मुख्यमंत्री योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार पर आज सर्वोच्च कोर्ट करेगा सुनवाई

 मुख्यमंत्री योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार पर आज सर्वोच्च कोर्ट करेगा सुनवाई

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरूद्ध विवादित ट्वीट करने पर अरैस्ट हुए पत्रकार प्रशांत कनौजिया की पत्नी की याचिका पर सर्वोच्च कोर्ट आज सुनवाई करेगा।

कनौजिया की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने अपने पति की गिरफ्तारी को अवैध करार देते हुए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाई है, जिसमें न्यायालय के सामने अपने पति को पेश कराने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि पत्रकार प्रशांत कन्नौजिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरूद्ध सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट साझा करने को लेकर मुद्दा पंजीकृत किया गया था।

यूपीके एक पुलिस ऑफिसर ने मुद्दे की जानकारी देते हुए बोला था कि प्रशांत कन्नौजिया को उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली में उनके घर से हिरासत में लिया था। कन्नौजिया पर हजरतगंज थाने में एक सब इंस्पेक्टर ने FIR पंजीकृत कराई थी। इस FIR में सब इंस्पेक्टर ने आरोप लगाया गया था कि आरोपी ने मुख्यमंत्री योगी के विरूद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी की है वउनकी छवि ख़राब करने की प्रयास की है।

प्रशांत ने 6 जून को अपने ट्विटर हैंडल पर ‘इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी’ साझा की थी। साथ ही एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें एक युवती मुख्यमंत्री ऑफिस के बाहर खुद की योगी आदित्यनाथ की प्रेमिका बता रही थी। प्रशांत इससे पहले भी योगी आदित्यनाथ पर उनके जन्मदिन पर बयान दे चुका है। उधर प्रशांत की पत्नी जगीशा पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल खड़े कर रही हैं। उन्होंने बोला था कि पुलिस ने जानबूझकर प्रशांत को गिरफ्तार किया है।