कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना 

यूपी में श्रमिकों के लिए बस पर छिड़ी सियासत के बीच कांग्रेस पार्टी महासचिव की चिट्ठी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के नाम सामने आई है। प्रियंका गांधी ने अपनी इस चिट्ठी में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर बसों को लेकर तंज कसा है,

साथ ही कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं से दोपहर 1 बजे फेसबुक लाइव के जरिये आवाज उठाने की भी अपील की है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं के नाम संदेश 

देश के पूर्व पीएम व प्रियंका गांधी के पिता स्वर्गीय राजीव गांधी की 30वीं पुण्यतिथि पर प्रियंका गांधी ने एक चिट्ठी के जरिये कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश दिया है कि गरीबों व निर्बल लोगों के लिए आवाज़ उठानी है। प्रियंका ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि राजीव जी भारत व इसके वासियों से बेइंतहा प्यार करते थे। गरीबों का दर्द उनसे देखा नहीं जाता था। हम सब उनकी सोच के वारिस हैं। हमने राजीव जी से सीखा है कमजोरों की मदद करना। हमें कोई नहीं डरा सकता।

50 हजार कार्यकर्ताओं से फेसबुक लाइव की अपील 

प्रियंका गांधी ने अपनी इस चिट्ठी के जरिये कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है। उन्होंने लिखा है कि राजीव जी की याद करते हुए आज 21 मई 2020, दोपहर 1 बजे से हमारे 50,000 हजार कार्यकर्ता फेसबुक लाइव के माध्यम से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे व प्रदेश दमन का विरोध करेंगे। ये राजीव जी को एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

पूरी कांग्रेस पार्टी पार्टी, समस्त अग्रिम संगठन, विभाग व सेल, फोरम व एक-एक कार्यकर्ता पूरी ताकत से श्रमिकों की आवाज उठाएंगे व प्रदेश दमन का प्रतिरोध करेंगे।

योगी सरकार पर साधा निशाना 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चिट्ठी के जरिये योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोरोना महामारी से लड़ने के ढंग पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं को एकजुट होने की अपील की है। प्रियंका अपनी चिट्ठी में लिखती हैं - 'साथियों, आपने देखा योगी सरकार का कोरोना महामारी से लड़ने का तरीका! कांग्रेस ने प्रवासी श्रमिकों के लिए बसों का बंदोवस्त किया तो योगी सरकार ने उप्र कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष को फर्जी मुकदमे लगाकर कारागार भेज दिया गया। कोरोना आपदा काल में पूरा देश एकजुट होकर महामारी से लड़ रहा है, मगर उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के लिए बस, ट्रेन टिकट, खाने व राशन का बंदोवस्त करने वालों को कारागार में डाल रही है। '