अमरूद की पत्तियों से करें डायबिटीज

अमरूद की पत्तियों से करें डायबिटीज

एंटीऑक्‍सीडेंट, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भरपूर अमरुद का सेवन सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। मगर क्या आप जानते हैं कि इसकी पत्तियां भी किसी आयुर्वेदिक औषधी से कम नहीं है। डायबिटीज और मोटापे से जूझ रहे लोगों के लिए तो यह किसी वरदान से कम नहीं है। चलिए आज हम आपको अमरुद की पत्तियों के कुछ ऐसे फायदे बताते हैं, जिससे जानने के बाद आप भी इसका सेवन शुरू कर देंगे।

Related image

दो तरीकों से करें सेवन

-रोजाना 2-3 अमरुद की पत्तियों को यूं ही चबा लें। इससे आप कई बीमारियों से बचे रहेंगे।
-अमरूद के 5-6 पत्ते को अच्छी तरह धोकर साफ कर लें। इसके बाद करीब 1 लीटर पानी में इन पत्तों को डालकर 10 मिनट तक उबालें और फिर पानी छानकर एक गिलास में डालें। आप स्वीटनर के रूप इसमें हल्का-सा शहद मिला सकते हैं।

अमरूद की पत्तियों के फायदे
डेंगू बुखार

मानसून में डेंगू, चिकनगुनिया का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में अगर किसी व्यक्ति को यह बीमारी हो गई है चो उन्हें अमरुद की पत्तियां चबाने के लिए दें। इसके अलावा चाय पीने से भी डेंगू, चिकनगुनिया में आराम मिलता है।

डायबिटीज

अमरूद अल्फा-ग्लूकोसिडेस नामक एंजाइम के कार्य को कम करता है, जो ब्लड में ग्लूकोज को भोजन में परिवर्तित करता है। इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में रहता है। शुगर कंट्रोल करने के लिए दिनभर में इसकी 1-2 कप चाय का सेवन करें।

कोलेस्ट्रॉल को करे कम

गलत खान-पान के कारण आजकल लोगों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या अधिक देखने को मिलती है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है। मगर इसकी पत्तियां रोजाना खाने से इसकी मात्रा कंट्रोल में रहती है।

डायरिया में फायदेमंद

डायरिया होने पर 30 ग्राम अमरूद के पत्ते और एक मुट्ठी चावल के आटे को 2 गिलास पानी में उबालें। इसे दिन में 2 बार पीने से डायरिया में राहत मिलेगी।

मोटापा घटाए

सुबह खाली पेट अमरुद की पत्तियों से बनी चाय पीने से मेटाबॉलिज्म तेज होता है और इससे पाचन क्रिया भीू दुरूस्त रहती है। इसके अलावा इसकी चाय स्टार्च को शुगर में बदलने की प्रक्रिया को रोकती हैं, जिससे वजन घटाने में काफी मदद मिलती है।

पाचन तंत्र को दुरुस्त रखें

इस चाय में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल एजेंट पाचन तंत्र को दुरुस्त रखते हैं, जिससे फूड प्वाइजनिंग, कब्ज, उल्टी और मतली जैसी समस्याएं दूर रहती हैं।

मुंह में छाले

अमरूद की पत्तियों को धोकर पानी में उबाल ले। और इस पानी को ठंडा करके मुंह में गरारे करें। ऐसा करने से दांत दर्द, मसूड़ों की सूजन और मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे।

मुंहासे की समस्‍या

एंटीसेप्‍टिक होने के कारण अमरूद की पत्तियां बैक्‍टीरिया इंफैक्शन को दूर करने में मदद करती है। इसकी ताजी पत्तों को पीसकर मुंहासो पर लगाएं और 15-20 मिनट बाद ताजे पानी से चेहरा धो लें। हफ्ते मे 2-3 बार इसका इस्तेमाल करने से मुहांसे गायब हो जाएंगे।



ब्लैकहेड्स

इसकी पत्तियों का पेस्ट बनाकर स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें। इससे ना सिर्फ ब्लैकहेड्स की समस्या दूर होगी बल्कि यह झुर्रियों को भी कम करेगा।

डैंड्रफ की समस्या

इस मौसम में डैंड्रफ की समस्या काफी देखने को मिलती है। ऐसे में आप अमरुद की पत्तियों को पीसकर उसमें नींबू का रस मिलाकर लगाएं। आपकी परेशानी कुछ समय में ही दूर हो जाएगी।

डैमेज बाल

कई बार अलग-अलग शैंपू का इस्तेमाल करने से बाल डैमेज हो जाते है। 2 कप पानी में अमरूद की पत्तियों को उबाल लें। ठंडा होने पर इसमें एवोकाडो मिक्स करके बालों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को धो लें।

झड़ते बालों की समस्या

आजकल अधिकतर लोग बाल झड़ने की समस्या से परेशान है। अमरूद की पत्तियों के पाउडर और आंवला तेल को मिक्स करके बालों में लगाएं। इससे बाल झड़ना बंद होंगे।