भारत में Covid-19 की दूसरी लहर में हो रही मौतों से विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंतित, कहा...

भारत में Covid-19 की दूसरी लहर में हो रही मौतों से विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंतित, कहा...

नई दिल्‍ली: देश में कोविड-19 वायरस के कारण बहुत गंभीर स्थिति बनी हुई है देश के इन हालातों पर पूरी दुनिया चिंतित है क्‍योंकि इससे सभी को खतरा है विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ( विश्व स्वास्थ्य संगठन ) ने भी देश में कोविड-19 की दूसरी लहर में हो रही मौतों पर चिंता जताई है विश्व स्वास्थ्य संगठन की चीफ साइंटिस्‍ट डाक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने बोला है कि हिंदुस्तान में Covid-19 के आंकड़े (Covid-19 Data) चिंतित करने वाले हैं और सरकार को ठीक आंकड़े बताने चाहिए  

देश के कई जानकार भी कह चुके हैं कि जितनी बड़ी संख्‍या में शवों का आखिरी संस्‍कार हो रहा है, उसे देखते हुए मौतों की असल संख्‍या बताए जा रहे आंकड़ों से कहीं ज्‍यादा है एएनआई को दिए साक्षात्कार में डाक्टर स्वामीनाथन ने बोला है कि इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवाल्यूश (IHME) ने मौजूदा आंकड़ों के आधार पर अगस्त तक 10 लाख लोगों की मृत्यु होने का अनुमान लगाया है हालांकि समय के साथ इसमें परिवर्तन भी हो सकता है

डाक्टर स्वामीनाथन ने यह भी बोला कि सभी राष्ट्रों ने कम आंकड़े दिखाए हैं असल संख्या कुछ और है सरकारों को असल आंकड़े दिखाने चाहिए इससे एक दिन पहले ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश में पिछले वर्ष मिले भारतीय वेरिएंट B.1617 को पूरी दुनिया के लिए चिंताजनक बताया था यह वेरिएंट बहुत संक्रामक है  

विश्व स्वास्थ्य संगठन में Covid-19 तकनीकी दल से जुड़ीं डाक्टर मारिया वैन केरखोव ने सोमवार को बोला था कि हिंदुस्तान में मिले B.1617 वेरिएंट को पहले नज़र वाली श्रेणी में रखा गया था संगठन लगातार इस वेरिएंट से होने वाले संक्रमण से संबंधित जानकारियों पर नजर बनाए हुए है हिंदुस्तान समेत कई राष्ट्रों में इस वायरस के फैलने को लेकर कई शोध हो रहे हैं वेरिएंट को लेकर मौजूद जानकारी और इसके बहुत संक्रामक होने के कारण इसे चिंताजनक वेरिएंट की श्रेणी में रखा गया है


तेज बारिश को लेकर दिल्ली समेत इन राज्यों के लिए जारी किया गया अलर्ट

तेज बारिश को लेकर दिल्ली समेत इन राज्यों के लिए जारी किया गया अलर्ट

देश के अधिकतर राज्यों में मानसून ने दस्तक दे दी है। शायद ही कभी मानसून 25 जून से पहले पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में पहुंचता हो। लेकिन इस बार मानसून ने पहाड़ी क्षेत्रों में समय से पहले दस्तक दी है। रविवार 13 जून को तेजी से आगे बढ़ रही मानसूनी हवाओं ने उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाकों में पहुंच गया हैं। यह 21 साल में पहली बार हुआ जब यहां मानसून 25 जून से पहले पहुंचा है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के पूर्वानुमान के अनुसार, अगले 2 से 3 दिनों तक उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है। दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के साथ ही गरज और तेज हवाएं के साथ बारिश होने की संभावना है। इसके लिए आइएमडी ने ऑरेंट अलर्ट जारी किया है।

15 जून से दिल्ली सहित कई अन्य राज्यों में होगी तेज बारिश


मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि दक्षिण-पश्चिम मानसून हिमाचल प्रदेश के सभी हिस्सों में पहुंच गया है। पिछले साल यह 24 जून को राज्य में पहुंचा था। उन्होंने बताया कि यह मानसून राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित 15 जून तक उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ और हिस्सों में आने की उम्मीद है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के रविवार के अपडेट के अनुसार, अगले 48 घंटों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों और दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।

 
मानसून के चलते उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में गुरुवार की सुबह तक भारी बारिश होगी। इसके अलावा, उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों में लगातार दो दिनों, यानी 14 और 15 जून को भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई है।

समय से पहले आया मानसून

21 वर्षों बाद यह पहली बार हुआ है जब मानसून हिमाचल प्रदेश के साथ-साथ जम्मू -कश्मीर पहुंचा है। मौसम विभाग ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में मानसून के आने की घोषणा की है, जो कि सामान्य शुरुआत से 17 से 18 दिन पहले है।


CM योगी का निर्देश- कोरोना के साथ बरसात के मौसम में संचारी रोग से निपटने को तैयार रहें       प्रदेश में 21 जून से 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे मॉल्स और रेस्टोरेंट, नाइट ​कर्फ्यू में भी छूट       बहुत कुछ कह रहा अंतिम नरसंहार स्थल मियांपुर, देवमतिया और सीता से जानें क्‍यों सिहर उठती हैं महिलाएं       अमीरों का घर पक्का, गरीबों को लग रहा धक्का, यहां के पंचायतों में इंदिरा आवास का हाल-बेहाल       एक तो लॉकडाउन के कारण महीनेभर बंद रही दुकान, ऊपर से जल गया सारा सामान       कैमूर के जंगल में हो रही 'जहर की खेती'; पुलिस ने जाल बिछाया तो फंस गया 'सौदागार'       ग्रामीण भारत की गर्मियों का शब्दचित्र, प्रख्यात लोकगायिका मालिनी अवस्थी की कलम से...       कैमूर ने दिखाई समझदारी और भाग गया वायरस, ढूंढने पर भी नहीं मिला एक भी कोरोना पॉजिटिव       बिहार LJP में चिराग के फैन्‍स की कमी नहीं, पशुपति पारस पर फूट रहा गुस्‍सा       कोरोना वायरस हमारे बीच है, जल्द लगवाएं वैक्सीन : राहुल गांधी       तेज बारिश को लेकर दिल्ली समेत इन राज्यों के लिए जारी किया गया अलर्ट       कोरोना वायरस का नया वैरिएंट 'डेल्टा+' आया सामने, जानें       केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मानसून सीजन की तैयारियों को लेकर बैठक की       स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 20 राज्यों में 5,000 से कम सक्रिय मामले       भारतीय सैन्य पुलिस में खुला नेपाली महिलाओं के लिए रास्ता       वियतनाम पहुंचेेगी जापान की ओर से भेजी गई कोरोना वैक्सीन की खेप       आर्मी कैंप में आत्मघाती हमला, 15 की मौत, बढ़ सकता है मौतों का आंकड़ा       पूरी दुनिया के लिए ये है एक अच्‍छी खबर, आपको भी पढ़कर लगेगा बहुत अच्‍छा       यरुशलम में मार्च निकालेंगे यहूदी गुट, हमास ने जताई फिर से हिंसा भड़कने की आशंका       इजरायल की नई सरकार को नेतन्याहू ने बताया 'कपटी', किया वादा- जल्द करूंगा सत्ता में वापसी