अमेरिका, ब्राजील, आस्‍ट्रेलिया और ब्रिटेन में जानें कैसा है कोरोना का हाल

अमेरिका, ब्राजील, आस्‍ट्रेलिया और ब्रिटेन में जानें कैसा है कोरोना का हाल

पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमण का दायरा बढ़ रहा है। एशिया, यूरोप, उत्‍तरी और दक्षिणी अमेरिका, अफ्रीका समेत आस्‍ट्रेलिया में भी एक जैसा ही हाल दिखाई दे रहा है। कई देशों में इसकी तीसरी, चौथी या पांचवीं लहर तक सामने आ रही है। दक्षिण अमेरिका की ही बात करें तो यहां पर ब्राजील से सबसे अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। इसके बाद अर्जेंटीना, कोलंबिया, मैक्सिको, पेरू, चिली, इक्‍वाडोर, बोल्विया, पैराग्‍वे, पनामा आदि हैं। रॉयटर के मुताबिक लेटिन अमेरिका के देशों में कोरोना संक्रमण्‍ के कुल मामले 41081000 हैं जबकि 1377000 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है।

आईएएनएस के मुताबिक ब्रिटेन में 17 मार्च के बाद से एक दिन में सबसे अधिक कोरोना से मौतें दर्ज की गई हैं। सरकार के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान यहां 138 मौत हुई हैं, जिसके बाद यहां पर मौतों का आंकड़ा 129881 हो गया है। देश में कोरोना के नए मामले 21691 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद यहां पर कोरोना के कुल मामले 5,923,820 हो गए हैं।


अमेरिका कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बाहर से आने वाले माइग्रेंट्स को भी कोरोना वैक्‍सीन की खुराक देने पर विचार कर रहा है। यहां पर न्‍यूयॉर्क में रेस्‍तरां, जिम और दूसरे व्‍यापारिक संस्‍थानों में जाने वालों को पहले कोरोना वैक्‍सीन लगी है इसका सर्टिफिकेट दिखाना होगा। पूरे अमेरिका में अब तक 347,377,149 वैक्‍सीन की खुराक दी जा चुकी हैं। सीडीसी के मुताबिक अमेरिका में 27 जुलाई के बाद से ही लगातार हर रोज 70 हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। 2 अगस्‍त को यहां पर 78806 मामले आए थे। 30 जुलाई को देश में 105347 मामले सामने आए थे। यहां पर कैलीफॉर्निया में सबसे अधिक मामले सामने आए हैं।

एएनआई ने बताया कि ब्राजील में बीते 24 घंटों के दौरान 32316 नए मामले सामने आए हैं और 1209 मौतें हुई हैं। इसके बाद यहां पर कोरोना के कुल मामले बढ़कर जहां 19985817 हो गए हैं वहीं मौतों का आंकड़ा 558432 पर पहुंच गया है। आपको बता दें कि अमेरिका के बाद ब्राजील में ही सबसे अधिक कोरोना से मौतें हुई हैं।

रायटर के मुताबिक आस्‍ट्रेलिया में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। यहां पर मंगलवार को इसकी वजह से एक सबसे कम उम्र के व्‍यक्ति की मौत हुई है। इसकी उम्र 20 वर्ष बताई गई है। ये मौत न्‍यूसाउथ वेल्‍स में हुई है। यहां पर कोरोना के मामले 16 माह में सर्वाधिक सामने आए हैं। जानकारी के मुताबिक यहां पर बीते 24 घंटों के दौरान 233 नए मामले सामने आए हैं। सिडनी में बढ़ते मामलों की वजह से लॉकडाउन लगा हुआ है जो छठे सप्‍ताह में प्रवेश कर चुका है। यहां पर वैक्‍सीन के योग्‍य करीब 20 फीसद लोगों को इसकी खुराक दी जा चुकी है।


प्रधानमंत्री मोदी की ढाका यात्रा के दौरान हिंसा भड़काने वाला आतंकी गिरफ्तार

प्रधानमंत्री मोदी की ढाका यात्रा के दौरान हिंसा भड़काने वाला आतंकी गिरफ्तार

ढाका मेट्रोपोलिटन पुलिस की खुफिया शाखा ने आतंकी संगठन हिफाजत-ए-इस्लाम (Hefazat-e-Islam) से जुड़े रिजवान रफीक (Rezwan Rafiquee)  को गिरफ्तार किया है। उस पर मार्च में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बांग्लादेश यात्रा के दौरान ढाका में हिंसा भड़काने का आरोप है।

खुफिया शाखा के अतिरिक्त आयुक्त एकेएम हाफिज अख्तर (A.K.M. Hafiz Akhter)  ने बताया कि रफीक को शुक्रवार की रात मुग्दा (Mugda) इलाके से गिरफ्तार किया गया है। ढाका में 26 मार्च को हुई हिंसा के सिलसिले में उसके खिलाफ पलटन थाने (Paltan Police Station) में मुकदमा दर्ज किया गया था। वह पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे का विरोध कर रहा था। अख्तर ने बताया कि रिजवान ने फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर  भड़काऊ पोस्ट साझा की थी और दूसरे इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म पर भी उसने आतंकी संगठनों के शीर्ष सरगनाओं का समर्थन किया था।


इसी साल मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांग्लादेश का दो दिवसीय दौरा किया। कोरोना काल शुरू होने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा रही। अपनी इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री बांग्लादेश की आजादी की 50वीं सालगिरह के जश्न में भी शामिल हुए। इस अवसर पर ढाका में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-बांग्लादेश संबंधों, दोनों देशों की साझी विरासतों और साझा लक्ष्यों पर विस्तार से बात की। प्रधानमंत्री मोदी ने बांग्लादेश की आजादी में भारत की भूमिका, भारतीय सैनिकों के बलिदान और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की भूमिका का भी उल्लेख किया।


इसके अलावा प्रधानमंत्री ने मुक्ति संग्राम के दौरान पाकिस्तानी सेना के अत्याचारों और नरसंहार का जिक्र कर कहा कि उन अत्याचारों और दमन की दुनिया में उतनी चर्चा नहीं होती, जितनी होनी चाहिए। दोनों देशों के मजबूत संबंधों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत और बांग्लादेश दोनों ही लोकतांत्रिक देश हैं और हमारी विरासत भी साझी है, हमारा विकास भी साझा है, हमारे लक्ष्य भी साझे हैं और हमारी चुनौतियां भी साझा हैं। व्यापार और उद्योग में हमारे सामने एक जैसी संभावनाएं हैं तो आतंकवाद जैसे समान खतरे भी हैं।