हर साल लगता है एक महीने का मेला, गोरखनाथ मंदिर में खिचड़ी चढ़ाने का इतिहास

हर साल लगता है एक महीने का मेला, गोरखनाथ मंदिर में खिचड़ी चढ़ाने का इतिहास

गोरखपुर : राज्य भर में मकर संक्रांति पूरे उत्साह के साथ मनाई जा रही है। हर साल की तरह इस साल भी मकर संक्रांति के पर्व पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर में पहली खिचड़ी भेंट करके पुरानी परंपराओं का पालन करेंगे। पुजारी से राजनेता बने गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर सीएम योगी भी मंदिर परिसर से देश के नागरिकों के लिए प्रार्थना करते हैं और अपनी इच्छाओं का विस्तार करते हैं, जिसे गोरक्षपीठ भी कहा जाता है।

गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने की परंपरा
मुख्यमंत्री के बाद, नेपाल नरेश द्वारा भेजी गई खिचड़ी को गुरु गोरक्षनाथ को अर्पित किया जाता है। मकर संक्रांति गोरखनाथ मंदिर का मुख्य त्यौहार है। आपको बता दें कि यह मकर संक्रांति का पर्व यूपी, बिहार, नेपाल के लाखों लोग और देश भर के लोग इस धार्मिक स्थान की परिक्रमा करते हैं और गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाते हैं।

एक महीने तक खिचड़ी का मेला भी लगता है
बाबा गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने की यह परंपरा सदियों पुरानी है और गुरु गोरखनाथ को समर्पित गोरखनाथ मंदिर में बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मकर संक्रांति का यह पर्व मनाया जाता है। मंदिर परिसर में मकर संक्रांति के दिन से एक महीने का खिचड़ी का मेला भी लगता है। इस मेले के दौरान हर रविवार और मंगलवार के दिन का विशेष महत्व है।

गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने का इतिहास
ऐसा माना जाता है कि त्रेता युग के दौरान, सिद्ध गुरु गोरक्षनाथ हिमाचल के कांगड़ा जिले में स्थित ज्वाला देवी मंदिर गए। जहां देवी ने गुरु गोरक्षनाथ को भोजन करने के लिए आमंत्रित किया। तामसी भोजन को देखकर, गोरक्षनाथ ने कहा, “मैं भिक्षा में दिए गए चावल और दाल को ही स्वीकार करता हूं।” जिसके लिए ज्वाला देवी ने जवाब दिया, “जाओ और तब तक अक्षयपात्र में चावल और दाल लाओ। मैं चावल और दाल पकाने के लिए पानी उबाल रही हूं।”

इसके बाद गुरु गोरक्षनाथ हिमालय की तलहटी में स्थित गोरखपुर पहुंचे और राप्ती और रोहिणी नदियों के संगम पर अपना भिक्षापात्र रखा और अपनी साधना शुरू की। लोगों ने चावल और दालें डालना शुरू कर दिया, लेकिन इससे अक्षयपात्र नहीं भर पाया।

सालों से खिचड़ी चढ़ाने की परंपरा जारी
लोग इसे गुरु गोरक्षनाथ का चमत्कार मानकर अभिभूत थे। तब से, गोरखपुर में गुरु गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाने की परंपरा जारी है। हर साल इस दिन, दुनिया भर से श्रद्धालु गुरु गोरक्षनाथ मंदिर में खिचड़ी चढ़ाने आते हैं। सबसे पहले, भक्त मंदिर के पवित्र भीम सरोवर में स्नान करते हैं और वे मंदिर में अनुष्ठान करते हैं।


मकर संक्रांति या संक्रांति, हिंदू कैलेंडर के अनुसार, सूर्य (सूर्यदेव) को समर्पित है। इस दिन, सूर्य सर्दियों के संक्रांति के दौरान धनु से मकर तक की यात्रा शुरू करता है, और गर्म दिनों की शुरुआत का संकेत देता है। इसे कई जगहों पर पूर्व में बिहू, पश्चिम में लोहड़ी, उत्तर में खिचड़ी और तिलवा संक्रांति और दक्षिण में पोंगल जैसे त्योहारों के साथ मनाया जाता है। यह उल्लेख किया जाना चाहिए कि मकर संक्रांति को सभी शुभ घटनाओं की शुरुआत के लिए हिंदू परंपरा में वर्ष का सबसे अच्छा समय माना जाता है। यह भी कहा जाता है कि भीष्म पितामह ने अपने इच्छामृत्यु के लिए इस समय की प्रतीक्षा की थी।


यूपी दिवस: होगा तीन दिवसीय कार्यक्रम, सीएम योगी करेंगे शुभारम्भ

यूपी दिवस: होगा तीन दिवसीय कार्यक्रम, सीएम  योगी करेंगे शुभारम्भ

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में आगामी 24 से 26 जनवरी तक यूपी दिवस समारोह का भव्य आयोजन किया जाएगा। इस दौरान यहां अवध शिल्पग्राम में विभिन्न विभागों के तरफ 250 स्टाल लगाये जायेंगे। इसमें एक जिला-एक उत्पाद (ओडीओपी) के 75 स्टाल सम्मिलित होंगे। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे।

होगी बड़ी तैयारी
इस अवसर पर वह लाभार्थियों में टूलकिट, ऋण स्वीकृत पत्र, पुरस्कार आदि का वितरण किया जायेगा। कार्यक्रम के दौरान तरह-तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे। साथ ही एग्रीकल्चर एक्जीविशन लगाई जायेगी। इसके साथ ही इस अवसर पर पूरे प्रदेश में किसान कल्याण मिशन, महिला शक्ति, मिशन रोजगार पर आधारित कार्यक्रम होंगे।

