सीएम योगी आदित्यनाथ की कठोरता के बाद प्रदेश में लगातार

सीएम योगी आदित्यनाथ की कठोरता के बाद प्रदेश में लगातार

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) की कठोरता के बाद प्रदेश में लगातार गैर कानूनी निर्माण पर बुलडोजर (Bulldozer) चलाया जा रहा है वहीं बुलंदशहर (Bulandshahr) में भी अब लगातार गैर कानूनी कालोनियों पर बुलडोज़र (Bulldozer) चलाया जा रहा है आपको बता दें कि खुर्जा (Khurja) बुलंदशहर विकास प्राधिकरण की नाक के नीचे ही लगातार गैर कानूनी कॉलोनियों का निर्माण किया गया था और कुछ का निर्माण कार्य किया जा रहा है

वहीं लगातार विकास प्राधिकरण को मिल रही कम्पलेन पर बुलंदशहर विकास प्राधिकरण (Bulandshahr Development Authority) गैर कानूनी निर्माण पर बुलडोजर चलाया जा रहा है बुलंदशहर के खुर्जा में शुक्रवार को 45 बीघा भूमि पर बनी लगभग  10 से अधिक कॉलोनियों पर बुलंदशहर विकास प्राधिकरण का बुलडोज़र चलाया गया

आपको बता दें कि बुलंदशहर के खुर्जा क्षेत्र में एनएच 91 के दोनों साइड में प्राधिकरण के बुलडोज़र ने गैर कानूनी निर्माण को ध्वस्त किया जहां गैर कानूनी रूप से आवासीय कॉलोनियां बसाई जा रही थी कम्पलेन के बाद बुलंदशहर खुर्जा विकास प्राधिकरण ने बुलडोज़र चलाकर गैर कानूनी निर्माण गिराया वहीं बुलन्दशहर विकास प्राधिकरण के प्रभारी सचिव संतोष कुमार ने बताया कि हम लोग लगातार कार्रवाई कर रहे हैं

उन्होंने बोला कि अब तक 10 कॉलोनियों को ध्वस्त कर दिया है जिसके भीतर 45 बीघे के आसपास की भूमि में हो रहे गैर कानूनी निर्माण को ध्वस्त किया गया है  वहीं एक बड़ा प्रश्न ये भी उठता है कि जब ये गैर कानूनी निर्माण किए जा रहे थे तो तब वो अधिकारी बोला थे जिनके ऊपर इन गैर कानूनी निर्माण को रोके जाने की जिम्मेदारी थी आखिर ऐसे अधिकारी कर्मचारियों पर गवर्नमेंट कब कार्रवाई करेगी


जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट गुरुवार को विधानसभा में योगी गवर्नमेंट 2.O ने पेश किया. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने करीब डेढ़ घंटे तक बजट भाषण पढ़ा तो इसमें से कई बड़ी घोषणाएं निकलीं. आइए आपको इस बजट का पूरा गणित बताते हैं कि गवर्नमेंट को कहां से कितनी आदमनी होगी और कहां कितना खर्च किया जाएगा. वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल 2022-23 का बजट 6,15,518.97 लाख करोड़ रुपए का है. बजट में 39 हजार 181 करोड़ 10 लाख रुपए की नयी योजनाएं शामिल हैं.

कहां से कितना पैसा मिलेगा
वित्त मंत्री ने हिसाब-किताब पेश करते हुए बोला कि कुल प्राप्तियां 5 लाख 90 हजार 951 करोड़ 71 लाख रुपये अनुमानित है. कुल प्राप्तियों में 4 लाख 99 हजार 212 करोड़ 71 लाख रुपए राजस्व से आएंगे. 91 हजार 739 करोड़ रुपये की पूंजीगत प्राप्तियां सम्मिलित हैं. राजस्व प्राप्तियों में टैक्स रेवेन्यू का अंश 03 लाख 67 हजार 153 करोड़ 76 लाख रुपये है. इसमें स्वयं का टैक्स रेवेन्यू 02 लाख 20 हजार 655 करोड़ रुपहै, जबकि केंद्रीय करों में राज्य का अंश 01 लाख 46 हजार 498 करोड़ 76 लाख रुपए होने का अनुमान है. 

कितना होगा खर्च
वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल में कुल व्यय 06 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है. कुल व्यय में  04 लाख 56  हजार 89 करोड़ 6 लाख रुपए राजस्व लेखे का व्यय है और 91 हजार 739 करोड़ रुपए पूंजी लेखे का व्यय है .

कितना घाटा 
वित्त मंत्री ने बताया कि समेकित निधि की प्राप्तियों से कुल व्यय घटाने के बाद 24 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपए का घाटा अनुमानित.

लोक लेखा
लोक लेखे से 6 हजार करोड़ रुपये (6000 करोड़ रुपये) की शुद्ध प्राप्तियां अनुमानित.

समस्त लेन-देन का शुद्ध परिणाम 
समस्त लेन-देन का शुद्ध रिज़ल्ट 18 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपये (18,567.26 करोड़ रुपये) ऋणात्मक अनुमानित. 

अन्तिम शेष
प्रारम्भिक शेष 40 हजार 550 करोड़ 03 लाख रुपए को हिसाब में लेते हुए आखिरी शेष 21 हजार 982 करोड़ 77 लाख रुपए अनुमानित.

राजस्व बचत 
राजस्व बचत 43 हजार 123 करोड़ 65 लाख रुपए अनुमानित है. 

राजकोषीय घाटा
राजकोषीय घाटा 81 हजार 177 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है जो साल के लिए अनुमानित सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 3.96 फीसदी है.