अफगानिस्तान पहुंचे Imran Khan का विरोध-प्रदर्शन से हुआ स्वागत

अफगानिस्तान पहुंचे Imran Khan का विरोध-प्रदर्शन से हुआ स्वागत

काबुल: पाक के पीएम इमरान खान (Imran Khan) की यात्रा को लेकर अफगानिस्तान (Afghanistan) में विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं गुरुवार को भारी संख्या में लोगों ने काबुल की सड़कों पर उतरकर पाक के विरूद्ध नारेबाजी की प्रदर्शनकारियों के हाथों में बैनर और पोस्टर थे, जिन पर लिखा था, 'पाकिस्तान आतंकवाद का जनक, प्रायोजक और निर्यातक है’ 

कई स्थान प्रदर्शन
प्रदर्शनकारियों ने पाक विरोधी नारे लगाये और बोला कि पाक को हिंसा फैलाना बंद करना चाहिए बता दें कि पाकिस्तानी पीएम इमरान खान अपने कुछ मंत्रियों के साथ अफगानिस्तान दौरे पर हैं वैसे, इस तरह के प्रदर्शन केवल काबुल में ही नहीं दक्षिण पश्चिम पाकटिया और खोस्ट प्रदेश में भी हो रहे हैं  

अस्थिर करना चाहता है पाक
इमरान खान अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) के साथ शांति प्रक्रिया और द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा के लिए अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर गुरुवार को काबुल पहुंचे हैं इमरान का दौरा ऐसे समय हुआ है जब अफगान और तालिबान (Taliban) के बीच चल रही वार्ता के बावजूद हिंसा जारी है लंबे समय से यह माना जाता रहा है कि पाक अफगानिस्तान को अस्थिर करने के लिए वहां आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देता है

शांति का ढोंग कर रहे इमरान 
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान में सक्रिय 6,500 पाकिस्तानी आतंकियों में से अधिकतर तहरीक-ए-तालिबान पाक (टीटीपी) के हैं अफगान के लोग भी यह मानते हैं कि उनके देश में होने वाली आतंकवादी गतिविधियों में पाक का हाथ है इसलिए वह इमरान की यात्रा का विरोध कर रहे हैं उनका बोलना है कि इमरान यहां शांति के प्रयासों का ढोंग करने के लिए आये हैं

EFSAS की रिपोर्ट ने दिखाई सच्चाई
हाल ही में यूरोपीय थिंक टैंक यूरोपीयन फाउंडेशन फॉर साउथ एशियन स्टडीज (EFSAS) की रिपोर्ट में भी यही दर्शाया गया था कि पाक अफगानिस्तान में चल रही तालिबानी हिंसा को भड़काने की प्रयास कर रहा है मालूम हो कि अफगान सरकार की तालिबान से शांति बातचीत चल रही है, लेकिन तालिबान ने पूरी तरह से युद्ध विराम नहीं किया है पाक तालिबान से शांति बातचीत में अहम किरदार निभा रहा है


World Corona: रूस में अगले हफ्ते से शुरू होंगे वैक्सीन लगाने का कैम्पेन, राष्ट्रपति पुतिन ने आदेश दिए

World Corona: रूस में अगले हफ्ते से शुरू होंगे वैक्सीन लगाने का कैम्पेन, राष्ट्रपति पुतिन ने आदेश दिए

मॉस्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने अगले हफ्ते से देश में कोरोना की वैक्सीन लगाने का अभियान शुरू करने के निर्देश दिए हैं। पुतिन ने डिप्टी पीएम तात्याना गोलिकोवा से कहा कि इस पर सहमति बनाएं। आप अगले हफ्ते मुझे रिपोर्ट न करें, लेकिन मास वैक्सीनेशन शुरू करा दें।

रूस में बनी वैक्सीन स्पूतनिक V ट्रायल के दौरान कोरोना से लड़ने में 95% असरदार साबित हुई है। यह वैक्सीन गैमेलिया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी ने तैयार की है। रूस के लोगों को इसे फ्री में लगाया जाएगा। दूसरे देशों के लिए इसकी कीमत 700 रुपए से कम होगी। यह कीमत दूसरी वैक्सीन के मुकाबले काफी कम है।

