हमले में बिछी लाशें: हथियार बनी कार ने मचाया कहर

हमले में बिछी लाशें: हथियार बनी कार ने मचाया कहर

दक्षिण-पश्चिमी जर्मन शहर ट्राइएर में एक कार हमले में 9 महीने के बच्चे सहित कम से कम चार लोगों की मौत हो गई। इस घटना में एक अंधाधुंध रफ्तार मे आई एसयूवी ने पैदल चलने वालों रौंद दिया। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने संदिग्ध ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया, जो 51 वर्षीय एक जर्मन था जो इसी क्षेत्र में रहता था। हालांकि इस घटना का हथियारों के रूप में इस्तेमाल किए गए वाहनों के साथ पिछले आतंकवाद के हमलों से कोई संबंध नहीं है। पुलिस ने कहा कि उनके पास संभावित राजनीतिक, धार्मिक या आतंकवादी उद्देश्यों का कोई सबूत नहीं है।

सिर्फ भयानक
राज्य के आंतरिक मंत्री रोजर लेवेंट्ज़ ने कहा इस घटना में कम से कम 15 लोग घायल हो गए, चार गंभीर रूप से घायल हैं। पकड़ा गया संदिग्ध व्यक्ति, नशे में था और उसकी जांच अभी जारी है।

फिलहाल कार चालक के उद्देश्य व हताहतों की संख्या को लेकर अभी कुछ स्पष्ट नहीं है। ऑनलाइन पोस्ट किए गए वीडियो में एक व्यक्ति को जमीन पर पिन करते हुए दिखाया गया है।

शहर के मेयर, वोल्फ़्राम लीब ने कहा “हम अक्सर टीवी पर ऐसी छवियां देखते हैं, और सोचते हैं,’ हमारे यहाँ ऐसा नहीं हो सकता है, ” “लेकिन अब यह ट्रायर में हुआ है।” उन्होंने घटनास्थल के दृश्य को “सिर्फ भयानक” कहा।

आँसूओं से लड़ते हुए
“एक स्नीकर था, और यह जिस लड़की का था वह मर चुका है,” उसने कहा, आँसूओं से लड़ते हुए और एक सहयोगी को माइक्रोफोन को सौंपते हुए।

हाल के वर्षों में पैदल चलने वाले क्षेत्रों में कार-रैंपिंग हमलों में फ्रांसीसी शहर नीस ऑन बैस्टिल डे भी शामिल है जहां 2016 में 86 लोगों की मौत हो गई थी और इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों द्वारा इस घटना को करने का दावा किया गया था। बाद में बर्लिन क्रिसमस बाजार पर एक ट्रक हमले में 12 लोगों की मौत हो गई थी।


तेजस विमानों में कई देशों ने दिखाई दिलचस्‍पी, चीन के जेएफ-17 की तुलना में हैं बेहतर

तेजस विमानों में कई देशों ने दिखाई दिलचस्‍पी, चीन के जेएफ-17 की तुलना में हैं बेहतर

नई दिल्ली। स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस को खरीदने में कई देशों ने दिलचस्पी दिखाई है। अगले कुछ वर्षों में विदेश से पहला ऑर्डर मिलने की उम्मीद है। यह कहना है तेजस विमान का निर्माण करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक आर. माधवन की। प्रेट्र के साथ साक्षात्कार ने माधवन ने कहा कि भारतीय वायुसेना को 48,000 करोड़ रुपये के सौदे के तहत मार्च, 2024 से तेजस विमानों की आपूर्ति शुरू हो जाएगी। वायुसेना ने 83 तेजस विमान खरीदे हैं।

उन्होंने कहा कि कुल विमानों की आपूर्ति तक वायुसेना को हर साल 16 विमान दिए जाएंगे। भारतीय वायुसेना और एचएएल के बीच पांच फरवरी को एयरो इंडिया एक्सो के दौरान इस सौदे पर औपचारिक रूप से हस्ताक्षर किए जाएंगे और इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी मौजूद रहेंगे। 

