भारतीय चिकित्सा संघ आईएमए ने बिना लक्षण व हल्के लक्षणों वाले कोविड-19 रोगियों को लेकर उठाए यह बड़े सवाल

भारतीय चिकित्सा संघ आईएमए ने बिना लक्षण व हल्के लक्षणों वाले कोविड-19 रोगियों को लेकर उठाए यह बड़े सवाल

भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) ने बिना लक्षण व हल्के लक्षणों वाले कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए आयुर्वेद व योग पर आधारित हाल ही में जारी सरकारी नियमों के वैज्ञानिक आधारों पर सवाल उठाए हैं.

केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को कोविड-19 रोगियों के नैदानिक प्रबंधन को लेकर नियम जारी किये थे, जिसमें कोरोना वायरस संक्रमण से बचने व हल्के तथा बिना लक्षण वाले रोगियों उपचार के लिये आहार, योग व अश्वगंधा व आयुष -64 जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों के योगों की सूची दी गई है.

आईएमए ने कहा, क्या इस दावे का समर्थन करने वालों व उनका मंत्रालय कोविड से बचाव व उपचार पर शोध के लिये खुद को स्वयंसेवक के तौर पर पेश करने के लिये तैयार हैं. मंत्रिमंडल के उनके कितने साथियों ने इन नियमों के तहत उपचार कराने की ख़्वाहिश जतायी है?