IPL की दो नई टीमों का इस दिन हो सकता है ऐलान

IPL की दो नई टीमों का इस दिन हो सकता है ऐलान

इंडियन प्रीमियर लीग में दो नई टीमों को शामिल किया जाना है। इन टीमों के नाम पर फैसला यूएई में आयोजित होने वाले आइपीएल मुकाबलों के बाद किए जाने की उम्मीद है। जानकारी के मुताबिक बीसीसीआइ आइपीएल 2021 के फाइनल के दो दिन के बाद ही यह बड़ा फैसला ले सकती है। दुबई में 17 अक्टूबर के टीम को लेकर नीलामी कराई जा सकती है।

अंग्रेजी वेबसाइट क्रिसबज के मुताबिक बीसीसीआइ की तरफ से नीलामी में शामिल होने वालों को 21 सितंबर, 5 अक्टूबर और 17 अक्टूबर की तीन तारीखों के बारे में जानकारी दी। बीसीसीआई ने बताया 5 अक्टूबर तक टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदे जा सकते हैं। 17 अक्टूबर को नीलामी हो सकती है। इस बात की भी जानकारी है कि ई-ऑक्शन नहीं होगा। जानकारी के मुताबिक अहमदाबाद और लखनऊ शहरों की टीम के नाम को लेकर चर्चा है। इन दोनों टीमों के नाम की टीम को अगले सीजन में शामिल किया जा सकता है। 


IPL 2021 से पहले इन 6 टीमों ने बदले अपने 15 खिलाड़ी, देखिए रिप्लेसमेंट प्लेयर्स की लिस्ट

बीसीसीआई (BCCI) की तरफ से इस बात की घोषणा पहले ही कर दी गई थी कि 2022 से आईपीएल में (IPL 2022) 8 की जगह 10 टीमें खेलने उतरेंगी। इन टीमों के खिलाड़ियों और बाकी टीमों में खिलाड़ी की खरीद के लिए अगले साल जनवरी में मेगा ऑक्शन हो सकता है। जो दो टीमें टूर्नामेंट में शामिल की जानी है उसकी नीलामी में बोर्ड को 5000 से लेकर 6000 करोड़ रुपए की आमदनी होने की उम्मीद जताई जा रही है।

टीम बढ़ने से टूर्नामेंट में होगा बदलाव

टीम की संख्या 8 से 10 होने के बाद हर एक टीम को 14 या 18 लीग मैच खेलने पड़ सकते हैं। मौजूदा फार्मेट के मुताबिक एक सीजन में सभी टीमों को अपने होम ग्राउंड पर 7 जबकि बाहर दूसरी टीमे के ग्राउंड पर 7 मैच खेलने होते हैं। टीमों की संख्या बढ़ने के बाद एक टीम को 18 मैच खेलने पड़ेंगे। मैच की संख्या बढ़ने से टूर्नामेंट का लंबा होना तय है जिससे कुल मैचों की संख्या 74 या 94 हो जाएगी।


पाकिस्तानी दिग्गज का दावा, कहा- अगर मैं इस्तीफा नहीं देता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती

पाकिस्तानी दिग्गज का दावा, कहा- अगर मैं इस्तीफा नहीं देता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने हाल ही में टी20 विश्व कप 2021 से पहले पाकिस्तान टीम के गेंदबाजी कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था। मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने भी अपना पद छोड़ दिया था। अब इस बारे में वकार यूनिस ने खुल कर बात की है। एक विशेष साक्षात्कार में क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए, वकार ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) में हालिया बदलावों के बाद इस्तीफा देना एक बुद्धिमानी थी।

उन्होंने कहा, "मेरे इस फैसले के पीछे दो से तीन कारण थे। जाहिर है, परिवार के साथ समय बिताना उनमें से एक था जो कोविड-19 के कारण मुश्किल होता जा रहा था। साथ ही, नए पीसीबी अध्यक्ष (रमीज राजा) की नियुक्ति और उनके शासन के बाद यह बुद्धिमानी की बात यह थी, क्योंकि ऐसा लग रहा था कि वह (राजा) एक नया सेटअप लाना चाहते हैं। इसलिए, जब मिस्बाह ने इस्तीफा दिया, तो मैंने उसी का पालन करने का फैसला किया।"

पाकिस्तान टीम के पूर्व दिग्गज वकार यूनिस ने आगे बताया, "अगर हमने यह फैसला नहीं लिया होता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती। विवाद हो सकता था। मेरे पास क्रिकेट बोर्ड और उसके इतिहास को समझने का पर्याप्त अनुभव है। जब कोई नया सेटअप कार्यभार संभालता है, तो उनके काम करने का अपना तरीका होता है और उन सभी को ध्यान में रखते हुए यह करना एक समझदारी की बात थी।"

उन्होंने अगले महीने शुरू होने वाले मेगा इवेंट में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पाकिस्तान का भी समर्थन किया। वकार ने कहा, "विश्व कप एक छोटा टूर्नामेंट है और अगर आपके खिलाड़ी फार्म में हैं और किस्मत आपका साथ देती है, तो टीम आगे बढ़ सकती है। हमारी गेंदबाजी किसी भी टोटल का बचाव कर सकती है और अगर हम अपनी बल्लेबाजी में कुछ मुद्दों को ठीक कर सकते हैं, तो इस टीम में हर तरह से जाने की क्षमता है।"