यूपी पंचायत चुनाव, इस बार पोस्टर बैनर नहीं

यूपी पंचायत चुनाव, इस बार पोस्टर बैनर नहीं

लखनऊ: लोकसभा और विधानसभा चुनावों की तरह ही इस बार पंचायत चुनाव में भी सोशल मीडिया का असर देखने को मिल रहा है। हांलाकि अभी चुनावों की घोषणा नहीं हुई है पर गांवो देहातों में व्हाटसअप, फेसबुक और इंस्टाग्राम में संभावित प्रत्याशियों ने अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। पहले होते रहे पंचायत चुनावों में पोस्टर्स बैनर आदि की धूम हुआ करती थी पर इस बार गाँवों देहातों का अलग नज़ारा है।

व्हाटसग्रुप बनाकर मतदाताओं से जुड़ने का प्रयास
यूपी पंचायत चुनाव के लिए गांवों में व्हाटसग्रुप बनाकर संभावित प्रत्याशियों की तरफ से अपने बारे में बताने का काम हो रहा है। वहीं संभावित विपक्षी का बिना नाम लिए उन पर हमले किए जा रहे हैं। खर्च सीमा के चलते ही संभावित प्रत्याशी सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। कोई सोशल मीड़िया पर खुद को बेहतर बताने में जुटा है तो कोई मतदाताओें से झांसे में न आने की अपील कर रहा है। कोई प्रत्याशी खुद को सबसे बेहतर बता रहा है तो कई मतदाताओं को झांसे में न आने की अपील कर रहे है। कई प्रत्याशी सोशल मीड़िया पर ग्रुप बनाकर मतदाताओं से जुड़ने के प्रयास में लग गए हैं।

इन मैसेजों से छवि निखारने की कोशिश
यही नहीं, अपने मित्रों और जानने वालों के मैसेज के माध्यम से छवि निखारने की कोशिश हो रही है। कई सम्भावित प्रत्याशी ईमानदार प्रधान चुनने के मैसेज डालकर प्रचार प्रसार में जुटे हैं। इनमे कहा जा रहा है कि इस बार गलती न करके अच्छा व ईमानदार प्रतिनिधि चुनें।

कब होंगे चुनाव ??
यूपी में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य. क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के चुनाव इस बार एक साथ होने जा रहे हैं । अभी तक की तैयारियां मार्च और अप्रैल 2021 में चुनाव कराने की हैं। अभी प्रदेश में आरक्षण की प्रक्रिया चल रही है। उम्मीद की जा रही है कि 15 मार्च से अप्रैल के पहले सप्ताह के बीच यूपी में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव करवा लिये जाएंगे। पंचायतीराज विभाग इसी समय सीमा के आधार पर अपनी तैयारी कर रहा है।


हिलेगी दिग्गजों की कुर्सी, नढ्ढा के दौरे के बाद मंत्रिमंडल विस्तार

हिलेगी दिग्गजों की कुर्सी, नढ्ढा के दौरे के बाद मंत्रिमंडल विस्तार

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नढ्ढा के लखनऊ दौरे के बाद अब एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार की संभावनाएं बढ़ गयी हैं। दो दिन तक लखनऊ में सरकार और संगठन से फीड बैक लेने के बाद जेपी नढ्ढा पूरी रिपोर्ट लेकर दिल्ली चले गए। अब कहा जा रहा है कि जल्द ही वह अपनी रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमितषाह के सामने रखेगें। इसके बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा।

सरकार की छवि सुधारने की जुगत
इस पूरी रिपोर्ट में कई मंत्रियों के नाम सामने आए हैं जिसमें उनके काम काज के तरीके पर सवाल उठाए गए हैं। भाजपा हाईकमान नहीं चाहता है कि यूपी विधानसभा चुनाव के पहले सरकार की छवि पर नकारात्मक असर पडे़ अभी एक साल के बचे हुए समय को देखते हुए इसमें सुधार किया जा सकता है।

राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि संगठन में कार्य करने वालों को सत्ता में एडजस्ट किए जाने की पूरी तैयारी है। साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव और इस साल पंचायत चुनाव को देखते हुए ही मंत्रालयों में फेरबदल को लेकर सरकार और संगठन में बदलाव की तैयारी चल रही है।

विधानसभा चुनाव के पहले प्रदेश की योगी सरकार में यह दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार किया जाएगा। नए विधानपरिषद सदस्यों को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। जिसमें सबसे आगे हाल ही में भाजपा में शामिल होकर विधानपरिषद सदस्य बनने जा रहे पूर्व आईएएस अरविन्द कुमार शर्मा का हैं।

