देश के इन राज्यों में आज से लॉकडाउन, जानिए क्या-क्या रहेगा बंद

देश के इन राज्यों में आज से लॉकडाउन, जानिए क्या-क्या रहेगा बंद
दिल्ली, हरियाणा और यूपी में रविवार को लॉकडाउन और कोविड-19 कर्फ्यू की अवधि 17 मई तक बढ़ा दी गई. वहीं, देश के बड़े हिस्से में कठोर पाबंदियां लागू हैं. तमिलनाडु, राजस्थान और पुडुचेरी में सोमवार से दो सप्ताह का लॉकडाउन प्रारम्भ होगा जबकि कर्नाटक में लॉकडाउन जैसी पाबंदी 24 मई तक कारगर रहेगी. केरल में भी शनिवार से नौ दिन के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है


पूर्वोत्तर में मिजोरम सरकार ने सोमवार से सात दिन के लिए पूर्ण लॉकडाउन लागू किया है जबकि सिक्किम में लॉकडाउन जैसी पाबंदी 16 मई तक कारगर रहेगी. उत्तराखंड सरकार ने 11 मई से 18 मई तक कड़ा कोविड कर्फ्यू लगाने का निर्णय किया है.



दिल्ली में मेट्रो सेवा बंद
लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बोला कि हालांकि पिछले कुछ दिनों में Covid-19 के मामलों और संक्रमण की दर में कमी आई है, लेकिन महामारी की मौजूदा लहर में किसी भी प्रकार की लापरवाही अब तक हासिल की गई कामयाबी को समाप्त कर देगी. इस दौरान मेट्रो ट्रेन सेवाएं निलंबित रहेंगी एवं सार्वजनिक स्थानों पर शादी कार्यक्रम ों के आयोजन पर रोक रहेगी.

यूपी में पहले सोमवार प्रातः काल सात बजे कर्फ्यू समाप्त होना था. यूपी के सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बोला कि प्रदेश में लागू कोविड-19 कर्फ्यू के सकारात्मक नतीजे आए हैं और इससे संक्रमण की कड़ी को तोड़ने में सहायता मिली है. Covid-19 के मामलों में कमी आई है. इसे देखते हुए अब 17 मई की प्रातः काल सात बजे तक कर्फ्यू बढ़ाने का निर्णय किया गया है. 

10 राज्यों में 71 प्रतिशत मामले
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की और बोला कि प्रदेश में संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए कठोर कदम उठाए जाएंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली उन 10 राज्यों में शामिल हैं जहां पर रविवार को सामने आए 4,03,738 मामलों में से 71.75 फीसदी मरीज हैं.

इन 10 राज्यों की सूची में शामिल अन्य प्रदेश केरल, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान और हरियाणा हैं. मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र में सबसे अधिक 56,578 नए मरीजों की पुष्टि हुई है जिसके बाद कर्नाटक में 47,563 और केरल में 41,971 मुद्दे मिले हैं.

हिंदुस्तान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 37,36,648 हो गई है जो कुल संक्रमितों का 16.76 फीसदी है. मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, बिहार, मध्य प्रदेश में देश के 82.94 फीसदी उपचाराधीन संक्रमित हैं.

इसके अलावा, पिछले 24 घंटे में 4,092 मौतें हुई हैं. इनमें से 74.93 फीसदी मरीजों की मौत 10 राज्यों में हुई हैं. महाराष्ट्र में सबसे अधिक 864 लोगों की जान गई है. इसके बाद कर्नाटक में 482 लोगों की मृत्यु हुई है. 

राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में लागू पाबंदियां
  • दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी में 19 अप्रैल से लॉकडाउन है और अब इसे 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. मेट्रो सेवा भी बंद रहेगी. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा.
  • उत्तर प्रदेश : कोविड-19 कर्फ्यू की अवधि 17 मई तक के लिए बढ़ाई गई है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा.
  • हरियाणा : तीन मई से लागू सात दिवसीय लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ा दिया गया है.
  • बिहार : चार मई से 15 मई तक के लिए लॉकडाउन लागू.
  • ओडिशा : पांच मई से 19 मई तक के लिए 14 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया.
  • राजस्थान : प्रदेश सरकार ने 10 से 24 मई तक लॉकडाउन लगाया. हालांकि, संक्रमण रोकने के लिए पिछले महीने से ही पाबंदियां लागू हैं. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा. किराना, दूध, सब्जी, फल और अन्य आवश्यक सामान की दुकानें कुछ समय के लिए खोलने की छूट दी गई है.
  • झारखंड : लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को 13 मई तक बढ़ाया. प्रदेश में सबसे पहले ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ के अनुसार 22 अप्रैल को पांबदियां लागू की गई थी.
  • छत्तीसगढ़ : सप्ताहांत लॉकडाउन की घोषणा की गई जबकि पहले जिलाधिकारियों को 15 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की अनुमति दी गई थी.
  • पंजाब : 15 मई तक सप्ताहांत लॉकडाउन और रात्रि कर्फ्यू के अतिरिक्त विस्तृत पांबदी लगाई गई है.
  • चंडीगढ़ : प्रशासन ने सप्ताहांत लॉकडाउन लागू किया है.
  • मध्यप्रदेश : प्रदेश में 15 मई तक ‘जनता कर्फ्यू’ लागू है, केवल आवश्यक सेवाओं को ही छूट.
  • गुजरात : रात आठ बजे से प्रातः काल आठ बजे तक कर्फ्यू लागू और 36 अन्य शहरों में 12 मई तक दिन में भी पाबंदी लागू.
  • महाराष्ट्र : पांच अप्रैल से ही लॉकडाउन जैसे पाबंदी लागू है, इसके साथ ही लोगों की आवाजाही पर पाबंदी और निषेधाज्ञा भी लागू. इन पाबंदियों को बढ़ाकर 15 मई तक किया गया. लातूर, सोलापुर जिले में लोकल लॉकडाउन लागू. अमरावती, अकोला और यवतमाल में कठोर पाबंदी.
  • कर्नाटक: मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रदेश में 14 दिन के लिए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. उन्होंने बोला कि पूरे प्रदेश में 10 मई से लेकर 24 मई तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा. इस दौरान महत्वपूर्ण सेवाओं को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं होगी.
  • पश्चिम बंगाल : पिछले सप्ताह से ही कठोर पाबंदी लागू, सभी तरह के जमावड़े पर रोक.
  • असम : रात्रि कर्फ्यू अब रात आठ बजे की बजाय शाम छह बजे से लागू, बुधवार से सार्वजनिक स्थलों पर लोगों के जाने पर रहेगी रोक. रात्रि कर्फ्यू 27 अप्रैल से सात मई तक था.
  • नगालैंड : 30 अप्रैल से 14 मई तक कठोर नियमों के साथ आंशिक लॉकडाउन.
  • मिजोरम : सरकार ने 10 मई तड़के चार बजे से 17 मई तड़के चार बजे तक पूर्ण लॉकडाउन लगाया.
  • अरुणाचल प्रदेश : शनिवार से शाम साढ़े छह बजे से प्रातः काल पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा.
  • मणिपुर : सात जिलों में आठ मई से 17 मई के बीच रात्रि कर्फ्यू.
  • सिक्किम : 16 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदी रहेगी.
  • जम्मू और कश्मीर : 10 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदी रहेगी.
  • उत्तराखंड : सरकार ने 11 मई से 18 मई तक कड़ा कोविड कर्फ्यू लगाने का निर्णय किया है.
  • हिमाचल प्रदेश : सात मई से 16 मई तक कोविड-19 कर्फ्यू लागू.
  • केरल : आठ मई से 16 मई तक लॉकडाउन लागू. राशन दुकान, सब्जी दुकान, समेत महत्वपूर्ण वस्तुओं की दुकानें शाम 7:30 बजे तक खुली रहेंगी.इसके अतिरिक्त ही प्रदेश में बैंक, बीमा कंपनियां, प्लेन, बस या ट्रेन की आवाजाही भी जारी रहेगी.
  • तमिलनाडु : 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन में रहेंगे लोग.  इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें और निजी  व सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे. इसके अतिरिक्त सरकारी शराब की दुकानें, बार, स्पा, जिम, ब्यूटी पार्लर, सैलून, सिनेमा हाल, क्लब, पार्क, बीच भी बंद रहेंगे. 
  • पुडुचेरी : 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन का फैसला. हालांकि, आवश्यक सेवाओं को नियमों और शर्तों के साथ खुले रहने की अनुमति रहेगी. सब्जी की दुकानें, भोजन, किराने का सामान, मांस, मछली, पशु के चारे वाली दुकानों को दोपहर 12 बजे तक बिना एयर कंडीशनिंग सुविधा के कार्य करने की अनुमति दी जाएगी.
  • गोवा में भी राज्यव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की गई है. हालांकि, सरकार ने इसे कर्फ्यू का नाम दिया है. आदेश के अनुसार, प्रदेश में आज यानी रविवार (9 मई) से अगले 15 दिनों तक यानी 23 मई तक कठोर कर्फ्यू लागू रहेगा. इस दौरान केवल चिकित्सा आपूर्ति सहित आवश्यक सेवाओं की अनुमति रहेगी. किराने की दुकानें प्रातः काल सात बजे से दोपहर एक बजे तक खुल सकेंगी. इसके अतिरिक्त रेस्टोरेंट के टेकअवे ऑर्डर के लिए प्रातः काल सात बजे से शाम के सात बजे तक अनुमति दी गई है.

