रोहित जोशी पर एक स्त्री ने बलात्कार करने की कम्पलेन दर्ज

रोहित जोशी  पर एक स्त्री ने बलात्कार  करने की कम्पलेन दर्ज

राजस्थान कांग्रेस पार्टी गवर्नमेंट के मंत्री महेश जोशी (Mahesh Joshi) के पुत्र रोहित जोशी (Rohit Joshi) पर एक स्त्री ने बलात्कार (Rape) करने की कम्पलेन दर्ज कराई है लेकिन, गवर्नमेंट के ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री रमेश चंद मीणा (Ramesh Chand Meena) मंत्री के पुत्र के बचाव में उतरते हुए नजर आए मंत्री रमेश मीणा ने बोला कि पहले तो वो लोग सहमति से घूम रहे थे, बाद में उनके बीच बात बिगड़ गई सवाई माधोपुर, दिल्ली जाने कहां-कहां घूमते रहे, अचानक रेपिस्ट की बात बन गई

मंत्री रमेश चंद मीणा ने कही ये बात 
मंत्री रमेश चंद मीणा ने बोला कि, पहले तो काफी समय तक वो स्त्री रोहित जोशी के साथ कई जगहों पर घूमती रही थी मगर बाद में बात बिगड़ गई और फिर बलात्कार की बात आ गई पुलिस पूरे मुद्दे की जांच कर रही है और सच्चाई सामने आ जाएगी क्योंकि ये कोई एक दिन का मामला तो है नहीं, जैसा कि सभी ने अखबारों में पढ़ा है कि काफी समय से साथ रह रहे थे

किरोड़ी लाल मीणा पर भड़के मंत्री 
मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने किरोड़ी लाल मीणा पर आरोप लगाते हुए बोला कि किरोड़ी लाल मीणा के विरूद्ध क्राइम प्रमाणित हो चुके हैं किरोड़ी लाल मीणा कानून के लिए वांटेड क्रिमिनल हैं जब किरोड़ी लाल मीणा कानून की इतनी अच्छी बात करते हैं तो पुलिस के आगे सरेंडर क्यों नहीं कर रहे हैं वो स्वयं कानून का उल्लंघन कर रहे हैं, उनके पास न्यूसेंस करने के अतिरिक्त और काम भी क्या है

बीजेपी नेता प्रदेश में करा रहे हैं दंगा 
मेश चंद्र मीणा ने ये भी बोला कि, भाजपा नेता प्रदेश में दंगा करा रहे हैं, अफवाह फैलाने और लोगों को आपस में लड़ाने का काम कर रहे हैं प्रदेश की शांति व्यवस्था को ठप करने के पीछे भाजपा का षड्यंत्र चल रहा है भाजपा के नेताओं को प्रदेश के विकास की बात करनी चाहिए मगर ऐसा नहीं हो रहा है रमेश मीणा ने बोला भरतपुर में मिलावट का खेल चल रहा है समय-समय पर नमूने लेकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं 


जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

जानिए कितने लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किये योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट गुरुवार को विधानसभा में योगी गवर्नमेंट 2.O ने पेश किया. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने करीब डेढ़ घंटे तक बजट भाषण पढ़ा तो इसमें से कई बड़ी घोषणाएं निकलीं. आइए आपको इस बजट का पूरा गणित बताते हैं कि गवर्नमेंट को कहां से कितनी आदमनी होगी और कहां कितना खर्च किया जाएगा. वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल 2022-23 का बजट 6,15,518.97 लाख करोड़ रुपए का है. बजट में 39 हजार 181 करोड़ 10 लाख रुपए की नयी योजनाएं शामिल हैं.

कहां से कितना पैसा मिलेगा
वित्त मंत्री ने हिसाब-किताब पेश करते हुए बोला कि कुल प्राप्तियां 5 लाख 90 हजार 951 करोड़ 71 लाख रुपये अनुमानित है. कुल प्राप्तियों में 4 लाख 99 हजार 212 करोड़ 71 लाख रुपए राजस्व से आएंगे. 91 हजार 739 करोड़ रुपये की पूंजीगत प्राप्तियां सम्मिलित हैं. राजस्व प्राप्तियों में टैक्स रेवेन्यू का अंश 03 लाख 67 हजार 153 करोड़ 76 लाख रुपये है. इसमें स्वयं का टैक्स रेवेन्यू 02 लाख 20 हजार 655 करोड़ रुपहै, जबकि केंद्रीय करों में राज्य का अंश 01 लाख 46 हजार 498 करोड़ 76 लाख रुपए होने का अनुमान है. 

कितना होगा खर्च
वित्त मंत्री ने बोला कि वित्त साल में कुल व्यय 06 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है. कुल व्यय में  04 लाख 56  हजार 89 करोड़ 6 लाख रुपए राजस्व लेखे का व्यय है और 91 हजार 739 करोड़ रुपए पूंजी लेखे का व्यय है .

कितना घाटा 
वित्त मंत्री ने बताया कि समेकित निधि की प्राप्तियों से कुल व्यय घटाने के बाद 24 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपए का घाटा अनुमानित.

लोक लेखा
लोक लेखे से 6 हजार करोड़ रुपये (6000 करोड़ रुपये) की शुद्ध प्राप्तियां अनुमानित.

समस्त लेन-देन का शुद्ध परिणाम 
समस्त लेन-देन का शुद्ध रिज़ल्ट 18 हजार 567 करोड़ 26 लाख रुपये (18,567.26 करोड़ रुपये) ऋणात्मक अनुमानित. 

अन्तिम शेष
प्रारम्भिक शेष 40 हजार 550 करोड़ 03 लाख रुपए को हिसाब में लेते हुए आखिरी शेष 21 हजार 982 करोड़ 77 लाख रुपए अनुमानित.

राजस्व बचत 
राजस्व बचत 43 हजार 123 करोड़ 65 लाख रुपए अनुमानित है. 

राजकोषीय घाटा
राजकोषीय घाटा 81 हजार 177 करोड़ 97 लाख रुपए अनुमानित है जो साल के लिए अनुमानित सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 3.96 फीसदी है.