आखिर ऐसा क्या हुआ कि डर से कांपे लोग, चारों तरफ मची अफरा-तफरी

आखिर ऐसा क्या हुआ कि डर से कांपे लोग, चारों तरफ मची अफरा-तफरी

नई दिल्ली: दुनियाभर के अलग-अलग देशों में आए दिन भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। बार-बार भूकंप आने की वजह से दुनिया के लोगों के मन में खौफ बैठ गया है। भूकंप ने वैज्ञानिकों को भी चिंता में डाल दिया है। वैज्ञानिक शोध करन में लगे हुए हैं कि भूकंप इतनी जल्दी-जल्दी क्यों आ रहा है और इसका क्या कारण है।

अब मंगोलिया में भूकंप के तेज झटके महसूस किए हैं। रिक्टर स्केल पर इसी तीव्रता 6.8 मापी गई है। फिलहाल जान-माल के नुकसान को लेकर कोई खबर नहीं मिली है। मंगलवार को स्‍थानीय समय के अनुसार सुबह 5 बजकर 33 मिनट भूकंप के झटके महसूस किए गए। यह रूस-मंगोलिया सीमा पर आया है।

भूकंप का केंद्र रूस की सीमा से करीब 55 किलोमीटर या मंगोलिया के उत्‍तरी दक्षिण क्षेत्र के इरकुत्स्क से 288 किमी की दूरी पर खोव्सग्ल झील में था। जिस क्षेत्र में भूकंप आया है वहां ज्यादा घनी आबादी नहीं है। हालांकि झील के पास के कई गांव हैं जिसमें हैटल और टर्ट शामिल हैं। यहां की आबादी करीब 5,000 है, अभी फिलहालहताहतों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।

अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने कहा कि भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर 6.8 थी। यह अभी तक यह झील के आसपास के क्षेत्र में आए सबसे तेज भूकंपों में से एक था। भूकंप जमीन में 10 किलोमीटर गहराई में था।

सोमवार को भारत में भी लगे भूकंप के झटके
इस पहले भारत के जम्मू-कश्मीर में सोमवार को तेज भूकंप के झटके महसूस किये गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.1 मापी गयी है। जम्मू संभाग के उधमपुर, डोडा, किस्तवाड़, पुंछ के साथ ही कश्मीर घाटी में भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने बताया था रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 5.1 मापी गई।


एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील

एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के कटु आलोचक एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर यूरोपियन यूनियन ने नाराजगी जताई है। यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने रूसी अधिकारियों से विपक्ष के नेता एलेक्सी नवलनी को रिहा करने का आग्रह किया है। नवलनी को कैद की उनकी निलंबित सजा की शर्तों के कथित उल्लंघन करने को लेकर गिरफ्तार किया गया है। नवलनी 20 अगस्त को साइबेरिया से मास्को जाने के दौरान एक विमान में गंभीर रूप से बीमार पड़ गये और कोमा में चले गये थे।

मिशेल ने ट्वीट किया, 'मॉस्को पहुंचने पर एलेक्सेई नवलनी की हिरासत अस्वीकार्य है। मैं रूसी अधिकारियों से उन्हें तुरंत रिहा करने की अपील करता हूं।' रविवार को जर्मनी की राजधानी बर्लिन से इलाज कराकर रूस वापस लौटते ही नवलनी को गिरफ्तार कर लिए गया था। रूसी अधिकारियों ने पहले ही साफ कर दिया था कि एक पुराने मामले में उनकी गिरफ्तारी हो सकती है।

एलेक्सेई नवलनी को अगस्त में जहर दिया गया था, जिसके चलते वह गंभीर रूप से बीमार पड़ गये थे और बेहतर इलाज के लिए उन्हें जर्मनी ले जाया गया था। उन्होंने इस घटना के लिए क्रेमलिन (रूस के राष्ट्रपति भवन) को जिम्मेदार ठहराया था। नवलनी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर आरेाप लगाया कि वह उन्हें नये कानूनी प्रस्तावों द्वारा अब घर लौटने से रोक रहे हैं। क्रेमलिन ने विपक्ष के नेता को जहर देने में अपनी भूमिका होने की बात से बार-बार इनकार किया है।

दिसंबर के अंत में संघीय कारागार सेवा ने यह मांग की थी कि नवलनी गबन और धन शोधन के आरोपों में 2014 में दोषी ठहराये जाने को लेकर एक निलंबित सजा के मामले में उसके कार्यालय में रिपोर्ट करें। साथ ही, चेतावनी दी थी कि उपस्थित होने में नाकाम रहने पर उन्हें जेल में डाल दिया जाएगा


चीन की कुटिल वैक्‍सीन डिप्‍लोमेसी के खिलाफ भारत ने खींची लंबी रेखा       एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील       महाराष्ट्र, हरियाणा में मुर्गियों को मारने का सिलसिला जारी       सूरत से कोलकाता जा रहा इंडिगो विमान का भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग       कानून रद करने के अलावा विकल्प बताएं किसान संगठन, 10वें दौर की वार्ता 19 को : कृषि मंत्री       केंद्र सरकार ने बदली रणनीति, अब हर राज्य के लिए कोविड टीकाकरण के दिन तय, जानें       कोविड वैक्‍सीन के हल्‍के दुष्‍प्रभावों को लेकर डरने की जरूरत नहीं, जानें       वृष राशि के जातक को नौकरी में मिलेंगे नए अवसर, जानें आज का राशिफल       20 हजार से भी कम कीमत में मिल रही ये स्मार्ट TV, जानें फीचर्स       सर्दियों में खूब खाएं अमरूद, बढ़ेगी रोग-प्रतिरोधक क्षमता       शेन वॉर्न ने ऋषभ पंत का उड़ाया मजाक       Bigg Boss 14: दर्दनाक हादसे में टैलेंट मैनेजर की मौत       चीन ने यहां चुपके से बना दी कई KM लंबी नई सड़क, भारत के लिए खतरे की घंटी       राज्यों में बरसेगा कहर, और बढ़ेगी ठंड चलेगी बर्फीली हवा       कांग्रेस ने वैक्सीन धंधे पर सरकार को घेरा, बेल्जियम को सस्ती तो भारत में महंगी क्यों?       CBI का बड़ा एक्शन, रेलवे में भ्रष्टाचार का खुलासा!       वैक्सीन पर आखिर क्यों हो रहा है विवाद, जानें       कर्नाटक में गरजे अमित शाह, वैक्सीन पर कांग्रेस को घेरा       झारखंड सरकार का सिर दर्द बने पारा शिक्षक       अब fastag को whatsapp से करें ऑर्डर, जानें