यूपी: एसटीएफ ने दो करोड़ का गांजा किया बरामद

यूपी: एसटीएफ ने दो करोड़ का गांजा किया बरामद

पीडीडीयू नगर के अलीनगर थाना क्षेत्र के चकिया चौराहे से सोमवार को एसटीएफ की टीम ने एक कंटेनर से नौ कुंतल 78 किलो गांजा बरामद कर दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया।  पुलिस के अनुसार, गांजे की कीमत दो करोड़ है। इसे आंध्र प्रदेश स्थित सलूर घाटी से मथुरा ले जाया जा रहा था। तस्करों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया। 

 पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ विनोद कुमार सिंह ने बताया कि आरक्षी अभय विक्रम सिंह सूचना मिली की कंटेनर से गांजा लाया जा रहा है। इस पर एसटीएफ के निरीक्षक पुनीत परिहार के साथ निरीक्षक अरविंद सिंह, एसआई आलोक सिंह टीम बनाकर नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारियों को साथ अलीनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत चकिया चौराहे पर पहुंच गए। वहां कंटेनर आता दिखाई दिया। पुलिस ने रोककर तलाशी ली तो नौ कुंतल 78 किलो गांजा बरामद हुआ।

पुलिस ने तस्करी के आरोप में मोईन और रियाजुन निवासी मुडईमा, थाना डिढ़ौली, जनपद अमरोहा को पकड़ लिया। पूछताछ में दोनों ने बताया कि सोनू निवासी नीली खेड़ी, थाना डिढ़ौली, जनपद अमरोहा के कहने पर गांजा लेने के लिए सलूर घाटी, आंध्र प्रदेश गए थे। वहां सोनू का एक आदमी मौजूद था। वहां कंटेनर में गांजा लोड कर मथुरा के लिए चल दिए। मथुरा पहुंचने पर सप्लाई के बारे में जानकारी दी जाती। इसके लिए साठ हजार रुपये मिलते। इस मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो लखनऊ की ओर से मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।
आखिर जिले की पुलिस को क्यों नहीं लग पाती भनक

अपने नेटवर्क के जरिए जिले की पुलिस बड़े-बड़े खुलासे करती है लेकिन हैरानी की बात यह है बिहार से जिले में प्रवेश करने पर सैयदराजा, चंदौली और अलीनगर थाने की पुलिस को गांजे के इतनी बड़ी खेप की भनक तक नहीं लग पाती है। जबकि एसटीएफ की टीम बड़ी बरामदगी को लेकर अक्सर कामयाबी का डंका बजाती है। इसके पूर्व भी एसटीएफ ने अलीनगर थाना क्षेत्र से काफी मात्रा में गांजा बरामद किया था। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर इन थानों को भनक नहीं लगती है।