नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार करने पर,जज ने किया सपोर्ट बोला कि...

नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार करने पर,जज ने किया सपोर्ट बोला कि...

न्यू जर्सी से बलात्कार के मुद्दे में एक जज के निर्णय पर टकराव खड़ा हो गया है। दरअसल, 2017 में एक लड़के पर हाउस पार्टी के दौरान नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार करने का आरोप लगा था। न्यायालय के दस्तावेजों के अनुसार, 16 वर्षीय आरोपी ने बलात्कार का वीडियो बनाया व कथित तौर पर अपने दोस्तों के साथ वीडियो भी साझा किया।लड़की के कई बार आग्रह करने के बाद भी वीडियो महीनों तक शेयर होता रहा। डॉक्युमेंट्स के अनुसार, लड़के ने अपने दोस्तों को मैसेज किया था- 'जब आपका पहली बार का बलात्कारहो। '

अभियुक्त पक्ष ने कई तर्क देकर अभियुक्त के विरूद्ध जुवेनाइल के बजाय वयस्क के तौर पर ट्रायल चलाने का मांग की। हालांकि, जुलाई 2018 में एक पारिवारिक न्यायालय ने अनुरोध को अस्वीकार कर दिया व इसके पीछे जज ने जो तर्क दिया, उस पर अब अपील न्यायालय ने नाराजगी जताई है। मॉनमाउथ सुपीरियर न्यायालय के न्यायाधीश जेम्स ट्रोआनो ने बोला कि लड़के के कृत्य को जरूरी तौर पर बलात्कार नहीं बोला जा सकता है क्योंकि पारंपरिक बलात्कार मामलों में दो या दो से अधिक पुरुष शामिल होते हैं व हथियारों-बंदूकों के दम पर किसी को प्रताड़ित किया जाता है।

न्यायाधीश ने बोला है कि लड़के के विरूद्ध वयस्क के तौर पर मुकदमा नहीं चलाया जा सकता है क्योंकि वह अच्छे परिवार से ताल्लुक रखता है, जिसने उसे बेहतरीन स्कूल में डाला है।वह ईगल स्काउट से था, इम्तिहान में उसके हमेशा अच्छे नंबर आते रहे हैं व वह किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन के लिए आगे बढ़ रहा था। न्यायाधीश ने बोला है कि लड़की व उसके परिवार को सोच-समझकर लड़के के विरूद्ध आरोप लगाने चाहिए थे क्योंकि उसकी जिंदगी पर इसका बहुत बुरा असर पड़ सकता है। हालांकि, 14 जून को न्यू जर्सी सुपीरियर न्यायालय की अपील डिवीजन ने न्यायाधीश के निर्णय को पलट दिया व इस मुद्दे की सुनवाई के लिए वापस बेंच के पास लौटा दिया।