे ओलंपिक नायकों द्वारा दिए गए विशेष स्मृति चिन्ह शामिल हैं। नीलामी में भाग लें। इससे मिलने वाला पैसा नमामि गंगे पहल में जाएगा। पीएम मोदी ने ई-नीलामी के लिए निर्धारित पोर्टल का लिंक भी साझा किया।