जानिए भगोड़े नीरव मोदी को लगा ये बड़ा झटका

जानिए भगोड़े नीरव मोदी को लगा ये बड़ा झटका

पीएनबी धोखाधड़ी के मुख्य अरोपी भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन उच्च न्यायालय से भी राहत नहीं मिली है। ख़ास बात यह रही है कि उच्च न्यायालय ने नीरव मोदी को जमानत देने से मना कर दिया है।

बता दें कि नीरव मोदी की चौथी बार जमानत याचिका खारिज हुई है। वहीं लंदन उच्च न्यायालय के इस निर्णय के बाद नीरव को वैसेकारागार में ही रहना पड़ेगा।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि बता दें ब्रिटेन उच्च न्यायालय ने भगोड़े नीरव मोदी की याचिका पर सुनवाई मंगलवार को ही पूरी कर ली थी। नीरव ने निचली न्यायालय के जमानत देने से मना करने के निर्णय को उच्च न्यायालय में भी चुनौती दी थी। लेकिन उसे यहां भी सफलता हाथ नहीं लगी। वहीं उसे अब न्यायालय के फैसला के बाद कारागार में ही रहना होगा।

नीरव की जमानत अर्जी तीन बार खारिज

इससे पहले वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की न्यायालय नीरव मोदी की जमानत की अर्जी तीन बार खारिज की थी व आज ब्रिटेन उच्च न्यायालय ने भी उसका यही हश्र किया है। इस तरह से उसे जमानत अर्जी के खारिज होने के मुद्दे में चौथी बार बड़ा झटका लगा है। अदालत की माने तो जमानत मिलने पर नीरव ब्रिटेन से भाग सकता है। नीरव की एडवोकेट क्लेयर मोंटगोमरी ने हाई कोर्ट में अपनी बात रखते हुए बोला था कि, 'हकीकत यह है कि नीरव मोदी विकिलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांजे नहीं हैं, जिसने इक्वाडोर के दूतावास में शरण ली है, बल्कि सिर्फ एक साधारण भारतीय जौहरी वह है। '