डीजी होमगार्ड विजय कुमार के मुताबिक ने विभाग के पास 50 करोड़ का बजट

डीजी होमगार्ड विजय कुमार के मुताबिक ने विभाग के पास 50 करोड़ का बजट

होमगार्ड मुख्यालय ने बीते वर्ष बजट के अभाव में प्रदेश के 16,519 होमगार्डों की ड्यूटी समाप्त करने के आदेश को बहाल कर दिया है. यह होमगार्ड पूर्व की भांति थाना और आदि स्थानों पर ड्यूटी करेंगे. प्रदेश के सभी डीएम, एसपी के अतिरिक्त होमगार्ड डीआईजी व मण्डलीय और जिला कमाण्डेंट को भेजे आदेश में बोला कि होमगार्डों को जल्द से जल्द ड्यूटी दें.

डीजी होमगार्ड विजय कुमार के मुताबिक ने विभाग के पास 50 करोड़ का बजट है. बजट को देखते डीजी ने होमगार्डों की ड्यूटी 31 मार्च तक लगाने के आदेश दिए हैं. ताकि इस बजट से इनके दैनिक भत्ते का भुगतान किया जा सके. हालांकि विभागीय अधिकारियों का बोलना है कि शासन के अफसरों से अलावा बजट के संदर्भ में बातचीत चल  रही है. ताकि इन होमगार्डों को दोबारा न हटाया जाए.

2419 होमगार्ड बोर्ड इम्तिहान व कांवड़ यात्रा लगाए
डीजी ने अयोध्या, बाराबंकी, उन्नाव और रामपुर समेत 14 जिलों में बोर्ड परीक्षा, कांवड़ा यात्रा व होली के मद्देनजर 2419 अलावा होमगार्ड तैनात किए गए हैं. इन जिलों में यह होमगार्ड पुलिस के साथ शांति व्यवस्था का जिम्मा संभालेंगे. इनका भुगतान 31 मार्च तक किया जाएगा.

41 हजार होमगार्डों की ड्यूटी समाप्त की थी
बीते वर्ष सितम्बर में उच्चतम न्यायालय द्वारा होमगार्डों का दैनिक भत्ता 500 रुपये से बढ़ाकर 702 रुपये किए जाने के निर्णय के बाद 41 हजार होमगार्डों की ड्यूटी कम कर दी गई थी. इसमें होमगार्ड विभाग ने बजट के अभाव में 32 प्रतिशत होमगार्डों (16519 होमगार्ड) की ड्यूटियां समाप्त कर दी थी. इसके अतिरिक्त गृह विभाग ने सूबे में पुलिस के साथ ड्यूटी करने वाले 25 हजार होमगार्डों को एक साथ हटाने का आदेश दिया था, लेकिन इन होमगार्डों के प्रदेश व्यापी विरोध-प्रदर्शन के बाद शासन को इन्हें वापस लेना पड़ा था. हालांकि अभी तक इन होमगार्डों को जुलाई से अब तक भुगतान नही हुआ है.