चोटिल हुए रोहित शर्मा को लेकर अब आई ये राहत भरी खबर

चोटिल हुए रोहित शर्मा को लेकर अब आई ये राहत भरी खबर

नयी दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के उप कैप्टन रोहित शर्मा के लिये उनकी हैमस्ट्रिंग चोट को लेकर हुआ हो-हल्ला गुमराह करने के साथ मनोरंजक भी था क्योंकि वो हमेशा जानते थे कि ये चोट इतनी गंभीर नहीं थी और वो ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खेलने के लिए तैयार होंगे

रोहित को आईपीएल 2020 (IPL 2020) के दौरान यह हैमस्ट्रिंग चोट लगी थी जिसकी वजह से उन्हें इस महीने के प्रारम्भ में ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम से बाहर कर दिया गया और कुछ ही दिन में वो क्रिकेट खेलने के लिए लौट गए जिससे अटकलों का दौर प्रारम्भ हो गया इसके बाद उन्हें टेस्ट टीम में शामिल कर लिया गया

रोहित ने कहा, ‘ निष्ठावान ी से कहूं, मैं नहीं जानता कि क्या हो रहा था और लोग किसके बारे में बात कर रहे थ लेकिन मैं रिकॉर्ड के लिए बता दूं कि मैं बीसीसीआई और मुंबई इंडियंस के साथ लगातार सम्पर्क में था 

उन्होंने दर्द के बावजूद खेलते हुए दिल्ली कैपिटल्स के विरूद्ध आईपीएल फाइनल में 50 गेंद में 68 रन की पारी खेली ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले वो इस समय बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में ‘स्ट्रेंथ एंड कंडिशनिंग’ ट्रेनिंग कर रहे हैं

रोहित ने कहा, ‘मैंने उन्हें (मुंबई इंडियंस) को बता दिया था कि मैं मैदान पर उतर सकता हूं क्योंकि यह छोटा फॉर्मेट है और मैं परिस्थितियों से अच्छी तरह से निपट लूंगा एक बार मैंने निश्चित कर लिया तो बस उस वस्तु पर ध्यान लगाने की आवश्यकता थी जो मैं करना चाहता था 

उन्होंने कहा, ‘हैमस्ट्रिंग अब बिलकुल अच्छा लग रही है इसे मजबूत करने की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी है लंबे फॉर्मेट में खेलने से पहले मुझे ये पूरी तरह से निश्चित करने की आवश्यकता है कि कोई भी कोशिश छूट नहीं गया, शायद यही कारण है कि मैं एनसीए में हूं 

आईपीएल में प्लेऑफ में चोट के बावजूद खेलने को लेकर बातें प्रारम्भ हो गई थीं, इस पर उन्होंने कहा, ‘मेरे लिये यह चिंता की बात नहीं थी कि कोई भी क्या बात कर रहा है कि वह ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए जा पाएगा या नहीं एक बार चोट लगी तो अगले दो दिन मैंने केवल यही देखने का कोशिश किया कि अगले 10 दिन में मैं क्या कर सकता था, क्या मैं खेल पाऊंगा या नहीं 

5 बार के आईपीएल चैंपियन कैप्टन ने बोला कि जब तक मैदान पर नहीं पहुंचते, तब तक पता नहीं चलता कि शरीर कैसे कार्य कर रहा है उन्होंने कहा, ‘लेकिन हर दिन हैमस्ट्रिंग चोट की स्थिति बदल रही थी यह जिस तरह से अच्छा हो रही थी तो मैं आश्वस्त हो गया कि मैं खेल सकता हूं और मैंने उस समय मुंबई इंडियंस को इसके बारे में बता दिया 


महिलाओं में आयोडीन की कमी भी बन सकती है बांझपन का कारण

महिलाओं में आयोडीन की कमी भी बन सकती है बांझपन का कारण

अक्सर महिलाएं कई समस्याओं से परेशान रहती है महिलाओं में अधिकतर बीमारियाँ प्रजनन सम्बन्धी होती है। महिलाओं में आयोडीन की कमी का अगर समय रहते उपचार न कराया जाए तो गर्भधारण करने में समस्या आना, बांझपन, नवजात शिशु में तंत्रिका तंत्र से संबंधिक गड़बड़ियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

