अर्थव्यवस्था में स्लोडाउन इस बीमारी की वजह से हो रहा प्रारम्भ, जाने

अर्थव्यवस्था में स्लोडाउन इस बीमारी की वजह से हो रहा प्रारम्भ, जाने

दुनिया के चर्चित लोगों में शामिल शेक्सपियर ने बोला था, 'नाम में क्या रखा है। ', लेकिन नाम का बहुत महत्व है। इसी वजह से भूमि पर तबाही लाने वाले तूफान व खतरनाक बीमारियों के नाम तक दिए जाते हैं।

समुद्री तूफानों के विचित्र नाम अक्सर हमारे सामने आते रहते हैं, लेकिन इस बार एक नाम पूरी संसार के सामने आया है 'कोविड-19 (सीओवीआइडी)'। इस नाम से इस समय संसार खौफ में है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि 1100 से अधिक लोग आधिकारिक रूप से इस बीमारी के शिकार बन चुके हैं, जबकि हजारों लोग संक्रमित हैं व संसार की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में स्लोडाउन इस बीमारी की वजह से आ गया है। आप ठीक सोच रहे हैं हम बात कर रहे हैं नोवल कोरोना वायरस की, जिसे कोविड-19 (सीओवीआइडी) लिखा जाएगा व संक्षेप में एनसीओवी-19. निश्चित रूप से आपके दिमाग में सवाल होगा कि क्यों व कैसे किसी बीमारी को कोई नाम दिया जाता है।

पहले एक ही बीमारी को संयुक्त देश संघ के गठन से संसार में भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता था, जिसकी वजह से कई बार भ्रम की स्थिति हो जाती थी। इस समस्या का निदान दुनिया स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने निकाला। अब यह डब्ल्यूएचओ की जिम्मेदारी है कि वह किसी नयी बीमारी को एक नाम दे, ताकि सभी शोध संस्थानों व अस्पतालों को एक मानक मिले। इससे उपचार में बहुत ज्यादा मदद भी मिलती है।