एनटीए में निकली इस पद पर वैकेंसी

एनटीए में निकली इस पद पर वैकेंसी

 नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने चार्टर्ड अकाउंटेंट के पद के लिए भर्ती नोटिफिकेशन जारी किया है इस भर्ती के लिए आधिकारिक अधिसूचना 12 मई को जारी कर दी थीजबकि आवेदन प्राप्त करने की आखिरी तारीख विज्ञापन के प्रकाशन की तारीख से 15 दिन तक है उम्मीदवारों को आखिरी तारीख से पहले आवेदन करने की राय दी जाती है

इन पदों के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवार के पास कम से कम 15 साल का होना चाहिए जबकि आवेदक फर्म के पास शैक्षिक समितियों/सरकारी संगठनों के काम को संभालने के लिए एक समर्पित विंग होना चाहिए आवेदक फर्म  को कम से कम 2 बड़े सरकारी संगठनों के लेखा परीक्षा का अनुभव होना चाहिए एनटीए बिना कोई कारण बताए किसी भी या सभी आवेदनों को किसी भी समय स्वीकार/अस्वीकार करने का अधिकार सुरक्षित रखता है

इसके साथ ही आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट में विज्ञापन की तिथि से 15 दिनों के एंड शुल्क सहित अपनी फर्म का प्रोफाइल और प्रासंगिक विवरण भेजना होगा आवेदन महानिदेशक, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी, प्रथम तल, एनएसआईसी-एमडीबीपी बिल्डिंग ओखला इंडस्ट्रियल एस्टेट नयी दिल्ली 110020 को भेजा जाना चाहिए साथ ही आवेदन पत्र को [email protected] पर ईमेल भी करना होगा

एनटीए भर्ती 2022 के लिए आवेदन इस प्रकार करें

चरण 1: सबसे पहले एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट  nta.ac.in पर जाएं चरण 2: अब होम पेज पर “नवीनतम @NTA” अनुभाग को चुनें चरण 3: इसके बाद अधिसूचना में आवेदन पत्र भी शामिल होगा उसे डाउनलोड कर लें चरण 4: अब आवेदन पत्र का प्रिंट निकाल लें चरण 5: अंत में आवेदन पत्र भरें और संबंधित पते व मेल आईडी पर भेज दें

Education Loan Information:


योगी सरकार ने पेश किया सबसे बड़ा बजट

योगी सरकार ने पेश किया सबसे बड़ा बजट
  • सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने बजट को ‘आंकड़ों का मकड़जाल’ करार दिया.
  • मायावती ने बजट को जनता की आंखों में धूल झोंकने वाला और घिसा-पिटा बताया है.
  • योगी गवर्नमेंट ने 6,15,518.97 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है जो अब तक का सबसे बड़ा बजट है.

सपा के सुप्रीमो अखिलेश यादव ने यूपी गवर्नमेंट की योगी आदित्यनाथ गवर्नमेंट द्वारा 2022-23 के लिए विधानसभा में पेश बजट को ‘आंकड़ों का मकड़जाल’ करार दिया. वहीं, सूबे की पूर्व सीएम मायावती ने बजट को जनता की आंखों में धूल झोंकने वाला और घिसा-पिटा बताया है. अखिलेश ने बजट को आंकड़ों का मकड़जाल करार देते हुए बोला कि बीजेपी गवर्नमेंट के इस छठे बजट में सब कुछ घटा है. बजट पर अखिलेश ने कहा, ‘प्रदेश की भाजपा गवर्नमेंट के पिछले 5 वर्ष में जनता को केवल छल मिला है.

‘बजट तो छठा है लेकिन इसमें सबकुछ घटा है’

सपा सुप्रीमो ने आगे कहा, ‘बीजेपी गवर्नमेंट का यह छठा बजट भी आंकड़ों का मकड़जाल है. यह बजट तो छठा है लेकिन इस बजट में सब कुछ घटा है.’ बता दें कि योगी गवर्नमेंट के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट के अनुसार वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में वित्त साल 2022—23 के लिये 6,15,518.97 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. यह प्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा बजट है. हालांकि अखिलेश ने इसे गलत बताते हुए कहा, ‘तालियां तो बज रही हैं मगर यह दिल्ली के बजट को जोड़कर बनाया गया बजट है.

‘गांवों में अब भी बड़े पैमाने पर रोजगार नहीं’
अखिलेश ने कहा, ‘अब भी समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट के काम ही दिख रहे हैं. जिस गवर्नमेंट ने बोला था कि 2022 में किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी, आज हम 2022 में हैं, छठवां बजट पेश हुआ है, क्या हमारे किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी? जिस ढंग से महंगाई बढ़ी है और लगातार बढ़ रही है, उससे राहत के लिये इस बजट में कुछ भी नहीं है. इस बजट से गांवों में उदासी है. नौजवान जो आशा लगा कर बैठा था कि उसे जॉब और रोजगार मिलेगा. आंकड़ों में तो दिखाई दे रहा है कि जॉब और रोजगार दिया गया है मगर जमीन पर गांव में अब भी बड़े पैमाने पर नौजवानों के पास रोजगार नहीं है.

‘जनता की आंख में धूल झोंकने का खेल कब तक’
वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती ने बजट को ‘घिसा-पिटा’ और जनता की आंख में धूल झोंकने वाला करार दिया है. मायावती ने सिलसिलेवार ट्वीट कर बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बोला कि उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट का बजट प्रथमदृष्टया घिसा पिटा है. मायावती ने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश के करोड़ों लोगों के जीवन में थोड़े अच्छे दिन लाने के लिए कथित डबल इंजन की गवर्नमेंट द्वारा जो बुनियादी कार्य अहमियत के आधार पर किए जाने चाहिए थे, वे कहां किए गए. साफ है कि नीयत नहीं है तो फिर वैसी नीति कहां से बनेगी. जनता की आंख में धूल झोंकने का खेल कब तक चलेगा?’