कमजोर कामकाज वाले कुछ मंत्रियों को हटाया जायेगा
दरअसल, पिछले साल योगी कैबिनेट के दो मंत्रियों चेतन चैहान और कमल रानी वरुण का कोरोना की वजह से निधन हो गया था। जिसके बाद से यह दोनों मंत्रिपद खाली चल रहे हैं। साथ ही कुछ मंत्रियों को उनके कमजोर कामकाज को देखते हुए उन्हे हटाकर संगठन की जिम्मदारी दी जा सकती है। चर्चा यह भी है कि नए मंत्रिमंडल में छह से सात नए चेहरों को मौका मिल सकता है। गुजरात कैडर के आईएएस रहे अरविंद शर्मा को एमएलसी चुनाव के बाद यूपी सरकार में अहम जिम्मेदारी देना तय माना जा रहा हैं। मंत्रिमंडल में अरविन्द शर्मा के अलावा लक्ष्मण आचार्य, सलिल विश्नोई को मौका दिया जा सकता है। इन तीनों नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी से नजदीक होने के कारण देखा जा रहा है।

सीएम योगी ने प्रधानमंत्री मोदी से की थी मुलाकात
अभी कुछ दिनों पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री मोदी से दिल्ली में मिल चुके हैं। संभावना व्यक्त की जारही कि इसके पीछे यूपी की राजनीति और आगामी चुनाव की रूपरेखा तय करना रहा होगा। केन्द्र में प्रधानमंत्री मोदी भी अपने मंत्रिमंडल मे आरके सिंह हरदीप पुरी और एसके जयषंकर को भी शामिलकर चुके हैं।

यूपी में संख्या के आधार पर 60 मंत्रियों की संख्या हो सकती है। इस समय मंत्रिमंडल में 54 सदस्य हैं जिनमें 23 कैबिनेट 9 स्वतंत्र प्रभार तथा 22 राज्य मंत्री हैं। इससे पहले 22 अगस्त 2019 को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के पहला मंत्रिमंडल विस्तार किया था। उस दौरान उनके मंत्रिमंडल में 56 सदस्य थें। इस कार्यक्रम में शपथ लेने वाले कुल 23 लोगों में 18 नए चेहरे शामिल किए गए थें।


एन्युटी प्लान : रिटायरमेंट के बाद पेंशन के साथ रिटर्न पाने का मौका       चीन के ब्रह्मपुत्र पर बांध बनाने से भारत से छिड़ सकती है पानी के लिए जंग       पीएम नरेंद्र मोदी ने युवाओं से की कोरोना टीकाकरण पर झूठ के ‘नेटवर्क’ को हराने की अपील       भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर ने किया आगाह, कहा- 'लगातार रूप बदल रहा कोरोना वायरस, रहना होगा तैयार'       भारत की जीत के बाद गावस्कर ने खास अंदाज में मनाया था जश्न, कहा...       पाकिस्तान के खिलाड़ियों को बड़ी टीमों के खिलाफ कैसे खेलना है, बाबर आजम ने बताया       अब आएगा इस स्पिनर का टाइम, ऑस्ट्रेलिया में नहीं खेल पाए एक भी मैच       इन दिग्गजों का नाम है शामिल, Ind vs Eng टेस्ट सीरीज के लिए कमेंट्री टीम का ऐलान!       इंग्लैंड के खिलाफ स्टेडियम में दिख सकते हैं दर्शक, लेकिन...       पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ कराची टेस्ट के लिए टीम की घोषणा की, इतने अकैप्ड खिलाड़ियों को मिला मौका       शार्दुल ठाकुर को ब्रिसबेन टेस्ट के बाद मिला नया 'निकनेम', सचिन तेंदुलकर का नाम भी साथ जोड़ा गया       निवेशकों के लिए टाइमिंग समझना होता है बड़ी उलझन, यह रणनीति आएगी काम       इलेक्ट्रिक कार उद्योग को बजट से बड़ी सौगात की उम्मीद, चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में प्रोत्साहन की दरकार       अपने पिछले उच्च स्तर से 8,000 रुपये टूट चुका है सोना, चांदी भी 12,500 रुपये टूटी       इस महीने भी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक बने हुए हैं शुद्ध खरीदार, अब तक कर चुके हैं 18,456 करोड़ रुपये का निवेश       बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट       Budget 2021: भारतीय कंपनियों ने Deloitte सर्वे में बताई बजट को लेकर अपनी उम्मीदें       कौन हैं नताशा दलाल को महेंदी लगाने वाली आर्टिस्ट वीना नगाड़ा, ईशा अंबानी और दीपिका को भी कर चुकी हैं तैयार       रिचा चड्ढा ने कहा कि जब तक लोकतंत्र है लोगों को मुखर होना चाहिए       Bigg Boss 14 : सोनाली फोगाट को खाने को लेकर निक्की, अर्शी और रुबीना से पड़ी जमकर डांट