अब लखनऊ विश्वविद्यालय में पढ़ाया जायेगा तीन तलाक़, जानिए ये है वजह

अब लखनऊ विश्वविद्यालय में पढ़ाया जायेगा तीन तलाक़,  जानिए ये है वजह

ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों को लखनऊ विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग ने अपने सिलेबस में जगह दिया है। अब समाजशास्त्र संबंध में ट्रिपल तलाक जैसी व्यवस्थाओं से समाज में इस पर क्या प्रभाव पड़ रहा है व इसे लेकर लोगो क्या सोचते हैं? इसकी जानकारी के लिए इसको सिलेबस में शामिल किया गया है जिसको इस वर्ष पढ़ाया जाएगा।

Image result for तीन तलाक, जा

लखनऊ विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग ने इस विषय को अपने सिलेबस में जगह दिया है। विभाग के हेड ऑफ डिपार्टमेंट बीआर साहू का बोलना है कि तीन तलाक के बारे में आने वाले विद्यार्थियों को जानना चाहिए। तीन तलाक की सामाजिक कुरीतियों व समाज में व्यवस्था एवं इस कानून के बारे में भी पढ़ाया जाएगा। जिसके लिए खाका तैयार कर यूनिवर्सिटी कमेटी से पास होकर शिक्षा काउंसिल को पहुँचाया जा चुका है। जो इसी सत्र से शुरुआत किया जा सकेगा।

'तीन तलाक' जब भी इस विषय की चर्चा समाज में हुई कोई न कोई टकराव अवश्य सामने आया है, एक पक्ष हमेशा ही इसका समर्थन करता रहा तो, वहीं दूसरा पक्ष इसे लेकर अपना विरोध दर्ज करता रहा, हालांकि इस बात टकराव के बीच केन्द्र सरकार ने इस पर नया कानून भी लेकर आई, अब इन सब से एक कदम आगे जाते हुए इसे पाठ्यक्रम में भी शामिल किया जा रहा है।