दिल्ली, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच मेट्रो के सीधे सम्पर्क को लेकर शुरु हुई चर्चा

दिल्ली, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच मेट्रो के सीधे सम्पर्क को लेकर शुरु हुई चर्चा

नोएडा से ग्रेटर नोएडा जाने के लिए अब मेट्रो यात्रियों को दोनों लाइनों के बीच कुछ दूरी पैदल पार करने की समस्या से निजात मिल सकती है। ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के बोर्ड ने इसके लिए व्यवहार्यता रिपोर्ट और विस्तृत परियोजना रपट (डीपीआर) बनाने के प्रस्ताव को शुक्रवार को मंजूरी दे दी। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव तथा ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष अनूप चंद्र पांडे ने बताया कि प्राधिकरण की बैठक में दिल्ली, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच मेट्रो के सीधे सम्पर्क को लेकर चर्चा की गई।

अभी दिल्ली में द्वारका से नोएडा आने वाली मेट्रो लाइन से लोगों को सेक्टर-52 के मेट्रो स्टेशन उतरकर बाहर आने के बाद कुछ दूरी पैदल चलकर ग्रेटर नोएडा जाने वाली ''एक्वा लाइन'' मेट्रो मिलती है। ऐसे में लोगों को परेशानी होती है। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए ग्रेटर नोएडा तक सीधा मेट्रो सम्पर्क बनाने का प्राधिकरण ने फैसला किया है। अध्यक्ष ने बताया कि बोर्ड की बैठक में 4,260 करोड़ का बजट पास हुआ, जो पिछले बजट से 17 प्रतिशत ज्यादा है। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में लगी स्ट्रीट लाइटों में एलईडी बल्ब लगाए जाएंगे