अमानतुल्लाह खान को जमानत पुलिस घोषित कर चुकी है बैड कैरेक्टर

अमानतुल्लाह खान को जमानत पुलिस घोषित कर चुकी है बैड कैरेक्टर

दिल्ली की साकेत न्यायालय से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को जमानत मिल गई है. अमानतुल्लाह को उनके पांच समर्थकों के साथ बृहस्पतिवार शाम को अरैस्ट किया गया था. उन पर दंगा भड़काने व सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप है. गिरफ्तारी के बाद विधायक की पत्नी ने ट्वीट कर अपने पति की जान को खतरा बताया. विधायक व उनके समर्थकों को रात में न्यायालय में पेश किया गया था. जिसके बाद न्यायालय ने सभी को 14 दिन के लिए कारागार भेज दिया

 दिल्ली नगर निगम ने बृहस्पतिवार को मदरपुर खादर में कब्ज़ा हटाया था. आप विधायक अमानतुल्लाह खान दोपहर करीब साढ़े बारह बजे कब्ज़ा हटाने वाली स्थान पर पहुंच गए थे. वह उस स्थान पर जाना चहाते थे, जहां कब्ज़ा हटाया जा  रहा था. पुलिस ने उन्हें पहले ही रोक दिया था. इसके बाद वह स्त्रियों के साथ धरने पर बैठ गए थे. कुछ देर बाद वहां पत्थरबाजी प्रारम्भ हो गए. पुलिस ने हल्के बल का इस्तेमाल कर लोगों को मौके से खदेड़ा. विधायक व उनके समर्थकों को मौके से हिरासत में ले लिया था. उन्हें  कालकाजी थाने में रखा गया था. 

जहांगीरपुरी में कब्ज़ा विरोधी अभियान पर दाखिल याचिका सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
उच्चतम न्यायालय जहांगीरपुरी क्षेत्र में कब्ज़ा विरोधी अभियान चलाने के संबंध में उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से जारी अधिसूचना को रद्द करने का निवेदन करने वाली याचिका पर सुनवाई के लिए राजी हो गया. जस्टिस एल नागेश्वर राव,जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस एएस बोपन्ना की पीठ ने बोला कि वह इस मुद्दे में नोटिस जारी करने के पक्ष में नहीं है. पीठ ने याचिकाकर्ता मधु सरन और अन्य के अधिवक्ता प्रशांत भूषण से बोला कि हम इसे जहांगीरपुरी में कब्ज़ा विरोधी अभियान के मामलों के साथ सूचीबद्ध करेंगे. हम नोटिस जारी नहीं करेंगे

 अमानतुल्ला खान को आदतन क्रिमिनल घोषित
दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान को आदतन क्रिमिनल (हैबिचुअल ऑफेंडर) घोषित किया है. दिल्ली पुलिस ने बोला है कि आप विधायक का कैरेक्टर बैड है. जामिया नगर एसएचओ ने आप विधायक को बैड कैरेक्टर सर्टिफिकेट देने का प्रस्ताव दिया था, जिसे अब डीसीपी ने स्वीकृति दे दी है. पुलिस ने दावा किया कि विधायक के विरूद्ध जमीन पर अतिक्रमण करने और हाथापाई के मुद्दे दर्ज हैं. उनके विरूद्ध 18 आपराधिक मुद्दे दर्ज हैं. इससे पहले कब्ज़ा और गैर कानूनी कब्जों के विरूद्ध दिल्ली नगर निगम के बुलडोजर अभियान का विरोध करने पर आप विधायक अमानतुल्ला खान को गुरुवार को अरैस्ट कर लिया गया था.
 दिल्ली नगर निगम ने बृहस्पतिवार को मदरपुर खादर में कब्ज़ा हटाया था. आप विधायक अमानतुल्लाह खान दोपहर करीब साढ़े बारह बजे कब्ज़ा हटाने वाली स्थान पर पहुंच गए थे. वह उस स्थान पर जाना चहाते थे, जहां कब्ज़ा हटाया जा  रहा था. पुलिस ने उन्हें पहले ही रोक दिया था. इसके बाद वह स्त्रियों के साथ धरने पर बैठ गए थे. कुछ देर बाद वहां पत्थरबाजी प्रारम्भ हो गए. पुलिस ने हल्के बल का इस्तेमाल कर लोगों को मौके से खदेड़ा. विधायक व उनके समर्थकों को मौके से हिरासत में ले लिया था. उन्हें  कालकाजी थाने में रखा गया था. 

