मध्य प्रदेश में जल्द ही एक लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, CM शिवराज सिंह चौहान का एलान

मध्य प्रदेश में जल्द ही एक लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, CM शिवराज सिंह चौहान का एलान

मध्य प्रदेश में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही एक लाख पदों पर भर्तियां शुरू होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीते दिन इसका एलान किया था। सीएम ने कहा था कि राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रोजगार है। राज्य सरकार कुछ ही दिनों में एक लाख पदों पर भर्ती प्रक्रिया आरंभ कर रही है। इस बडे़ एलान के बाद ही प्रदेश में नौकरी की आस लगाए बैठे बेरोजगारों के मन में आस जरूर जग गई है। इस दौरान शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महिलाओं को भी रोजगार मिलना चाहिए।

प्रदेश में बेरोजगारी दूर करने के लिए और करना कार्य- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हम जल्द ही एक लाख लोगों को रोजगार देंगे, लेकिन वह काफी नहीं है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि कोरोना काल में 300 से अधिक उद्योगों के लिए जमीन आवंटित भी गई है। इससे रोजगार सृजन में 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। हमें ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर तलाशने होंगे और बेरोजगारी को दूर करने के लिए कार्य करना होगा।


मध्य प्रदेश में 15 सितंबर से खुल रहे कालेज और विश्वविद्यालय

उधर, 15 सितंबर यानी कल से मध्य प्रदेश में सभी कालेज और विश्वविद्यालय 15 सितंबर से खोले जाने हैं। ऐसे में छात्रों की 50 फीसद उपस्थिति के साथ पढ़ाई शुरू की जाएगी। इस दौरान संपूर्ण शैक्षणिक तथा अशैक्षणिक स्टाफ को मौजूद रहने का आदेश जारी किया गया है। साथ ही टीकाकरण की पहले डोज की प्रमाण पत्र जमा करने के बाद ही कालेज और विश्वविद्यालय में प्रवेश करन दिया जाएगा।

 
अब कालेजों में रामायण और महाभारत भी पढाई जाएगी, शिक्षा विभाग ने दी जानकारी

ऐसे में खबर है कि अब कालेजों में छात्रों को अब रामायण और महाभारत भी पढ़ाई जाएगी। राज्य के उच्च शिक्षा विभाग का कहना है कि इंजीनियरिंग छात्रों के पाठ्यक्रम में रामायण, महाभारत और रामचरितमानस को शामिल किया गया हैं।


मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

मनोरमा महापात्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख, बोले...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रख्यात लेखक और पत्रकार मनोरमा महापात्रा के निधन पर दुख व्यक्त किया। साथ ही कहा कि उन्होंने मीडिया में कई योगदान दिए हैं। उन्होंने कई मुद्दों को कवर किया। उन्हें उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा।

पीएम ने कहा,' प्रसिद्ध साहित्यकार मनोरमा महापात्र जी के निधन से दुखी हूं। उन्हें कई मुद्दों पर उनके लेखन के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने मीडिया में भी समृद्ध योगदान दिया और व्यापक सामुदायिक सेवा की। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति ।

ओडिया दैनिक 'द समाज' के पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा का कलकत्ता में एससीबी मेडिकल कालेज और अस्पताल में निधन हो गया था। महापात्रा को सीने में दर्द की शिकायत के बाद उनका इलाज चल रहा था। वह 87 वर्ष की थीं। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।


पटनायक ने कहा, 'मैं प्रमुख लेखिका और डेली न्यूजपेपर समाज की पूर्व संपादक मनोरमा महापात्रा के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं। पत्रकारिता, सामाजिक कार्य, शिक्षा और महिला सशक्तिकरण में उनका योगदान अतुलनीय है।" बता दें कि मनोरमा 1934 में जन्मी थी। वह 1984 में साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला था।

उधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिले उपहारों आनलाइन नीलामी चल रही है। इसको लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। पीएम मोदी ने रविवार को नागरिकों को उनके द्वारा प्राप्त उपहारों और स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया।


पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'समय के साथ, मुझे कई उपहार और स्मृति चिन्ह मिले हैं जिनकी नीलामी की जा रही है। इसमें हमारे ओलंपिक नायकों द्वारा दिए गए विशेष स्मृति चिन्ह शामिल हैं। नीलामी में भाग लें। इससे मिलने वाला पैसा नमामि गंगे पहल में जाएगा। पीएम मोदी ने ई-नीलामी के लिए निर्धारित पोर्टल का लिंक भी साझा किया।