20 लाख से ज्यादा खुराक तैयार
पुतिन ने कहा कि स्पूतनिक वी वैक्सीन की 20 लाख से ज्यादा खुराक तैयार कर ली गई हैं। उन्होंने आज अधिकारियों को निर्देश दिया कि अगले हफ्ते से टीकाकरण संबंधी सारी तैयारियां पूरी कर लें।

रूस ने 11 अगस्त को ही टीका तैयार कर लेने का किया था एलान
बता दें कि रूस ने बड़े पैमाने पर टीकाकरण का एलान ऐसे वक्त किया है, जब फाइजर, मॉडर्ना समेत कई कंपनियां अपने टीके के आपात इस्तेमाल की मंजूरी हासिल करने में तेजी से जुटी हैं। गौरतलब है कि रूस ने दुनिया में सबसे पहले 11 अगस्त को ही कोरोना का टीका स्पूतनिक वी तैयार कर लेने का एलान किया था। पुतिन ने तब कहा था कि शुरुआती दौर में जोखिम वाली सेवाओं में लगे लोगों को यह टीका दिया जाएगा।

रूस में बीते 24 घंटे में कोरोना के 25345 नए मामले, 589 लोगों की मौत
वर्ल्ड-ओ-मीटर के आंकड़ों के मुताबिक, रूस में बीते 24 घंटे में कोरोना के 25,345 नए मामले सामने आए हैं और 589 लोगों की मौत हो गई है। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 2,347,401 हो गई है, जिसमें 1,830,349 लोग ठीक हो चुके हैं,  41053 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं, यहां सक्रिय मामलों की संख्या 475,999 है। 


Horoscope 2021: जानिए कैसा रहने वाला नए साल में आपका भविष्य व क्या आएंगी खुशियां ?       ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस पार्टी ने किसानों का समर्थन करते हुए सरकार को दी यह बड़ी धमकी!       आंदोलन कर रहे किसानों ने नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए केन्द्र सरकार को दी यह बड़ी सलाह       झारखंड में अब Covid19 की RT पीसीआर जाँच के लिए करना होगा केवल इतने रूपए खर्च, जाने       आंदोलन कर रहे किसानों ने केन्द्र सरकार को राजधानी की सड़को पर दी यह बड़ी धमकी       एजुकेशन मंत्रालय ने मातृ भाषा में तकनीकी एजुकेशन सहित इन पाठ्यक्रमों को देने के लिए बनाया यह रोडमैप, जाने       भाजपा द्वारा एक करोड़ से अधिक परिवारों तक पहुंचकर ममता बनर्जी की नाकामियों पर चर्चा : दिलीप घोष       सीबीएसई के ऑफिसरों ने 2021 में बोर्ड के औनलाइन संचालन से किया इंकार, जाने अब कैसे होंगी परीक्षाएं        Covid-19 : इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप कर रहे शहद का सेवन तो हो जाए सावधान, जाने       पंजाब के सीएम ने कहा, ‘डरकर केंद्रीय कानूनों की अधिसूचना जारी करने के बजाय केजरीवाल.....       महिला कांस्टेबल पर एसिड अटैक मामले में दोषियों को 14 वर्ष कैद की सजा       ईडी के डर से कैप्टन ने कृषि बिल का नहीं किया विरोध, किसानों को जेल में बंद करने का था केंद्र का प्लान: अरविंद केजरीवाल       किसानों के समर्थन में ट्रांसपोर्टरों ने आठ दिसंबर से उत्तर भारत में परिचालन बंद करने की धमकी दी       भारत में बिकने वाले बड़े ब्रांड के शहद में चीनी शरबत की मिलावट: सीएसई अध्ययन का दावा       असल जिंदगी में उबाऊ हूं मैं, विदेश नीति पढ़ने में बिताती हूं समय - एंजेलिना जोली       किम कार्दशियां ने अपने इंस्टाग्राम और फेसबुक अकाउंट फ्रीज किए       मुझे बचपन में गलत तरीके से छुआ गया था : एजाज खान       बहन श्वेता ने सुशांत का वीडियो शेयर कर न्याय मांग की       कंगना ने कृषि कानून को लेकर किया पीएम मोदी का समर्थन तो जस्सी को आया गुस्सा, बोले...       IND Vs AUS: आखिरी वन-डे जीतकर टीम इंडिया ने बचाई साख, सीरीज 2-1 से ऑस्ट्रेलिया के नाम