जहांगीरपुरी में कब्ज़ा विरोधी अभियान पर दाखिल याचिका सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
उच्चतम न्यायालय जहांगीरपुरी क्षेत्र में कब्ज़ा विरोधी अभियान चलाने के संबंध में उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से जारी अधिसूचना को रद्द करने का निवेदन करने वाली याचिका पर सुनवाई के लिए राजी हो गया. जस्टिस एल नागेश्वर राव,जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस एएस बोपन्ना की पीठ ने बोला कि वह इस मुद्दे में नोटिस जारी करने के पक्ष में नहीं है. पीठ ने याचिकाकर्ता मधु सरन और अन्य के अधिवक्ता प्रशांत भूषण से बोला कि हम इसे जहांगीरपुरी में कब्ज़ा विरोधी अभियान के मामलों के साथ सूचीबद्ध करेंगे. हम नोटिस जारी नहीं करेंगे.


जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट गुरुवार को विधानसभा में योगी गवर्नमेंट 2.O ने पेश किया. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने करीब डेढ़ घंटे तक बजट भाषण पढ़ा तो इसमें से कई बड़ी घोषणाएं निकलीं. आइए आपको इस बजट का पूरा गणित बताते हैं कि गवर्नमेंट को कहां से कितनी आदमनी होगी और कहां कितना खर्च किया जाएगा. वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल 2022-23 का बजट 6,15,518.97 लाख करोड़ रुपए का है. बजट में 39 हजार 181 करोड़ 10 लाख रुपए की नयी योजनाएं शामिल हैं.

कहां से कितना पैसा मिलेगा
वित्त मंत्री ने हिसाब-किताब पेश करते हुए बोला कि कुल प्राप्तियां 5 लाख 90 हजार 951 करोड़ 71 लाख रुपये अनुमानित है. कुल प्राप्तियों में 4 लाख 99 हजार 212 करोड़ 71 लाख रुपए राजस्व से आएंगे. 91 हजार 739 करोड़ रुपये की पूंजीगत प्राप्तियां सम्मिलित हैं. राजस्व प्राप्तियों में टैक्स रेवेन्यू का अंश 03 लाख 67 हजार 153 करोड़ 76 लाख रुपये है. इसमें स्वयं का टैक्स रेवेन्यू 02 लाख 20 हजार 655 करोड़ रुपहै, जबकि केंद्रीय करों में राज्य का अंश 01 लाख 46 हजार 498 करोड़ 76 लाख रुपए होने का अनुमान है. 

कितना होगा खर्च
वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल में कुल व्यय 06 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है. कुल व्यय में  04 लाख 56  हजार 89 करोड़ 6 लाख रुपए राजस्व लेखे का व्यय है और 91 हजार 739 करोड़ रुपए पूंजी लेखे का व्यय है .

कितना घाटा 
वित्त मंत्री ने बताया कि समेकित निधि की प्राप्तियों से कुल व्यय घटाने के बाद 24 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपए का घाटा अनुमानित.

लोक लेखा
लोक लेखे से 6 हजार करोड़ रुपये (6000 करोड़ रुपये) की शुद्ध प्राप्तियां अनुमानित.

समस्त लेन-देन का शुद्ध परिणाम 
समस्त लेन-देन का शुद्ध रिज़ल्ट 18 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपये (18,567.26 करोड़ रुपये) ऋणात्मक अनुमानित. 

अन्तिम शेष
प्रारम्भिक शेष 40 हजार 550 करोड़ 03 लाख रुपए को हिसाब में लेते हुए आखिरी शेष 21 हजार 982 करोड़ 77 लाख रुपए अनुमानित.

राजस्व बचत 
राजस्व बचत 43 हजार 123 करोड़ 65 लाख रुपए अनुमानित है. 

राजकोषीय घाटा
राजकोषीय घाटा 81 हजार 177 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है जो साल के लिए अनुमानित सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 3.96 फीसदी है.