'मौसम वैज्ञानिक' मंत्री राम विलास पासवान का छह प्रधानमंत्रियों के साथ कार्य से पहले हुआ था यह बड़ा आपरेशन

 'मौसम वैज्ञानिक' मंत्री राम विलास पासवान का छह प्रधानमंत्रियों के साथ कार्य से पहले हुआ था यह बड़ा आपरेशन

देश की पॉलिटिक्स में 'मौसम वैज्ञानिक' के रुप में पहचाने जाने वाले केंद्रीय खाद्य आपूर्ति व कंज़्यूमर मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने छह प्रधानमंत्रियों के साथ कार्य किया. चौहत्तर वषीर्य पासवान का गुरूवार देर शाम मृत्यु हो गया. वह बहुत ज्यादा समय से बीमार थे व हाल में ही उनका दिल का आपरेशन भी हुआ था.

देश के सियासी माहौल के पारखी पासवान अपने सियासी ज़िंदगी में छह प्रधानमंत्रियों के मंत्रिमंडल में रहे. प्रथम बार वह 1989 में विश्वनाथ प्रताप सिंह की सरकार में मंत्री बने. दूसरी मर्तबा 1996 में एच डी देवगौड़ा व फिर उसके बाद इंद्र कुमार गुजराल सरकार में रेल मंत्री की जिम्मेदारी निभाई. 

साल 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिनिधित्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में श्री पासवान संचार मंत्री थे. साल 2004 में वह राजग से अलग हुए व मनमोहन सिंह की प्रतिनिधित्व में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) सरकार में रसायन मंत्री रूप में काम किया. 

वर्ष 2014 फिर राजग में शामिल हुए व नरेंद्र मोदी की सरकार में खाद्य आपूर्ति मंत्री बनाए गए. साल 2019 में हुए आम चुनाव में पासवान ने चुनाव नहीं लड़ा व बिहार से राज्यसभा पहुंचे व फिर पीएम मोदी की सरकार में खाद्य आपूर्ति व कंज़्यूमर मामलों के मंत्री बने.