कोरोना काल के बीच गैरकानूनी तरीके से विदेश में रह रहे लोगों की गई नौकरी

कोरोना काल के बीच गैरकानूनी तरीके से विदेश में रह रहे लोगों की गई नौकरी

ज्यादा पैसे कमाने के चक्कर में जो लोग अपने वतन को छोड़ बाहर विदेश में काम कर रहे है अब उनके लिए काफी मुश्किलें आ गई है। बता दें कि कोरोना महमारी के कारण कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ गई है जिसके कारण जो लोग गैरकानूनी तरीके से विदेश जाकर पैसे कमा रहे थे अब वापस भारत लौटने को मजबूर हो रहे है। जानकारी के मुताबिक कई भारतीय ज्यादा पैसे कमाने के चक्कर में अपने परिवार से दूर लंदन, कनाडा , सिंगापूर और दुबई समेत कई अन्य देशों में चले जाते है। लेकिन कोरोना काल में काम-धंधा ठप पड़ जाने से अब यहीं लोग कानूनी तरीके से वापस भारत लौट रहे है।

बता दें कि ऐसे 10 से अधिक मामले कुछ ही दिनों में आईजीआई एयरपोर्ट पर सामने आ गए है। इसमें से कुछ मामलों में तो फर्जी पासपोर्ट-वीजा पर किसी तरह से लंदन जाने में कामयाब हो गया शख्स करीब 14 साल बाद वतन लौट रहा है। शख्स के मुताबिक, 14 सालों बाद अब वह अपने मां, बाप और पत्नी से मिल पाएगा। शख्स लंदन में राजमिस्त्री का काम करता था। वहीं होशियारपुर के रहने वाले एक शख्स 11 दिसंबर 2010 को फर्जी पासपोर्ट-वीजा के जरिए न्यूयॉर्क जाने में कामयाब हो गया था।लेकिन अब इस कोरोना काल में शख्स की नौकरी छूट जाने के कारण भारत वापसी की तैयारी में जूट गया है।

आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी राजीव रंजन ने कहा कि कोरोना काल में ऐसे कई मामले देखने को मिल रहे है। कनाडा, सिंगापुर, और दुबई में ड्राइवरी करने और अन्य छोटे-मोटे काम करने वाले भारतीय की विदेशों में    कमाई बंद होने के बाद भारतीय एंबेसी जाकर सरेंडर करने को मजबूर हो गए है।