सोपोर में सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में इतने आतंकी ढेर

सोपोर में सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में इतने आतंकी ढेर

जम्मू एवं कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. यहां बुधवार को हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इलाके में आंतकवादियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने सोपोर के वदूरा पईन गांव में मंगलवार दोपहर घेराव कर तलाशी अभियान प्रारम्भकिया था.

नाकाबंदी कर आतंकवादियों का घेराव

पुलिस के अनुसार यह सुरक्षाबलों ने सारे इलाके की नाकाबंदी कर आतंकवादियों का घेराव किया, तभी उन्होंने फायरिंग प्रारम्भ कर दी. जिसके बाद मुठभेड़ प्रारम्भ हो गई. मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया व हथियारों और गोला-बारूद के साथ उसका मृत शरीर बरामद हुआ है. मुठभेड़ में मारे गए आतंकी की सटीक पहचान व वह किस समूह से जुड़ा था, इसका पता लगाया जा रहा है.

लोगों को घटनास्थल से दूर रहने की सलाह

पुलिस ने लोकल लोगों को घटनास्थल से दूर रहने की सलाह दी है. इसके साथ ही अधिकारियों ने ऐहतियात के तौर पर सोपोर प्रखंड में आज सभी सरकारी व व्यक्तिगत शिक्षण संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया है. क्षेत्र में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है.

संघर्ष विराम उल्लंघन में एक जवान शहीद

इससे पहले मंगलवार को जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी जवानों के अकारण प्रयत्न विराम उल्लंघन में एक जवान शहीद हो गया था. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद के अनुसार यह घटना सोमवार को शाम 5 बजे हुई. आनंद ने बोला कि इस घटना में लांस नायक मोहम्मद जावेद (28) गंभीर रूप से घायल हो गए व बाद में उनकी मृत्यु हो गई. वह बिहार के खगड़िया जिले के रहने वाले थे.

मुठभेड़ स्थल से दो आतंकियों के मृत शरीर बरामद

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मंगलवार को अंसार गजावतुल हिंद (एजीएच) संगठन से जुड़े दो लोकल आतंकी मारे गए. पुलिस सूत्रों ने बोला कि शोपियां जिले के जैनपोरा क्षेत्र के अवनीरा गांव में मुठभेड़ स्थल से दो आतंकियों के मृत शरीर उनके हथियारों के साथ बरामद किए गए. पुलिस सूत्रों ने बोला कि मारे गए आतंकियोंकी पहचान शोपियां के शकीर अहमद व कुलगाम जिले के सयार भट के रूप में की गई है, दोनों ही एजीएच संगठन से जुड़े थे. इस वर्ष 24 मई को पुलवामा जिले के त्राल इलाके में सुरक्षाबलों द्वारा एजीएच संगठन के प्रमुख जाकिर मूसा को मार गिराया गया था.