प्रजनन तंत्र की कार्यप्रणाली से सीधा संबंध:

महिलाओं में हाइपोथायरॉइडिज्म बांझपन और गर्भपात का सबसे प्रमुख कारण है। जब थायरॉइड ग्लैंड की कार्यप्रणाली धीमी पड़ जाती है, तो वह पर्याप्त मात्रा में हार्मोन का उत्पादन नहीं कर पाती है। जिससे अंडाशयों से अंडों को रिलीज करने में बाधा आती है।


मानव शरीर में आयोडीन एक महत्वपूर्ण माइक्रो-न्यूट्रिएंट्स है। जो थायरॉइड हार्मोन के निर्माण के लिए आवश्यक है। आयोडीन डिफेशियंसी, आयोडीन तत्व की कमी है, यह हमारी डाइट का एक आवश्यक पोषण तत्व है। आयोडीन की कमी से हाइपो थायरॉइडिज्म हो जाता है।


भारतीय गैर-बासमती चावल ने चाइना को झुकाया गुठनों पर, जाने कैसे ?       कर्ज में फंसी रिलायंस कैपिटल को खरीदने के लिए इतनी कंपनियां हुई दौड़ में शामिल, जाने दिखा रही यह दिलचस्पी       BPCL में सरकार की 52.98 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए मिली इतनी बोलियां, जाने लगाई गई कीमत       जम्मू कश्मीर के गलत नक्शे को लेकर प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने विकिपीडिया को दिया यह बड़ा आदेश, जाने       किसानों के बाद अब ट्रांसपोर्टर्स यूनियन ने किया इस देशव्यापी हड़ताल पर जाने का आह्वान, जाने कारण       Horoscope 2021: जानिए कैसा रहने वाला नए साल में आपका भविष्य व क्या आएंगी खुशियां ?       ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस पार्टी ने किसानों का समर्थन करते हुए सरकार को दी यह बड़ी धमकी!       आंदोलन कर रहे किसानों ने नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए केन्द्र सरकार को दी यह बड़ी सलाह       झारखंड में अब Covid19 की RT पीसीआर जाँच के लिए करना होगा केवल इतने रूपए खर्च, जाने       आंदोलन कर रहे किसानों ने केन्द्र सरकार को राजधानी की सड़को पर दी यह बड़ी धमकी       एजुकेशन मंत्रालय ने मातृ भाषा में तकनीकी एजुकेशन सहित इन पाठ्यक्रमों को देने के लिए बनाया यह रोडमैप, जाने       भाजपा द्वारा एक करोड़ से अधिक परिवारों तक पहुंचकर ममता बनर्जी की नाकामियों पर चर्चा : दिलीप घोष       सीबीएसई के ऑफिसरों ने 2021 में बोर्ड के औनलाइन संचालन से किया इंकार, जाने अब कैसे होंगी परीक्षाएं        Covid-19 : इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए यदि आप कर रहे शहद का सेवन तो हो जाए सावधान, जाने       पंजाब के सीएम ने कहा, ‘डरकर केंद्रीय कानूनों की अधिसूचना जारी करने के बजाय केजरीवाल.....       महिला कांस्टेबल पर एसिड अटैक मामले में दोषियों को 14 वर्ष कैद की सजा       ईडी के डर से कैप्टन ने कृषि बिल का नहीं किया विरोध, किसानों को जेल में बंद करने का था केंद्र का प्लान: अरविंद केजरीवाल       किसानों के समर्थन में ट्रांसपोर्टरों ने आठ दिसंबर से उत्तर भारत में परिचालन बंद करने की धमकी दी       भारत में बिकने वाले बड़े ब्रांड के शहद में चीनी शरबत की मिलावट: सीएसई अध्ययन का दावा       असल जिंदगी में उबाऊ हूं मैं, विदेश नीति पढ़ने में बिताती हूं समय - एंजेलिना जोली