तय हो चुकी है कार्यक्रम की रूप रेखा
अपर मुख्य सचिव डा नवनीत सहगल ने कहा कि अवध शिल्प ग्राम में 24 से 26 तक आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम की रूप रेखा तय की जा चुकी है। हर दिन अलग-अलग कार्यक्रम प्रस्तावित किये गये हैं। पहले दिन ओडीओपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना सहित अन्य योजनाओं के लाभार्थियों में टूलकिट्स, ऋण स्वीकृत पत्र आदि का वितरण होगा, जबकि दूसरे दिन 25 जनवरी को सेमिनार आदि का आयोजन तथा अंतिम दिन 26 पुरस्कार वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।

 इन्हें किया जायेगा सम्मानित
डॉ. सहगल ने कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा विद्युत चलित चाक, दोना पत्तल मशीन, सोलर चर्खे, तथा खादी एवं ग्रामोद्योग क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाले व्यक्तियों को सम्मानित किया जायेगा। इसके साथ ही खादी वस्त्रों पर आधारित भव्य फैशन-शो का भी आयोजन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त एक ओडीओपी तथा विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत टूलकिट तथा ऋण वितरण होगा। साथ कई प्रकार के एमओयू होंगे और एप भी लांच किये जायेंगे। समारोह में बड़ी संख्या में अलग-अलग योजनाओं के लाभार्थियों भी मौजूद रहेंगे।

इसके अलावा श्रम विभाग द्वारा चिकित्सा सहायता का चेक तथा युवा कल्याण विभाग द्वारा यूथ एवार्ड दिये जायेंगे। समाज कल्याण के तहत बच्चों को छात्र-वृत्ति स्वीकृत प्रमाण-पत्र वितरित किये जायेंगे। इसी प्रकार कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, महिला कल्याण विभाग, पुलिस विभाग सहित अन्य विभागों द्वारा विभिन्न प्रकार की गतिविधियों में हिस्सा लिया जायेगा।

अपर मुख्य सचिव ने नोएडा शिल्पग्राम में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की वर्चुअल समीक्षा करते हुए कहा कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना अथारिटी अपने एक साल की उपलब्धियों पर आधारित लघु फिल्में तैयार करायें और समारोह में इसका प्रसारण सुनिश्चित करें। इसके तीनों प्राधिकरणांे की उपलब्धियों पर एक्जीविशन भी लगाई जाय। उन्होंने आयोजन से जुड़े विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि राज्य भर में पूरी तरह एकरूपता के साथ यूपी दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाये। इससे संबंधित सभी तैयारियां समय से पूर्ण कर ली जायं।


पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका में मोर्चा खोलेंगे सिंधी, 350 मील तक निकाला जाएगा मार्च       ट्रंप समर्थकों के डर से ट्विटर कर्मियों ने अपने अकाउंट किए लॉक, अधिकारियों को दी गई व्यक्तिगत सुरक्षा       रंगोली बनाकर हुआ बाइडन और हैरिस का स्वागत, 1800 से ज्यादा लोगों ने लिया हिस्सा       तिब्बत पर कानून बनाकर अमेरिका ने दी चीन को चुनौती, भारत को चीन से वार्ता में मिलेंगे ज्यादा विकल्प       उपराष्ट्रपति पेंस ने निर्वाचित राष्ट्रपति को किया आगाह, कहा...       अमेरिकी संसद हमले में कहीं चीन, रूस और ईरान का तो नहीं है हाथ, FBI कर रही छानबीन       कोरोना वैक्‍सीन को लेकर चीन की ओर मुंह ताक रहा पाकिस्‍तान, भारत ने मारी बाजी       पाकिस्तान में सरकारी एजेंसियां कर रहीं मानवाधिकारों का उल्लंघन, सीनेट उपाध्यक्ष करेंगे अंतरराष्ट्रीय संगठनों से संपर्क       पाकिस्‍तान के जब्त विमान के मामले में ब्रिटेन और मलेशिया कोर्ट में पेश होगा पीआइए       इमरान पर कार्रवाई नहीं करने से चुनाव आयोग पर भड़के शरीफ, लगाया बड़ा आरोप       पांच महीने जर्मनी में इलाज कराकर रूस लौटते ही पुतिन के कटु आलोचक नवलनी हुए गिरफ्तार, जानें       ईरान बना रहा है विध्‍वंसक परमाणु हथियार, फ्रांस के विदेश मंत्री ने किया सनसनीखेज खुलासा       शपथ ग्रहण को लेकर वाशिंगटन बुलाए गए हजारों सैनिक, जानें       चीन की कुटिल वैक्‍सीन डिप्‍लोमेसी के खिलाफ भारत ने खींची लंबी रेखा       एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील       महाराष्ट्र, हरियाणा में मुर्गियों को मारने का सिलसिला जारी       सूरत से कोलकाता जा रहा इंडिगो विमान का भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग       कानून रद करने के अलावा विकल्प बताएं किसान संगठन, 10वें दौर की वार्ता 19 को : कृषि मंत्री       केंद्र सरकार ने बदली रणनीति, अब हर राज्य के लिए कोविड टीकाकरण के दिन तय, जानें       कोविड वैक्‍सीन के हल्‍के दुष्‍प्रभावों को लेकर डरने की जरूरत नहीं, जानें