एचएएल के चेयरमैन ने कहा, चीन के जेएफ-17 की तुलना में बेहतर हैं तेजस मार्क-1ए विमान

माधवन ने कहा कि चीन के जेएफ-17 लड़ाकू विमान की तुलना में तेजस मार्क-1ए के प्रदर्शन का स्तर बहुत बेहतर है। जेएफ-17 की तुलना में तेजस की तकनीक तो अच्छी है ही इसमें बेहतर इंजन, रडार प्रणाली और इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट भी लगे हैं। तेजस की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें हवा से हवा में ही ईंधन भरा जा सकता है, जबकि चीनी विमान में यह सुविधा नहीं है। माधवन ने कहा कि शुरू में वायुसेना को चार विमान की आपूर्ति की जाएगी। उसके अगले साल यानी 2025 से हर साल 16 विमान दिए जाएंगे। 

उन्होंने बताया कि एलसीए प्लांट का दूसरा चरण भी पूरा हो गया है। हर साल 16 से ज्यादा विमानों का निर्माण करने की योजना है, ताकि विदेश से ऑर्डर मिलने पर उसे तय समय के भीतर पूरा किया जा सके। इस महीने की 13 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समित की बैठक में भारतीय वायुसेना के लिए एचएएल से 73 तेजस मार्क-1ए विमान और 10 एलसीए तेजस मार्क-1 प्रशिक्षण विमान खरीदने को मंजूरी दी गई थी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक लड़ाकू विमान की कीमत 309 करोड़ और प्रशिक्षण विमान की कीमत 280 करोड़ रुपये पड़ेगी।


BJP पर राहुल गांधी का बड़ा हमला - नागपुर का 'निकरवाला' कभी नहीं तय कर सकता किसी राज्य का भविष्य       Cold Wave India : उत्तर और मध्य भारत में अगले तीन से चार दिनों में पड़ेगी कड़ाके की सर्दी       फ्री में मिलेगा BSNL 4G सिम कार्ड, जानें पाने का तरीका       Kisan Andolan: कांग्रेस की चेतावनी, किसानों की मांग पूरी नहीं हुई तो संसद सत्र होगा हंगामेदार       Honda Grazia का Sports Edition भारत में हुआ लॉन्च, जानें आपके बजट में कितनी है फिट       रात में बच्चे को सोने नहीं देती खांसी तो इन घरेलू उपायों से दिलाएं आराम       UP पुलिस का गब्बर स्टाइल में एक और ट्वीट, पूछा- कितने आदमियों ने ये ट्वीट देखा?       सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात       बिल्ली और केकड़े का ये वीडियो देख आप हमेशा अपने काम से काम रखोगे!       शशि थरूर कांग्रेस को बता रहे थे मजबूत विपक्ष, बिशन सिंह बेदी की 'गुगली' ने बंद की बोलती!       पॉर्न देखने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, पॉप्युलर वेबसाइट का डेटा लीक       Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां       आपके मोबाइल में मौजूद है फर्जी ऐप, तो ऐसे करें असली-नकली की पहचान       नेपाल में प्रचंड धड़े ने पीएम केपी शर्मा ओली को पार्टी से निकाला, स्पष्टीकरण नहीं देने पर कार्रवाई       विवादित ढांचे को लेकर प्रकाश जावडेकर बोले, 6 दिसंबर 1992 को ऐतिहासिक गलती को किया गया ठीक       लालू प्रसाद यादव की हालत स्थिर, दिल और किडनी की है गंभीर समस्या       गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद ही ट्रैक्टर पर निकल सकेंगे किसान, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस       तेजस विमानों में कई देशों ने दिखाई दिलचस्‍पी, चीन के जेएफ-17 की तुलना में हैं बेहतर       इस साल 32 बच्चों को मिलेगा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार, पीएम मोदी करेंगे विजेताओं से बात       दिल्ली में सभी मेट्रो स्टेशनों की पार्किंग बंद, सेवाओं में आंशिक बदलाव