यूपी सरकार का युवाओं को बड़ा तोहफा, दिसंबर तक 1 लाख सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य

यूपी सरकार का युवाओं को बड़ा तोहफा, दिसंबर तक 1 लाख सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य

उत्तर प्रदेश में सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे युवाओं को राज्य सरकार एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कमजोर होने के साथ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में आर्थिक गतिविधियों को गति देने और मिशन रोजगार को फिर से शुरू करने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्यालय के ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल से जानकारी दी गई है। जिसमें, एक अखबार के रिपोर्ट को भी साझा किया गया है।


रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि चालू वर्ष में कम से कम 1 लाख सरकारी नौकरियां दी जाएंगी। इस प्रकार से पिछले लगभग पांच वर्षों में सरकारी भर्तियों की कुल संख्या 5 लाख तक हो जाएगी। सरकार एक लाख सरकारी पदों पर भर्ती प्रक्रिया दिसंबर, 2021 तक पूरी करने की तैयारी कर रही है। कोरोना की दूसरी लहर के थमने के साथ ही योगी सरकार ने मिशन रोजगार को गति दी है। राज्य भर में आर्थिक गतिविधियों को तेज करने के साथ ही राज्य सरकार ने सरकारी विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए कदम उठाए हैं। जिन विभागों में कोरोना के कारण भर्ती प्रक्रिया ठप पड़ी थी, वहां युद्धस्तर पर कार्य शुरू कर चयनित युवाओं को नियुक्त करने के निर्देश दिए गए हैं। आने वाले दिनों में शिक्षा, पुलिस, स्वास्थ्य, ऊर्जा और आबकारी विभागों में सबसे अधिक भर्तियां की जानी हैं। वर्ष के अंत तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में 5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने की योजना है। पिछले चार वर्षों में विभिन्न विभागों में लगभग 4 लाख सरकारी नौकरियां दी जा चुकी हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राज्य सरकार की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, राज्य में अब तक 1 लाख से अधिक महिलाओं को सरकारी नौकरी दी जा चुकी है। जबकि, 1.50 करोड़ श्रमिकों को मनरेगा के माध्यम से रोजगार से जोड़ा गया है। स्टार्टअप इकाइयों से 5 लाख से अधिक और औद्योगिक इकाइयों से 3 लाख से अधिक युवाओं को रोजगार दिया गया है। ओडीओपी के माध्यम से 25 लाख लोगों को रोजगार मिला है। यूपी में 50 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों के जरिये 1 करोड़ 80 लाख लोगों को रोजगार मिला है। राज्य सरकार की नई औद्योगिक नीति से 5 लाख से अधिक लोगों को रोजगार दिया गया है। वहीं, 40 लाख से अधिक श्रमिकों की स्किल मैपिंग के बाद उन्हें रोजगार से जोड़ा गया है।


सीएम योगी गोरखपुर पहुंचे, आरएसएस के गुरु पूजन कार्यक्रम में लेंगे ह‍िस्‍सा

सीएम योगी गोरखपुर पहुंचे, आरएसएस के गुरु पूजन कार्यक्रम में लेंगे ह‍िस्‍सा

विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार की सुबह 10:30 बजे गोरखपुर पहुंचे। सर्किट हाउस में हेलीकाप्टर से उतरने के बाद सबसे पहले वह एनेक्सी भवन गए और वहां गोरखपुर-बस्ती मंडल में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने बारी-बारी से सभी जिलों के वि‍कास कार्यों के जानकारी ली और फ‍िर उसे तेज करने के जरूरी निर्देश दिए। इसी क्रम में वह एक निजी संस्थान के व्यक्तिगत कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए महायोगी बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह पहुंचे हुए हैं। एक घंटे के इस कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री योगी गोरखनाथ मंिदर जाएंगे। शाम को उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गुरु पूजन कार्यक्रम में हि‍स्सा लेना है। गोरखपुर क्लब में एक घंटे का यह कार्यक्रम शाम छह बजे से आयोजित है। देर शाम मुख्यमंत्री के अयोध्या रवाना हो जाने की संभावना है। हालांक‍ि इसे लेकर अभी कोई आधिकारिक कार्यक्रम जारी नहीं हुआ है। यदि किसी वजह से वह शाम को रवाना नहीं हो सके तो गुरुवार की सुबह नौ बजे तक मुख्यमंत्री का गोरखपुर से प्रस्थान हो जाएगा।


वनटांगियों के बीच जाएंगे सीएम

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच अगस्त को वनटांगिया समुदाय के बीच अन्न महोत्सव मना सकते हैं। चरगांवा के वनटांगिया गांव तिनकोनिया नंबर तीन में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो लाभार्थी नरङ्क्षसह एवं दीपमाला से आनलाइन संवाद भी कर सकते हैं। इसका सीधा प्रसारण किया जाएगा। मुख्यमंत्री कुछ लाभार्थियों को स्वयं अनाज एवं झोला वितरित करेंगे। मुख्यमंत्री के आगमन और वनटांगिया गांव में होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर डीएम ने सोमवार की शाम समीक्षा बैठक भी की। हालांकि मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का प्रोटोकाल अभी जारी नहीं हुआ है।


करीब 100 साल तक जंगल में उपेक्षित जीवन जीने वाले वनग्रामों के निवासियों को समाज व विकास की मुख्यधारा में लाने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन की खबर गांव पहुंची तो वनटागियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर रविवार की शाम जिलाधिकारी भी गांव पहुंचे। यहां हेलीपैड के निर्माण और करीब 500 लोगों के बैठने की व्यवस्था का उन्होंने जायजा लिया।