प्रदेश में 21 जून से 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे मॉल्स और रेस्टोरेंट, नाइट ​कर्फ्यू में भी छूट

प्रदेश में 21 जून से 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे मॉल्स और रेस्टोरेंट, नाइट ​कर्फ्यू में भी छूट

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के सेकेंड स्ट्रेन का असर कम होने के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार धीरे-धीरे राहत दे रही है। प्रदेश के सभी 75 जिलों से कोरोना ​​​​​कर्फ्यू हटाने के बाद अब योगी आदित्यनाथ सरकार ने नाइट ​​​​​कर्फ्यू में भी थोड़ी राहत दी है। इसके साथ ही कुछ बंदिशों के साथ रेस्टोरेंट, पार्क तथा स्ट्रीड फूड की दुकानों को भी 21 जून से खोलने की अनुमति दी है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को समीक्षा बैठक के बाद टीम-09 के छूट देने के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड संक्रमण के दृष्टिगत दिन पर दिन बेहतर होती स्थितियों के बीच सोमवार, 21 जून से रात्रिकालीन कोरोना ​​​​​कर्फ्यू में और छूट दी जाएगी। प्रदेश सरकार का अब रात्रिकालीन कोरोना ​​​​​कर्फ्यू रात नौ बजे से अगले दिन सुबह सात बजे तक प्रभावी होगा।

इसके साथ ही सरकार ने कुछ और छूट तय कर ली है। प्रदेश के हर जिले में कोविड प्रोटोकॉल के साथ रेस्टोरेंट को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जा सकेगा। कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन के साथ रेस्टोरेंट व मॉल को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जा सकेगा। इसी तरह पार्क, स्ट्रीट फूड आदि के संचालन की अनुमति भी दी जाएगी। इसके साथ ही सभी पार्क तथा स्ट्रीट फूड आदि के संचालन की अनुमति भी दी गई है। सरकार का इसके बाद भी सख्त निर्देश है कि इन सभी स्थान पर कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य होगी। मास्क के साथ प्रवेश अनिवार्य होगा जबकि रेस्टोरेंट में आने वाले सभी लोगों का सैनिटाइजर से हाथ साफ करना भी जरूरी है।

दुकान या शोरूम में पहले की तरह मास्क और सैनेटाइजर की अनिवार्यता रहेगी। साथ ही वहां हेल्प डेस्क भी बनानी होगी। आने- जाने वालों का रजिस्ट्रर बनाना होगा। इसमें नाम, पता और बाकी डिटेल रहेगी। दुकानों के साथ सब्जी मंडियां भी रात 9 बजे तक खुल सकेंगी। पर घनी आबादी की सब्जी मंडियों को प्रशासन खुले स्थान पर खुलवाएगी।सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि नई व्यवस्था के संबंध में विस्तृत गाइडलाइंस शीघ्र ही जारी कर दी जाएं। 


CM योगी का निर्देश- कोरोना के साथ बरसात के मौसम में संचारी रोग से निपटने को तैयार रहें       प्रदेश में 21 जून से 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे मॉल्स और रेस्टोरेंट, नाइट ​कर्फ्यू में भी छूट       बहुत कुछ कह रहा अंतिम नरसंहार स्थल मियांपुर, देवमतिया और सीता से जानें क्‍यों सिहर उठती हैं महिलाएं       अमीरों का घर पक्का, गरीबों को लग रहा धक्का, यहां के पंचायतों में इंदिरा आवास का हाल-बेहाल       एक तो लॉकडाउन के कारण महीनेभर बंद रही दुकान, ऊपर से जल गया सारा सामान       कैमूर के जंगल में हो रही 'जहर की खेती'; पुलिस ने जाल बिछाया तो फंस गया 'सौदागार'       ग्रामीण भारत की गर्मियों का शब्दचित्र, प्रख्यात लोकगायिका मालिनी अवस्थी की कलम से...       कैमूर ने दिखाई समझदारी और भाग गया वायरस, ढूंढने पर भी नहीं मिला एक भी कोरोना पॉजिटिव       बिहार LJP में चिराग के फैन्‍स की कमी नहीं, पशुपति पारस पर फूट रहा गुस्‍सा       कोरोना वायरस हमारे बीच है, जल्द लगवाएं वैक्सीन : राहुल गांधी       तेज बारिश को लेकर दिल्ली समेत इन राज्यों के लिए जारी किया गया अलर्ट       कोरोना वायरस का नया वैरिएंट 'डेल्टा+' आया सामने, जानें       केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मानसून सीजन की तैयारियों को लेकर बैठक की       स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 20 राज्यों में 5,000 से कम सक्रिय मामले       भारतीय सैन्य पुलिस में खुला नेपाली महिलाओं के लिए रास्ता       वियतनाम पहुंचेेगी जापान की ओर से भेजी गई कोरोना वैक्सीन की खेप       आर्मी कैंप में आत्मघाती हमला, 15 की मौत, बढ़ सकता है मौतों का आंकड़ा       पूरी दुनिया के लिए ये है एक अच्‍छी खबर, आपको भी पढ़कर लगेगा बहुत अच्‍छा       यरुशलम में मार्च निकालेंगे यहूदी गुट, हमास ने जताई फिर से हिंसा भड़कने की आशंका       इजरायल की नई सरकार को नेतन्याहू ने बताया 'कपटी', किया वादा- जल्द करूंगा सत्ता में वापसी