दिल्ली में भीषण आग से अब तक 43 लोगों की हुई मौत

दिल्ली में भीषण आग से अब तक 43 लोगों की हुई मौत

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अनाज मंडी में एक फैक्ट्री में रविवार सुबह लगी भीषण आग में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने कई लोगों को आग की चपेट से रेस्क्यू किया. ऐसे में एक दमकलकर्मी ने इमारत में घुसकर और अपनी जान पर खेलकर अकेले 11 लोगों की जान बचाई.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दमकल विभाग के कर्मी की तारीफ करते हुए उसे रियल हीरो बताया है. जैन ने ट्वीट किया, 'दमकलकर्मी राजेश शुक्ला असली हीरो हैं. वह पहले फायरमैन हैं, जो बिल्डिंग में घुसे और 11 जिंदगियां बचाईं. उन्होंने हड्डियों में चोट लगने के बावजूद अपना काम जारी रखा. मैं इस बहादुर हीरो को सलाम करता हूं.'

क्या है मामला?

बता दें कि दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में रविवार सुबह भीषण आग लगी. वहां की गलियां काफी संकरी हैं. जिस फैक्ट्री में आग लगी है वह रिहायशी इलाके में अवैध तरीके से चल रही थी. बताया जा रहा है कि पूरा इलाका अवैध और छोटी फैक्ट्रियों से भरा हुआ है. जिसे न तो एनओसी मिली थी और न ही आग बुझाने के इंतजाम किए गए थे. इस संकरे इलाके में चारों ओर बिजली के तार हैं.

मौके पर पहुंचे चीफ फायर ऑफिसर ने बताया कि जब उन्हें आग लगने की सूचना दी गई तो सिर्फ यह बताया गया था कि एक बिल्डिंग में आग लगी है. घटना के बाद 50 से ज्यादा लोगों को वहां से निकाला गया और उन्हें चार अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया. फायर सेफ्टी विभाग ने बताया कि यह आग सुबह करीब 5 बजे लगी. जिसकी सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं. आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है.