मैकडॉनल्ड्स में बेचता था बर्गर, आज है Mumbai Indians के मालिक मुकेश अंबानी से ज्यादा अमीर

मैकडॉनल्ड्स में बेचता था बर्गर, आज है Mumbai Indians के मालिक मुकेश अंबानी से ज्यादा अमीर

आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के मालिक और एशिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) आज किसी भी परिचय के मोहताज नहीं है। मुकेश अंबानी भारत के ही नहीं बल्कि दुनिया के सबसे अमीर इंसानों में से एक हैं। मुकेश अंबानी की टक्कर पैसों के मामले में बड़े-बड़े उद्योगपतियों मार्क जुकरबर्ग, गूगल के संस्थापक लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन जैसी हस्तियों से होती है। अगर हम आपसे कहें कि मैकडॉनल्ड्स में बर्गर बेचने वाले एक शख्स ने मुकेश अंबानी को पैसों के मामले में पछाड़ दिया है तो शायद इस बात पर यकीन कर पाना आपके लिए थोड़ा सा मुश्किल होगा लेकिन, यह सच है। हम बात कर रहे हैं क्रिप्टो करंसी अरबपति और बिनेंस के मालिक चांगपेंग झाओ (Changpeng Zhao) की।

चांगपेंग झाओ ऐसे शख्स हैं जिनके बारे में पूरी दुनिया बात कर रही है। 44 साल के चांगपेंग झाओ रईसी के मामले में मुकेश अंबानी से आगे निकल गए हैं। सीएनएन में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार चांगपेंग झाओ पृथ्वी पर सबसे अमीर लोगों में से एक बन गए हैं। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार चांगपेंग झाओ कुल संपत्ति $ 96 बिलियन है जो मुकेश अंबानी की संपत्ति की तुलना में कई गुना ज्यादा है।

चीन में जन्मे चांगपेंग झाओ के बारे में यह बात बेहद कम लोग जानते हैं कि झाओ ने मैकडॉनल्ड्स में बर्गर तक बेचने का काम किया है। चांगपेंग झाओ 12 साल की उम्र में अपने माता-पिता के साथ कनाडा चले गए थे। इस दौरान पिता की नौकरी चले जाने की वजह से उन्हें आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ा था। बर्गर को फ्लिप करने सहित उन्होंने जीवन-यापन करने के लिए कई और भी छोटे-मोटे काम किए थे।

चांगपेंग झाओ की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई की हुई है। 2017 में उन्होंने Binance की स्थापना की थी और इसके बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। चांगपेंग झाओ दुनिया के 11वें सबसे अमीर
व्यक्ति हैं। उनकी संपत्ति मार्क जुकरबर्ग और लैरी पेज से भी कहीं ज्यादा है।


गोलकीपर सविता मिली सकती है कप्तानी, चीन को मिला पेनाल्टी शूटआउट

गोलकीपर सविता मिली  सकती है कप्तानी,  चीन को मिला  पेनाल्टी शूटआउट

विस्तार अनुभवी गोलकीपर सविता पूनिया मस्कट में 21 से 28 जनवरी तक होने वाले महिला एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट में भारत की 18 सदस्यीय टीम की अगुवाई करेंगी। अनुभवी दीप ग्रेस एक्का को उप कप्तान नियुक्त किया गया है।  '


हॉकी इंडिया की ओर से बुधवार को घोषित 18 सदस्यीय टीम में 16 टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाली खिलाड़ी शामिल हैं। नियमित कप्तान रानी रामपाल बेंगलुरु में चोट से उबर रही हैं। इसलिए उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया है। भारत को जापान, मलयेशिया और सिंगापुर के साथ पूल ए में रखा गया है। 

भारतीय टीम अपने खिताब के बचाव का अभियान टूर्नामेंट के पहले दिन मलयेशिया के खिलाफ करेगी। प्रतियोगिता में शीर्ष चार में रहने वाली टीमें स्पेन और नीदरलैंड में होने वाले विश्व कप 2022 के लिए क्वालिफाई करेंगी।

21 से 28 जनवरी तक मस्कट में खेला जाएगा महिलाओं का यह टूर्नामेंट। 18 सदस्यीय टीम में चोट के चलते रानी को नहीं किया गया शामिल। 21 को मलयेशिया के खिलाफ अभियान का आगाज करेगी भारतीय टीम। दो बार भारतीय टीम ने अब (2004, 2017) तक जीती है ट्रॉफी। 2017 में हुए पिछले संस्करण में भारत ने चीन को पेनाल्टी शूटआउट में 5-4 से हराकर जीता था खिताब।

टीम 
गोलकीपर: सविता पूनिया (कप्तान), रजनी एतिमारपू। 
डिफेंडर: दीप ग्रेस एक्का (उप कप्तान), गुरजीत कौर, निक्की प्रधान, उदिता। 
मिडफील्डर: निशा, सुशीला चानू, मोनिका, नेहा, सलीमा टेटे, ज्योति, नवजोत कौर। 
फॉरवर्ड: नवनीत कौर, लालरेम्सियामी, वंदना कटारिया, मारियाना कुजूर, शर्मिला देवी।

भारत का कार्यक्रम
vs मलयेशिया 21 जनवरी
vs जापान 23 जनवरी
vs सिंगापुर 24 जनवरी
सेमीफाइनल 26 जनवरी
फाइनल 28 जनवरी