संघीय न्यायाधीश ने ट्रंप के अभियान की ओर से पेनसिल्वेनिया में दायर मुकदमे को खारिज किया

संघीय न्यायाधीश ने ट्रंप के अभियान की ओर से पेनसिल्वेनिया में दायर मुकदमे को खारिज किया

वाशिंगटन। अमेरिका में एक संघीय न्यायाधीश ने देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अभियान की ओर से पेनसिल्वेनिया में दायर उस मुकदमे को खारिज कर दिया है जिसमें लाखों मतों को अवैध घोषित करने की मांग की गई थी। न्यायाधीश ने कहा कि आरोप अटकलों पर आधारित हैं। यूएस मिडल डिस्ट्रिक्ट ऑफ पेनसिल्वेनिया के न्यायाधीश मैथ्यू ब्रान ने ट्रंप अभियान का अनुरोध शनिवार को खारिज कर दिया, जिससे तीन नवंबर को हुए चुनाव के परिणामों को चुनौती देने के राष्ट्रपति ट्रंप के प्रयासों को खासा झटका लगा है। 

राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन विजयी रहे हैं। न्यायाधीश ब्रान ने कुछ दिन पहले आरोप लगाया था कि उन्हें फोन कॉल करके परेशान किया जा रहा है। उन्होंने अपने फैसले में कहा कि ट्रंप अभियान ने ‘‘तोड़-मरोड़ कर और बिना आधार के कानूनी दलीलें’’ पेश कीं और अटकलों पर आधारित आरोपों के समर्थन में सबूत पेश नहीं किए। ट्रंप अभियान ने मतदान प्रक्रिया में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए इस महीने की शुरुआत में मुकदमा दायर किया था। नव-निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन ने पेनसिल्वेनिया में ट्रंप को 81,000 से भी अधिक मतों के अंतर से पछाड़ दिया। इस महत्वपूर्ण राज्य में 20 इलेक्टोरल कॉलेज वोट हैं। न्यायाधीश ब्रान ने अपने फैसले में कहा, ‘‘यह अदालत ऐसा कोई आधार नहीं समझ सकी है जिसके तहत वादी ने चुनाव में इतने व्यापक सुधार की मांग की है।


किम जोंग उन ने लगवाई कोविड-19 वायरस की वैक्सीन : रिपोर्ट

किम जोंग उन ने लगवाई कोविड-19 वायरस की वैक्सीन : रिपोर्ट

उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग उन ने गुपचुप ढंग से कोविड-19 वायरस की वैक्सीन लगवा ली है. 19fortyfive.com ने जापान के दो खुफिया सूत्रों के हवाले से किम जोंग के वैक्सीन लगवाने का दावा किया है. इस रिपोर्ट के अनुसार, किम जोंग उन के साथ-साथ उत्तर कोरिया के कई उच्चाधिकारियों और स्वयं किम के परिवार के लोगों ने भी कोविड-19 का टीका लगवा लिया है.

इस रिपोर्ट में इस बात का भी खुलासा किया गया है कि चाइना सरकार ने गुप्त ढंग से उत्तर कोरिया को कोविड-19 वैक्सीन की आपूर्ति की है. बीते दो से तीन हफ्ते के अंदर ही किम जोंग और दूसरे लोगों को वैक्सीन लगाई है. इससे पहले एक रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया था कि एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन का डाटा हैक करने के पीछे उत्तर कोरिया पर शक जताया जा रहा है. बता दें कि उत्तर कोरिया में कोविड-19 का प्रकोप चरम पर है.

हालांकि आधिकारिक तौर पर देश में कोविड-19 मरीजों की तादाद कितनी है, इसका कोई आंकड़ा नहीं है. उत्तर कोरिया की एक बड़ी आबादी पहले से ही गरीबी की मार झेल रही है और कोविड-19 के बाद देश में आर्थिक स्थिति ठीक नहीं चल रहे हैं. वहीं उत्तर कोरिया कई तरह के वित्तीय प्रतिबंधों का भी सामना कर रहा है. जनवरी में उत्तर कोरिया ने अपनी सीमाएं सील कर दी थीं. पिछले महीने एक रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया था कि उत्तर कोरिया ने कोविड-19 संक्रमियों को गोपनीय कैंप में भूखे मरने के लिए छोड़ दिया था.


आद‍ित्य नारायण की शादी, गाजे-बाजे के साथ निकली बारात…       OMG! समंदर किनारे मस्ती करती नजर आई ये एक्ट्रेस       इस अवतार में इस एक्ट्रेस ने मचाया तहलका, हाथ में ​ग्लास और हुस्न जैसे आग…देखें फोटो       इलायची वाली चाय रामबाण हैं इस बीमारी के लिए       काम के दबाव में भी ऊर्जापूर्ण रहें, अपनाएं ये तरीके       इस बीमारी के लिए रामबाण हैं इलायची वाली चाय       नही जानते होगे आप सरसों के तेल से होने वाले ये बेहतरीन लाभ       लाल रंग के फल और सब्जियों के फायदे जानकर दंग रह जाएगे आप       सर्दियों में आपके लिए किसी वरदान से कम नही हैं लहसुन       बकरी के दूध से होने वाले फायदे जानकर चौक जाएगे       यदि आप बदलते मौसम में साइनस की समस्या से हैं परेशान       पीरियड में होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए पिएं अदरक वाली चाय       किसी औषधी से कम नही हैं आपके के लिए काला लहसुन       आंखों को स्वस्थ रखने के लिए करें ये एक्सरसाइज       सुबह- सुबह धनिया का पानी पीने के ये पांच जबरदस्त फायदे       हंसने-मुस्कराने से कम फायदेमंद नहीं झूमना-नाचना       पीरियड्स में देरी के हो सकते हैं ये कारण, जानें       इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन       क्यों नहीं पिलाना चाहिए बच्चो को प्लास्टिक की बोतल में दूध       सेहत के लिए किसी वरदान से कम नही है इसका बीज